ताज़ा खबर
 

वारिस पठान ने बीजेपी नेता को धमकाया- ‘साइलेंट हो जा, वरना देश वायलेंट हो जाएगा….’

विधायक वारिस पठान ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने पर भाजपा नेताओं पर खूब निशाना साधा। उन्होंने गोडसे को देशभक्त कहने पर भोपाल से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की भी खूब आलोचना की।

AIMIM विधायक वारिस पठान। (Source: Express Photo by Ganesh Shirsekar)

एक अंग्रेजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के विधायक वारिस पठान ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने पर भाजपा नेताओं पर खूब निशाना साधा। उन्होंने गोडसे को देशभक्त कहने पर भोपाल से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की भी खूब आलोचना की। दरअसल रिपब्लिक टीवी चैनल के एंकर अर्नब गोस्वामी ने साध्वी प्रज्ञा पर गोडसे को बयान को लेकर डिबेट कार्यक्रम रखा था। इसमें MIM नेता ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा ने जो बयान दिया है उसके लिए वो पूरे देश की जनता से माफी मांगे। उन्होंने कहा, ‘साध्वी प्रज्ञा सबसे पहले देश और जनता के सामने माफी मांगे। जिस तरह बेबुनियाद बयान साध्वी प्रज्ञा ने दिए हैं उसके लिए वो माफी मांगे।’ उन्होंने भाजपा पर भी निशाना साधते हुए कहा कि अगर उनमें थोड़ी शर्म बाकी है तो इस बयान के बाद पार्टी प्रज्ञा ठाकुर की जमानत याचिका खारिज करे। ठाकुर को सलाखों के पीछे डालना चाहिए। पठान के इस बयान पर भाजपा प्रवक्ता दीपक विजयवर्गीय ने सफाई देने की कोशिश की तो उन्होंने चिल्लाते हुए कहा, ‘साइलेंट हो जा, वरना देश वायलेंट हो जाएगा।’

औवेसी के विधायक ने बहस के दौरान कहा, ‘प्रज्ञा ठाकुर को सलाखों के पीछे डालिए। वरना वह इस तरह के बेतुके बयान देती रहेंगी। भारत को नुकसान पहुंचाती रहेंगी। हेमंत करकरे पर साध्वी के बयान के बाद भाजपा को शर्म आनी चाहिए कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को पार्टी ने टिकट दिया।’ इस पर नाराजगी जताते हुए भाजपा प्रवक्ता दीपक विजयवर्गीय ने कहा, ‘वारिस पठान को गरिमापूर्ण भाषा का प्रयोग करना चाहिए। पहले वो खुद अपनी भाषा पर नियंत्रण करना सीखें उसके बाद दूसरे पर टिप्पणी करें।’ इसके जवाब में वारिस पठान ने कहा, ‘वो भाजपा नेता से सीखना नहीं चाहते कि कैसे बोलना है। ये बेशर्म लोग हैं।’ इसके जवाब में भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि उनसे बात करने के लिए MIM नेता में संस्कार होना जरुरी है। किसी भी सभ्य समाज में बात करने के लिए संस्कार होना जरुरी है। जब वह दूसरे की भाषा पर ऐतराज जता रहे हैं तो उन्हें अपनी भाषा पर भी नियंत्रण रखना चाहिए। वारिस पठान ने कहा, ‘आप संस्कार शुरू करो। मुझे संस्कार मत सिखाओ। अपना मत रखो। मुझे आपसे संस्कार नहीं सीखना है। पहले साध्वी को संस्कार सिखाओ उसके बाद मुझे सिखाओ।’

कार्यक्रम के 13वे मिनट पर एंकर अर्नब गोस्वामी से भाजपा प्रवक्ता से प्रज्ञा ठाकुर को टिकट देने पर सवाल पूछा तो उन्होंने साध्वी का निजी बयान बताकर बचने की कोशिश की। इस दौरान वारिस पठान बीच में बोल पड़े। उन्होंने साध्वी द्वारा बाबरी ध्वंस, हेमंत करकरे और गोडसे पर दिए बयान पर भाजपा प्रवक्ता विजयवर्गीय को आड़े हाथों ले लिया। दोनों पक्षों के बीच खूब गर्मागर्म बहस हुई तो गुस्साते हुए वारिस पठान ने कहा, ‘साइलेंट हो जा, वरना देश वायलेंट हो जाएगा… कंट्रोल नहीं होगा।’ हालांकि उनके बयान के बाद पैनल में मौजूद सभी खुद को मुस्कुराने से नहीं रोक पाए। खुद वारिस पठान भी अपने इस बयान पर हंसने लगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App