ताज़ा खबर
 

क्या संघी सावरकर की फोटो संसद से हटाएंगे, ट्विटर पर ये सवाल पूछ ट्रोल हुए आशुतोष

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में लगी पाकिस्तान के कायदे आजम मो. अली जिन्ना की तस्वीर पर बवाल मचा है। इस मसले पर मची बहस के बीच आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने एक ट्वीट किया तो ट्रोलर्स के निशाने पर आ गए।

Author नई दिल्ली | May 6, 2018 13:16 pm
आप नेता आशुतोष (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में लगी पाकिस्तान के कायदे आजम मो. अली जिन्ना की तस्वीर पर बवाल मचा है। अलीगढ़ के बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने विश्वविद्यालय के कुलपति को पत्र लिखकर तस्वीर हटाने की मांग की थी, जिसका छात्रसंघ पदाधिकारियों ने विरोध शुरू कर दिया। जिसके बाद मामला राष्ट्रीय सुर्खियों में आ गया। इस मसले पर मची बहस के बीच आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने एक ट्वीट किया तो ट्रोलर्स के निशाने पर आ गए।

उन्होंने लिखा-जिन्ना की फ़ोटो तो हटनी चाहिये पर क्या संघी सावरकर की फ़ोटो संसद से हटायेंगे जिन्होंने अंग्रेज़ों से माफी माँगी, और ताउम्र अंग्रेज़ सरकार की मदद का वादा किया ? उनके इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स ट्रोल करने लगे।लोगों ने उन्हें अरविंद केजरीवाल के माफीनामे की भी याद दिलाते हुए कहा कि क्या उनकी भी तस्वीर अपने दफ्तरों से हटाएंगे। किसी ने उन्हें इतिहास की जानकारी दोबारा लेने की नसीहत दी।

रोहित मिश्रा ने लिखा-हां तभी अंग्रेजों ने सावरकर को काला पानी और नेहरू तथा गांधी को पंचसितारा सुविधाएं दी थीं।राजीव शुक्ला ने लिखा-ये मानसिक दिवालियापन की पराकाष्ठा है। जिन्ना जैसे जेहादी की तुलना देशभक्त सावरकर से करना हमारे देश का अपमान है।

आप नेता आशुतोष के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स की प्रतिक्रियाएं

जितेंद्र देव शर्मा ने लिखा-सावरकर ने कब भारत विभाजन की मांग की थी?ओम चौधरी ने लिखा-सावरकर और जिन्ना को एक ही चश्मे से देखते हो। सठिया गए हो लगता है।

आप नेता आशुतोष के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स की प्रतिक्रियाएं

अभिषेक शर्मा ने लिखा-कोई प्रमाण है इस बात का अगर तुम जैसे लोग होते उस समय तो जरूर अंग्रेजों की दलाली करते। जैसे आज कांग्रेस की करते हो।आलोक देश पांडेय ने लिखा-लगता है आपको सही इतिहास ही नहीं मालुम।

आप नेता आशुतोष के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स की प्रतिक्रियाएं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App