ताज़ा खबर
 

आप के आशुतोष ने पूछा- किस चक्की का आटा खाते हैं त्रिपुरा के सीएम बिप्‍लब? हुए ट्रोल

आप नेता आशुतोष ने भाजपा नेताओं के बयान पर चुटकी ली है। उन्होंने ट्वीट किया, 'बीजेपी/आरएसएस आखिर अपने नेताओं को किस चक्की का आटा खिलाती है?' यह ट्वीट अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

आप नेता आशुतोष (file photo)

आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने हाल ही में दिए भाजपा नेताओं के बयान पर ट्विटर पर चुटकी ली है। आशुतोष ने अपने ट्वीट में सवाल किया, ‘बीजेपी/आरएसएस आखिर अपने नेताओं को आखिर किस चक्की का आटा खिलाती है?’ उन्होंने अपने ट्वीट में हाल ही में त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और जम्मू—कश्मीर के डिप्टी सीएम कविंद्र गुप्ता के बयानों का हवाला दिया था। आशुतोष ने इसके बाद लिखा कि गजब के नमूने आरएसएस की फैक्ट्री से निकलते हैं। आप नेता का यह ट्वीट अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस पर यूजर्स ने उनको ट्रोल भी किया है।

दरअसल आशुतोष ने अपने ट्वीट में लिखा था कि,’ बीजेपी/आरएसएस किस चक्की का आटा खिलाती है कि विप्लव को महाभारत में इंटरनेट दिखता है, विजय रूपाणी के लिये नारद गूगल है, कविंद्र गुप्ता के लिये ८ साल की बच्ची से रेप छोटी घटना है, खट्टर को लड़कियों के जींस पहनने पर आपत्ति है । ग़ज़ब के नमूने आरएसएस फैक्ट्री से निकलते है ।’ बता दें कि ये सभी भाजपा नेताओं के वही चर्चित बयान हैं जो हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे। इन नेताओं के इस तरह के बयानों के कारण उनकी काफी आलोचना भी हुई थी।

भाजपा के जिन नेताओं के बयानों का जिक्र आशुतोष ने अपने ट्वीट में किया है। उनमें से सबसे ज्यादा चर्चित त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब का महाभारत काल में इंटरनेट और टीवी मौजूद होने का दावा हुआ था। बिप्लब देब के इस बयान को लेकर आलोचनाओं की बाढ़ थमी ही नहीं थी कि उन्होंने पूर्व विश्व सुंदरी डायना हेडन को लेकर विवादित बयान दे दिया। बिप्लब देव ने कहा कि डायना हेडेन विश्व सुंदरी के ताज के लायक नहीं थीं। बिप्लब देब ने सौंदर्य प्रतियोगिताओं की विश्वस्यनीयता पर सवाल खड़ा किया था और डायना हेडन पर विवादित बयान देने के साथ ही ऐश्वर्या राय की तारीफ की थी।

इस दावे के कारण उन्हें सोशल मीडिया पर खासी आलोचना का सामना करना पड़ा था। हालांकि बाद में उन्होंने पूरे मामले पर अपनी सफाई दी थी और कहा था, ‘उनके कहने का आशय कुछ और था, लेकिन उसे समझ कुछ और लिया गया।’ लेकिन आशुतोष के ट्वीट पर सोशल मीडिया पर सक्रिय यूजर्स ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया है। कुछ यूजर्स ने उन्हें उनकी जिन्दगी के कुछ पुराने लम्हें याद दिलवाए तो कुछ ने उनके बयानों की आलोचना करते हुए उन्हें आरएसएस और देश का अंधविरोधी तक करार दे दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App