ताज़ा खबर
 

मल्लिका शेरावत ने टि्वटर पर मांगी सुषमा स्वराज से मदद

मल्लिका ने बड़ी उम्मीदों के साथ एक ट्वीट किया, "मैडम सुषमा स्वराज डच गैर सरकारी संस्थान फ्री ए गर्ल के को फाउंडर को भारत का वीजा नहीं दिया जा रहा है, उनका वीजा आवेदन रई बार रद्द कर दिया गया है, यह एनजीओ मानव तस्करी के खिलाफ शानदार काम कर रहा है कृपया मदद करें।"
मल्लिका शेरावत इस वक्त बाल वेश्यावृति के खिलाफ जागरुकता अभियान में लगीं हैं और इस सिलसिले में उन्होंने विदेश मंत्री एक मदद मांगी है।

बॉलीवुड की अभिनेत्री मल्लिका शेरावत ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद मांगी है। मल्लिका शेरावत अभी एक गैर सरकारी संगठन फ्री-ए-गर्ल इंडिया के लिए काम कर रही हैं। यह संस्था मानव व्यापार बच्चों के यौन शोषण के खिलाफ भारत में काम करती है। मल्लिका ने इस संस्था के लिए सुषमा स्वराज से मदद मांगी है। मल्लिका ने इस एनजीओ के को फाउंडर एवलीन होल्स्कन के लिए भारत के वीजा की मांग की है। मल्लिका के मुताबिक इनका वीजा आवेदन कई बार खारिज किया जा चुका है। सोमवार को मल्लिका ने बड़ी उम्मीदों के साथ एक ट्वीट किया, “मैडम सुषमा स्वराज डच गैर सरकारी संस्थान फ्री ए गर्ल के को फाउंडर को भारत का वीजा नहीं दिया जा रहा है, उनका वीजा आवेदन रई बार रद्द कर दिया गया है, यह एनजीओ मानव तस्करी के खिलाफ शानदार काम कर रहा है कृपया मदद करें।”

बता दें कि फ्री ए गर्ल एनजीओ बाल यौन शोषण के खिलाफ जागरुकता अभियान चला रहा है। यह संस्था बाल वेश्यावृति से जुड़े कानून में भी सख्ती की मांग कर रहा है, ताकि बाल यौन शोषण के आरोपी कानून के शिकंजे से तुरंत छुटकर बाहर ना आ पाएं। इसके लिए यह संस्था दुनिया भर में स्थानीय स्तर पर अभियान चला रही है। मल्लिका इस संस्था द्वारा चलाये जा रहे स्कूल फॉर जस्टिस कार्यक्रम की ब्रांड अंबेसडर है। इस कार्यक्रम के तहत वेश्यालयों से मुक्त कराई गईं लड़कियों को शिक्षा, ट्रेनिंग और सपोर्ट मुहैया कराती है। मल्लिका ने कहा है कि वह इस मुद्दे के साथ दिल से जुड़ीं हैं और चाहती हैं कि विदेश मंत्री इस काम में मदद करें। मल्लिका शेरावत को अपने ट्वीट पर सुषमा स्वराज से जवाब का इंतजार है।

बता दें कि फ्रांस के पेरिस में रह रहीं मल्लिका शेरावत हाल ही तब चर्चा में आईं थी जब मकान का किराया ना चुकाने की हालत में उन्हें मकान मालिक से कमरा खाली करने का नोटिस दे दिया था। हालांकि मल्लिका ने इन खबरों को खारिज किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.