scorecardresearch

एंकर सुशांत सिन्हा ने लिखा- नीतीश कुमार वो बुजुर्ग, जिन्होंने रिटायरमेंट से पहले सारा पैसा सट्टे में लगा दिया, मिले ऐसे रिएक्शन

एंकर के ट्वीट पर आम आदमी पार्टी के नेता ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

एंकर सुशांत सिन्हा ने लिखा- नीतीश कुमार वो बुजुर्ग, जिन्होंने रिटायरमेंट से पहले सारा पैसा सट्टे में लगा दिया, मिले ऐसे रिएक्शन
नीतीश कुमार (File Photo – PTI)

बिहार में नीतीश कुमार ने बीजेपी से अपनी राहें जुदा कर ली हैं। इस्तीफे के बाद नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव के साथ मीडिया से बातचीत भी की। नीतीश कुमार को लेकर सोशल मीडिया पर लोग तरह तरह के कमेंट कर रहे हैं। कुछ उनके काम को सही बता रहे हैं तो वहीं कुछ लोग उन्हें ट्रोल करने में लगे हुए हैं। इसी बीच एंकर सुशांत सिन्हा ने एक ट्वीट किया, जिस पर लोग रिएक्शन देने लगे।

सुशांत सिन्हा का ट्वीट

एंकर सुशांत सिन्हा ने कमेंट किया कि, ‘नीतीश कुमार वो बुजुर्ग हैं, जिसने रिटायरमेंट के ठीक पहले सेविंग का सारा पैसा सट्टे में लगा दिया है और दांव भी ऐसा लगाया है। जिसमें पैसा डूब जाने की प्रबल संभावना है। ना नाम बचे, न पैसा… ये सियासी खेल कैसा?’ एंकर द्वारा किए गए ट्वीट पर कुछ लोग उनका समर्थन कर रहे हैं तो कुछ लोगों ने उनकी इस बात से असहमति जताते हुए तंज कसा है।

कांग्रेस नेताओं ने कसा तंज

कांग्रेस नेता नितिन अग्रवाल कमेंट करते हैं कि तुम्हें क्यों मिर्ची लग रही है? कांग्रेस नेता संदीप सिंह ने लिखा – बड़ी दिक्कत हो रही है, समझ सकता हूं। आम आदमी पार्टी के विधायक नरेश बालियान ने एंकर पर तंज कसते हुए लिखा, ‘ व्हाट्सएप पर तो कुछ भेजा था, आपको ट्वीट करने के लिए बीजेपी हेड क्वार्टर ने कुछ और भेजा था, आपने कुछ और डिलीट क्यों कर दिया? ये वाला ट्वीट चिप वाले को करना था।’

लोगों के रिएक्शन

विजय नारायण नाम के ट्विटर यूजर कमेंट करते हैं कि बिल्कुल सही कहा आपने, नीतीश कुमार एकदम पलटू राम हैं। शाहिद नाम के यूजर लिखते हैं – साहब कभी भी नीतीश कुमार को दिल से माफ नहीं कर पाएंगे। अमन कुमार नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘यही काम नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा किया जाता है तो मास्टर स्ट्रोक बन जाता है लेकिन कोई और करता है तो उसे पलटी मार बताया जाने लगता है।’

बीजेपी से अलग होने पर नीतीश कुमार ने कही यह बात

बीजेपी से अलग होने के बाद नीतीश कुमार ने सरकार बनाने का दावा पेश किया। उन्होंने कहा कि हमारे पास 7 पार्टियों का समर्थन है, इसमें 164 विधायक शामिल हैं। हम लोग मिलकर काम करेंगे और बिहार को आगे बढ़ाने का काम करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि समाज में विवाद तब पैदा करने की कोशिश की गई थी, हमें वह पसंद नहीं आई। कई तरह की बातें की जा रही थी, वो हमें अच्छी नहीं लग रही थी।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट