ताज़ा खबर
 

बच्चों की मौत पर भड़की महिला एंकर, कहा- खींच कर निकालो सबको मेज के पीछे से…

यूपी के गोरखपुर हॉस्पिटल में 60 से ज्यादा बच्चों की मौत पर अब टीवी पत्रकार अंजना ओम कश्यप ने भी अपना गुस्सा जाहिर किया है।
ट्वीट कर पत्रकार अंजना ओम कश्यप ने पूछा है कि आखिर मासूमों की हत्या का मामला किसपर दर्ज हो। (फोटो सोर्स ट्विटर)

यूपी के गोरखपुर हॉस्पिटल में 60 से ज्यादा बच्चों की मौत पर अब टीवी पत्रकार अंजना ओम कश्यप ने भी अपना गुस्सा जाहिर किया है। मामले में ट्वीट कर पत्रकार अंजना ओम कश्यप ने पूछा है कि आखिर मासूमों की हत्या का मामला किसपर दर्ज हो। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मंत्री, संत्री अधिकारी…सबको खींच कर निकालो मेज के पीछे से, पूछो कि हत्या का मामला किसपर दर्ज हो? 17 बच्चों की मां ने नाम तक नहीं रखा था।’ वहीं ट्वीट के साथ उन्होंने गोरखपुर हॉस्पिटल हादसे में मारे गए बच्चों की तस्वीरें भी शेयर की है। शेयर की गई तीनों तस्वीरों से इस त्रासदी का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है। गौरतलब है कि गोरखपुर के बीआरडी हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी 30 से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई थी। हालांकि सरकार ने हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी को सिरे से नकार दिया। वहीं आजतक की पत्रकार अंजना ओम कश्यप के ट्वीट पर कई यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रियाएं भी दी हैं।

मोहम्मद नदीम लिखते हैं, ‘कफील खान भारत के अकेले सरकारी डॉक्टर हैं जो अपना प्राइवेट क्लिनिक चलाते हैं, इस जुर्म के लिए कम से कम फांसी की सजा तो होनी चाहिए।’ विमल लिखते हैं, ‘बेवकूफ बन गए उत्तर प्रदेश वाले। अब भोगो भाजपा को।’ मोहम्मद नदीम लिखते हैं, ’25 साल से योगी सांसद हैं तब कमी नहीं आई तो अब क्या आएगी।’ आम आदमी लिखते हैं, ‘इधर- सरकार गाय, गंगा, तिरंगा में व्यस्त है। उधर- बिहार में पिता बेटी को कंधे पर बिठाकर जान से खेलकर बाढ़ का सैलाब पार करता हुआ।’ यूजर्स ने इसके साथ एक तस्वीर भी शेयर की है। छोरा गंगाकिनारे वाला लिखते हैं, ‘मंत्री की इतनी हिम्मत की पीसी में आकर बोल देता है कि अगस्त में बच्चे मरते हैं। जानती हो ये क्यों हो रहा है?? क्योंकि तुम जैसे लोग बिक गए।’ नदीम लिखते हैं, ‘इन सबका जिम्मेदार डॉक्टर कफील खान है। उसे फांसी पर लटका दो। लेकिन योगी से सवाल मत पूछना।’ बाबू लिखते हैं, ‘लगता है पैसे नहीं मिले।’ गंगा किनारे वाला लिखते हैं, ‘कितने शो किए है अबतक इस जघन्य हत्या पर?’ मिनहाज खान लिखते हैं, ‘सबसे भारी होते हैं सबसे छोटे ताबूत।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    khemchand meshram
    Aug 16, 2017 at 9:12 pm
    Vote बीजेपी,नाउ बेयर बीजेपी.
    (0)(0)
    Reply