ताज़ा खबर
 

लाइव शो में पैनलिस्ट पर भड़कीं एंकर- मुलायम सिंह या अखिलेश के सामने मार्क्स बनाना है तो कहीं और जाइए

आबिद ने आगे कहा कि आजम खान साहब ने बार-बार कहा कि रमा देवी उनकी बहन हैं। अंजना ने इसी पर फिर उन्हें दुरुस्त किया- यह जो भाई-बहन बनाने की जो प्रथा है न, उसे अपनी जेब में रखिए। अपने घर में रखें।

Author नई दिल्ली | July 25, 2019 8:54 PM
अरशद आबिद डिबेट के दौरान मुलायम और अखिलेश की तारीफ कर रहे थे, जिस पर अंजना ने उन्हें झाड़ा।

सपा सांसद आजम खान की बीजेपी सांसद रमा देवी पर विवादित टिप्पणी के मुद्दे पर एक लाइव डिबेट शो में एंकर बुरी तरह पैनलिस्ट पर भड़क उठीं। राजनीतिक विश्लेषक अरशद आबिद उस दौरान आजम के बचाव के साथ सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव और पार्टी चीफ अखिलेश यादव की बड़ाई कर रहे थे। इसी पर एंकर अंजना ओम कश्यप ने उन्हें टोका और कहा कि आपको मुलायम या अखिलेश के सामने मार्क्स बनाने हैं, तो कहीं और जाकर उनकी प्रशंसा कीजिए। यह मंच इस चीज के लिए नहीं है।

दरअसल, संसद के निचले सदन में गुरुवार (25 जुलाई, 2019) को चर्चा के दौरान आजम ने अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठीं बीजेपी सांसद रमा देवी से कहा था कि वह उन्हें इतनी अच्छी लगती हैं कि वह उनकी आंखों में आंखें डालकर देखते रह जाएं। आजम के इसी बयान पर शाम को ‘आज तक’ पर डिबेट हो रही थी।

शो में अंजना के साथ आबिद समेत कई और मेहमान थे। उन्होंने आबिद से इस मसले पर अपनी राय देने के लिए कहा, तो वह बोले “सपा, बसपा, कांग्रेस (राष्ट्रीय), एनसीपी, आरजेडी और टीएमसी…जो क्षेत्रीय पार्टियां हैं, इन्होंने महिलाओं को सम्मान देने का काम किया है। खासकर सपा के मुलायम और अखिलेश यादव ने अपने मंत्रिमंडल में काफी महिलाओं को जगह दी। आपको याद होगा कि जब पार्टी के 16 विधायक होते थे, उनमें छह महिला सांसद थीं। पिछली बार सपा की सरकार थी, उसमें 30-35 विधायक महिला थीं।”

अंजना ने इसी पर आबिद को टोका और कहा- प्लीज, अगर आपको मुलायम और अखिलेश के सामने मार्क्स बनाने हैं तो आप कहीं और जाकर उनकी प्रशंसा कीजिए। यह मंच उसके लिए नहीं है। मैंने आपको इसलिए बुलाया है कि आप मुझे यह दलील दीजिए और समझाइए कि आखिर एक व्यक्ति (आजम) कैसे यह बात कह सकता है। फौरन अखिलेश को उनके बयान की निंदा करनी चाहिए थी और माफी मांगने के लिए कहना था।

आबिद ने आगे कहा कि आजम खान साहब ने बार-बार कहा कि रमा देवी उनकी बहन हैं। अंजना ने इसी पर फिर उन्हें दुरुस्त किया- यह जो भाई-बहन बनाने की जो प्रथा है न, उसे अपनी जेब में रखिए। अपने घर में रखें। राखी बंधवाने की बात अलग है। सम्मान देना होगा और ऐसे बेहूदे मजाकों से बचना होगा। आपको इस बात की गंभीरता समझ में आ रही है? जया प्रदा के लिए क्या बोला (आजम ने) था? तब भी अखिलेश कुछ न बोले थे और आज वह उनके बचाव में उतरे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 शाहरुख खान की एक्ट्रेस को फेसबुक पर भेजा गंदा मैसेज, हरकत में आई मुंबई पुलिस
2 टीवी डिबेट में फिल्मकार ने कहा, ‘अरे चुप कर’ तो दलित MLA ने हड़काया- अक्ल घास चरने गई है क्या?
3 Video: ‘जो ना बोले जय श्री राम, भेज दो उसको कब्रिस्तान’, इस नए गाने पर बढ़ा विवाद