ताज़ा खबर
 

आप नेता आशुतोष ने कहा- दल‍ित को बराबर दर्जा म‍िले ब‍िना देश मजबूत नहीं होगा, लोग बोले- दल‍ित को बनाओ द‍िल्‍ली का सीएम

कई ट्विटर यूजर्स ने आशुतोष की काफी आलोचना की है। यूजर्स ने कहा कि दलितों को मुख्यमंत्री केजरीवाल क्यों आगे नहीं ले जाते।

आप नेता आशुतोष वीडियो शेयर करने के बाद खुद यूजर्स के निशाने पर आग गए हैं। (फाइल फोटो)

आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता आशुतोष ने दलित विषय से जुड़ा एक वीडियो पर ट्विटर पर शेयर किया है। वीडियो में आशुतोष कह रहे हैं कि उन्होंने दलित विषय पर आज दो लेख पढ़े हैं। जिसमें पहले लेख का हवाला देते हुए आशुतोष ने कहा कि गुजरात में उना की घटना के बाद भारी संख्या में दलित हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपना रहे हैं। उन्होंने कहा कि उना में गोहत्या के आरोप में दलित समुदाय के लोगों की बुरी तरह से पिटाई की गई थी। सबकुछ कैमरे पर था और पूरी दुनिया में इसे देखा गया। वहीं दूसरे लेख में आशुतोष जेफरले के लेख का हवाला देते हुए कह रहे हैं, ‘पिछले दिनों दलित समाज गाय की वजह से की गई मारपीट से काफी आक्रोशित हुआ है। गाय की राजनीति व यूपी में मायावती के कमजोर पड़ने से इस आक्रोश को काफी बल मिला है।’ वीडियो में आशुतोष आगे कहते हैं कि दोनों लेखों को पढ़ने के बाद उनके मन में कई सवाल उठे हैं। आजादी के 70 साल बाद भी समाज का एक बड़ा तबका है जो दलितों को बराबरी का दर्जा देने के लिए तैयार नहीं है, सम्मान देने के लिए तैयार नहीं है। संघ परिवार की विचारधारा इस मनुवादी सोच को आगे बढ़ा रही है। लेकिन जबतक हम दलितों को हिंदू स्थान में बराबरी का दर्जा नहीं देंगे। तबतक हिंदू समाज को जोड़ने की बात बेमानी है। वीडियो में आशुतोष आगे कहते हैं कि संघ इस तरफ ध्यान नहीं देता। लेकिन जबतक दलित समाज आगे नहीं बढ़ेगा तबतक देश आगे नहीं बढ़ेगा और ना ही मजबूत होगा। बता दें कि आप नेता ने वीडियो ‘ये देश तब तक मजबूत नहीं होगा जबतक कि दलित समाज को बराबरी का दर्जा नहीं मिलेगा, उचित सम्मान नहीं मिलेगा’ शीर्षक के साथ शेयर किया है।

दूसरी तरफ कई ट्विटर यूजर्स ने आशुतोष की काफी आलोचना की है। यूजर्स ने कहा कि दलितों को मुख्यमंत्री केजरीवाल क्यों आगे नहीं ले जाते। दिव्या शर्मा लिखती हैं, ‘दलित प्रेम है तो राष्ट्रपति चुनाव में दिखा दो।’ पतला अदनाम सामी लिखते है, ‘सर दिल्ली का मुख्यमंत्री किसी दलित को बना दो फिर।’ एक यूजर आशुतोष पर तंज कसते हुए लिखते हैं, ‘आप ज्यादा कैमरे के सामने मत आया करो। डर लगता है।’ यूपीयत लिखते हैं, ‘दिल्ली का सीएम दलित को बनाए और आप का चेयरमैन भी दलित को बनाएं।’ कुसुम वर्मा लिखती हैं, ‘अब दलित राजनीति मत करिए। आप अच्छे इंसान हैं इसलिए कहना पड़ रहा है। सर ये वाली राजनीति तो मत ही कीजिए।’ दया भट्ट लिखते हैं, ‘पहले कपिल मिश्रा के सवालों का जवाब दो। देश प्रेम तुम लोगों को मुंह से अच्छा नहीं लगता।’ प्रीतेश दिक्षित लिखते हैं, ‘बराबरी तो छोड़िए भाजपा एक दलित को राष्ट्रपति बनाने जा रही है।’

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नरेंद्र मोदी के गुजरात में हो रहा जीएसटी का कड़ा विरोध, पर नरम और अलग अंदाज में
2 साधुओं ने शिवलिंग पर चढ़ा दिया जानवर का मांस, वायरल हो रहा है सीरियल हर हर महादेव का ये वीडियो
3 पार्क में बैठी प्रियंका चोपड़ा को पीछे से आकर एक शख्स ने पकड़ लिया, वायरल हो रहा है PC की अगली फिल्म का सीन
ये पढ़ा क्या?
X