ताज़ा खबर
 

वकील ने शब्‍बीर शाह से कहा- भारत माता की जय बोलो, जज बोले- ये टीवी स्‍टूडियो नहीं है

'भारत माता की जय' के सवाल पर कई बुद्धिजीवियों ने प्रवर्तन निदेशालय पर निशाना साधा है।

जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल होने और कथित तौर पर आतंकियों को आर्थिक मदद पहुंचाने के आरोप में आज (3 अगस्त, 2017) अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को दिल्ली की एक अदालत में पेश किया गया है। (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल होने और कथित तौर पर आतंकियों को आर्थिक मदद पहुंचाने के आरोप में आज (3 अगस्त, 2017) अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को दिल्ली की एक अदालत में पेश किया गया। इस दौरान कोर्ट में पक्ष-विपक्ष की जिरह के बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के वकील ने शब्बीर शाह से पूछा, ‘क्या आप भारत माता की जय बोल सकते हैं?’ तब कोर्ट ने ईडी के वकील का विरोध करते हुए कहा कि अदालत को कार्यवाही को टीवी चैनल की बहस ना बनाया जाए। गौरतलब है कि ‘भारत माता की जय’ के सवाल पर कई बुद्धिजीवियों ने प्रवर्तन निदेशालय पर निशाना साधा है। इसपर डीएनए के एक्सक्लूसिव एडिटर मनीष छिब्बर ने भी ईडी के वकील पर निशाना साधा है। छिब्बर ने ट्वीट कर लिखा, ‘दिलचस्प है…ईडी के वकील ने हुर्रियत लीडर शब्बीर शाह से कोर्ट रूम में कहा कि वो भारत माता की जय बोलें। छिब्बर के ट्वीट पर यूजर्स ने भी अपनी प्रतिक्रियाएं भी दी हैं। जीएसटी अनुराग लिखते हैं, ‘अगर वो भारत माता की जय बोल देते तो क्या भाजपा उन्हें किसी पद के लिए नामांकित करती।’ गुरप्रीत लिखते हैं, ‘उभरते भारत की सबसे बड़ी परेशानी राष्ट्रवाद है।तुलसीदास ने सालों पहले ये बात कही थी।’

गौरतलब है कि गुरुवार को कोर्ट रूम में शब्बीर शाह ने जिरह के बीच कहा कि उन्हें बदले की भावना से फंसाया जा रहा है। दूसरी तरफ कोर्ट में ईडी के वकील ने शाह पर आरोप लगाया कि उनके जैसे लोग देश को बर्बाद कर रहे हैं। और देश के युवाओं को भड़काने का काम कर रहे हैं। वहीं शाह ने कोर्ट में दाखिल की गई अपनी याचिका में आरोप लगाया कि उनके साथ अमानवीय व्यवहार किया गया। ईडी ने जान से मारने की धमकी देती है। वो मुझसे जबरन सफेद कागज पर साइन करवाना चाहते हैं।  जानकारी के लिए बता दें कि ईडी ने शब्बीर शाह को 25 जुलाई (2017) को गिरफ्तार किया था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App