ताज़ा खबर
 

ताज महल विवादः डिबेट में सोम को देख ओवैसी बोले- इनके संग बैठूंगा नहीं, जवाब मिला- आप इतने बड़े नहीं कि यह तय करें

सोमवार शाम सीएनएन न्यूज 18 पर ताज महल विवाद पर एक कार्यक्रम हो रहा था। सोम और औवैसी के अलावा इसमें एंकर भूपेंद्र चौबे भी मौजूद थे।

टीवी डिबेट शो में अपने बयान पर भाजपा विधायक संगीत सोम ने सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि उनका बयान गलत तरीके से लिया गया है।

ताज महल विवाद पर उत्तर प्रदेश के सरधना से भाजपा विधायक संगीत सोम की सफाई आई है। एक टीवी शो में उन्होंने कहा है कि उनका बयान गलत तरीके से लिया गया है। हमें इतिहास में पीछे जाना चाहिए। ताज को बनाने में जिन मजदूरों ने अत्याचार सहा उस पर भी बात करनी चाहिए। वहीं, एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी इसमें उन पर बिगड़ते हुए बोले कि इस तरह की बयानबाजी करना भाजपा-संघ की रणनीति रही है। ओवैसी यह तक बोल गए कि वह दोबारा इस तरह के शख्स (संगीत सोम) के साथ डिबेट में बैठेंगे भी नहीं।

सोमवार शाम सीएनएन न्यूज 18 पर ताज महल विवाद पर एक कार्यक्रम हो रहा था। सोम और औवैसी के अलावा इसमें एंकर भूपेंद्र चौबे भी मौजूद थे। शुरुआत में भाजपा विधायक बताते हैं कि आप इतिहास में पीछे जाएं, पन्ने पलटें। मैं बाबर, औरंगजेब और शाहजहां पर बोला हूं। ताज को बनाने वालों के आंसूं इसमें हैं। जिन मजदूरों ने अत्याचार सहा है, उस पर भी तो चर्चा होनी चाहिए।

ओवैसी ने कहा कि दुनिया के सातवें अजूबे को कलंक बताना, जो उन्हें गद्दारों की याद दिलाता है। आपने लाल किले के बारे में पूछा है, जो कि गद्दारों ने बनाया था। वहीं, हैदराबाद हाउस में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ 25 लाख का सूट पहनकर चाय पी थी। तो यह भाजपा और संघ परिवार की विचारधारा है। जब इस प्रकार से उनके नेता बात करते हैं, तो हमें आपको अजीब लगता है, लेकिन यही उनकी विचारधारा है। मुझे यकीन है कि तालिबान और अफगानिस्तान भाजपा की इस भाषा से खुश होंगे। मसला यह है कि भाजपा असल मुद्दों पर बात नहीं कर रही।

ओवैसी यही नहीं रुके। वह आगे कहते हैं कि मैं इस तरह के शख्स के साथ नहीं बैठूंगा और न ही इनके साथ डिबेट करूंगा। तभी एंकर स्थिति को संभालते हुए कहते हैं कि यह तो आपके बड़प्पन की बात है। उधर, सोम कहते हैं कि यह इतने बड़े देश के आदमी नहीं है कि डिबेट में तय करें कौन बैठेगा और कौन नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App