scorecardresearch

औरंगजेब एक वैज्ञानिक भी था जिसने बिजली से चलने वाला फव्वारा बनवाया था- लेखिका ने कसा तंज, मिले ऐसे जवाब

अनामिका अंबर ने ट्विटर पर लिखा कि ‘औरंगजेब न केवल एक अच्छा वास्तुशिल्पी था  अपितु एक श्रेष्ठ वैज्ञानिक भी था, जिसने अपने काल में बिना बिजली का फव्वारा बनाया था।’

Gyanwapi| Gyanwapi Photo| Gyanwapi News| Gyanwapi trending|
ज्ञानवापी मस्जिद (फोटो सोर्स: ANI)

ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर मचे बवाल पर हर कोई अपनी राय दे रहा है। मस्जिद से शिवलिंग मिलने के दावे पर एक पक्ष तंज कस रहा है तो वहीं दूसरा पक्ष सरकार पर सवाल उठा रहा है। दावा किया जा रहा है कि मस्जिद के वजू वाले स्थान पर शिवलिंग मिला है, जिसे मस्जिद के पदाधिकारी एक फव्वारा बता रहे हैं। इस पर चर्चित कवियत्री अनामिका जैन अंबर ने तंज कसा है।

अनामिका अंबर ने ट्विटर पर लिखा कि ‘औरंगजेब न केवल एक अच्छा वास्तुशिल्पी था  अपितु एक श्रेष्ठ वैज्ञानिक भी था, जिसने अपने काल में बिना बिजली का फव्वारा बनाया था।’ एक अन्य ट्वीट में अनामिका ने लिखा कि ‘काशी-ज्ञानवापी मंदिर, मथुरा-कृष्णजन्म भूमि, आगरा- तेजोमहालय, दिल्ली- क़ुतुब जैनमंदिर। तुम्हारा छेड़ेंगे नहीं, हमारा छोड़ेंगे नहीं।’

लोगों की प्रतिक्रियाएं : पत्रकार अनुराग मुस्कान नाम के यूजर ने लिखा कि ‘यही नहीं, वो स्कंद पुराण का भी बहुत बड़ा ज्ञाता था और संस्कृत का तो वो दीवाना था इसीलिए उसने स्कंद पुराण से संस्कृत का नाम ज्ञानवापी लेकर मस्जिद का नामकरण किया।’ एक अन्य यूजर ने लिखा कि ‘अकबर ,बाबर ,औरंगजेब केवल भारत में ही महान हैं, 56 इस्लामिक देशों में इनके नाम पर कुछ भी नहीं है।’

स्फूर्ति नाम की यूजर ने लिखा कि ‘मुझे तो लगता है वो शिव भक्त भी था। उसने सबसे पहले शिवलिंग बनवाया फिर मस्जिद के बारे में सोचा।’ मनीष महेश्वरी नाम के यूजर ने लिखा कि ‘जिन्हें 1400 साल से दुनिया चपटी दिख रही है, उन्हें शिवलिंग फव्वारा ही लगेगा।’ रवि पटेल नाम के यूजर ने लिखा कि ‘औरंगजेब को हिन्दू धर्म भी बहुत प्रिय होगा, इसीलिए उसने मस्जिद के नीचे मन्दिर भी बनवाया था।’

बता दें कि दावा किया जा रहा है कि वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद के भीतर शिवलिंग मिला है। कोर्ट ने उस स्थल को सील करने का आदेश दिया है जहां से शिवलिंग मिलने का दावा किया है। इस पर मस्जिद के पदाधिकारी ने कहा है कि मस्जिद में शिवलिंग नहीं है बल्कि जिसे शिवलिंग कहा जा रहा है, वो फव्वारा है।’

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X