ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा तो एक्‍ट्रेस बोली- अब तो एक्‍स से पीछा छुड़ाओ, जिंदगी में आगे बढ़ो

प्रधानमंत्री ने कहा था, ''देश को स्‍वतंत्रता के बाद अटकाने, भटकाने और लटकाने की कार्य-संस्‍कृति मिलेगी, ये तो बाबा साहेब ने कभी नहीं सोचा था। उन्‍होंने कभी नहीं सोचा था कि आने वाली सरकारों में परियोजनाएं तीस-तीस, चालीस-चालीस साल तक पूरी नहीं होंगी।''

दिल्‍ली में अंबेडकर मेमोरियल का उद्घाटन करते मेट्रो से जाते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (Photo: PTI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (13 अप्रैल) को दिल्‍ली में आंबेडकर राष्ट्रीय स्मारक का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्‍होंने मेट्रो की येलो लाइन से लोक कल्याण मार्ग स्टेशन से विधानसभा स्टेशन तक शाम 5.41 बजे से 6.01 बजे तक यात्रा की। इस मौके पर अपने भाषण में मोदी ने कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधा, जिसका वीडियो देखकर एक्‍ट्रेस श्रुति सेठ भड़क गईं।

पीएम ने अपने भाषण में कहा, ”स्‍वतंत्रता के बाद से इतनी सरकारें आईं, इतना वक्‍त गुजर गया लेकिन जो कार्य बहुत पहले हो जाना चाहिए था, वो काम दशकों बाद आज हो रहा है। मैं आपको इस तरह के प्रोजेक्‍ट्स गिनाने ले जाऊं तो शायद कई दिन बीत जाएंगे। देश को स्‍वतंत्रता के बाद अटकाने, भटकाने और लटकाने की कार्य-संस्‍कृति मिलेगी, ये तो बाबा साहेब ने कभी नहीं सोचा था। उन्‍होंने कभी नहीं सोचा था कि आने वाली सरकारों में परियोजनाएं तीस-तीस, चालीस-चालीस साल तक पूरी नहीं होंगी। योजनाओं का इस तरह अधूरा रहना देश के प्रति एक बहुत बड़ा अपराध है।”

पीएम मोदी के इस भाषण वाले वीडियो पर श्रुति ने लिखा, ”आपको अब अपनी एक्‍स से उबरना होगा। वे आगे बढ़ चुके हैं। अब आपको भी अपनी जिदंगी में आगे बढ़ना चाहिए।” श्रुति के इस ट्वीट पर भूषण ने उन्‍हें जवाब दिया, ”आप भी अब एक्‍स बॉलीवुड हो चुकी हैं। मोदी के खिलाफ घटिया वार आपको बॉलीवुड में वापसी करने में मदद नहीं करेंगे।” इस पर एक्‍ट्रेस ने सिर्फ ‘ओके’ लिखकर जवाब दिया।

एक अन्‍य यूजर ने श्रुति के ट्वीट पर केंद्र सरकार को संबोधित करते हुए लिखा, ”लटकाना – ये काम आपको करना चाहिए, बलात्कारियो को फ़ांसी पे लटकाकर। भटकाना – ये काम आपकी तरफ से North Korean channels कर रहे है। अटकाना – इसमे आपकी पार्टी के विधायकों को महारथ हासिल है।”

मोदी ने 21 मार्च, 2016 को 26 अलीपुर रोड पर स्मारक की आधारशिला रखी थी। अलीपुर रोड पर देश के पहले कानून मंत्री बी.आर.आंबेडकर का आवास था। उनका निधन इसी घर में छह दिसंबर, 1956 को हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App