ताज़ा खबर
 

साइकिल आप चला रहे हैं या बुआ जी? अखिलेश बोले- इलेक्ट्रानिक है पैडल मारने की जरूरत नहीं

मायावती जी के साथ कैसे ट्यूनिंग बनेगी के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा 40 से ज्यादा दल को साथ लेकर चल सकती है, तो क्या हम दो-तीन एक साथ नहीं हो सकते?

सपा नेता अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से जब मायावती के साथ गठबंधन को लेकर पूछा गया कि साइकिल आप चला रह हैं या बुआ जी? इसके जवाब में उन्होंने कहा, “यह इलेक्ट्रॉनिक साइकिल है। इसमें पैडल मारने की जरूरत नहीं है।” आज तक चैनल के एक कार्यक्रम में एंकर ने सवाल किया, “मुझे यह बताईए कि जब आप मायावती जी से मिलते हैं तो मीटिंग में क्या होता है?” इस पर अखिलेश यादव कहते हैं, “मीटिंग में वही होता है जो आप अपने किसी अपने के साथ मिलते होंगे। मैं ये क्यों बता दूं कि मीटिंग में हम क्या फैसला लेंगे?”

मायावती जी के साथ कैसे ट्यूनिंग बनेगी के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा, “भाजपा 40 से ज्यादा दल को साथ लेकर चल सकती है, तो क्या हम दो-तीन एक साथ नहीं हो सकते? आप देखिए कश्मीर में क्या दुश्मनी थी दोनों दलों में, तीन साल सरकार चली। हमारे गठब्ंधन के बारे में भूल जाइए। इस गठबंधन से घबराइए मत। मैं देख रहा हूं, यूपी में जब से गठबंधन हुआ है, तो सब बुआ जी को याद करते हैं। हमें याद कर रहे हैं, साइकिल याद आ रही है। देश के लिए अच्छा होगा।”

एंकर ने पूछा, “आप साइकिल चल रहे हैं या बुआ जी? आगे कौन बैठा है, पीछे कौन बैठा है?” इस सवाल पर अखिलेश यादव कहते हैं, “ये बात भी भूल जाइए। अब इलेक्ट्रॉनिक साइकिल का जमाना है। पैडल मारने की जरूरत ही नहीं है।” ई-साइकिल पर राहुल गांधी और कांग्रेस कहां बैठे हैं, के जवाब में अखिलेश कहते हैं, “कोई इश्यू नहीं है। और भी आ सकते हैं। आजकर फैमली साइकिल आती है। इसमें बहुत सारे लोग बैठकर पैडल चल सकते हैं। जमाने के साथ चलिए। न्यूयॉर्क के मैनहटन में चौराहे पर जो साइकिल चलती है, उसमें सारे लोग बैठ जाते हैं और सब पैडल मारते हैं। एक तरफ जहां जानी होती है, वहीं साइकिल जाती है। मैं आपको यकीन दिला रहा हूं। देश को नया प्रधानमंत्री चाहिए। भाजपा ने जनता को निराश किया है। जनता को धोखा दिया है। भ्रष्टाचार और नोटबंदी के नाम पर जनता को गुमराह किया गया है। अब तो कम से कम पढ़े लिखे लोग जागरुक हो गए हैं कि इन्होंने धोखा दिया है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App