scorecardresearch

आखिर मेस में सैंकड़ों लोग खाते हैं, फिर आपको ही दिक्कत क्यों? रिपोर्टर के सवाल सिपाही मनोज कुमार ने दिया ये जवाब

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद से कॉन्स्टेबल मनोज कुमार का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था।

आखिर मेस में सैंकड़ों लोग खाते हैं, फिर आपको ही दिक्कत क्यों? रिपोर्टर के सवाल सिपाही मनोज कुमार ने दिया ये जवाब
खाने की व्यथा बताते कॉन्स्टेबल मनोज कुमार (File photo)

पुलिस लाइन की मेस में बने खाने की शिकायत करने वाले कांस्टेबल मनोज कुमार का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ था। मनोज कुमार ने आरोप लगाया था कि पुलिस लाइन की मेस में बहुत घटिया स्तर का खाना बनता है। वीडियो वायरल होने के बाद एक टीवी चैनल के रिपोर्टर ने कॉन्स्टेबल मनोज कुमार से पूछा कि वहां पर और लोग भी खाना खाते हैं, वो लोग शिकायत क्यों नहीं करते? जिसका उन्होंने जवाब दिया।

कॉन्स्टेबल ने बताई पूरी कहानी

‘आज तक’ न्यूज़ चैनल से बात करते हुए कॉन्स्टेबल मनोज कुमार ने बताया कि इसी तरह का खाना हर रोज दिया जाता है। जब इसकी शिकायत उन्होंने मेस के इंचार्ज से की तो उन्होंने अभद्रता की। कॉन्स्टेबल की ओर से दावा किया गया कि इस शिकायत पर एसएसपी ने भी कोई ध्यान नहीं दिया। जिसके बाद मैंने थाली लेकर वीडियो शूट किया और उसे सोशल मीडिया पर डाल दिया।

मनोज कुमार ने यूपी पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

कॉन्स्टेबल मनोज कुमार ने आरोप लगाया कि उन्हें यूपी पुलिस के कुछ जवान जीप में उठा ले गए थे, इसके साथ ही उधर से यह भी कहा गया कि यहां पर तुम्हें बताने वाला कौन है, यहां पर मीडिया के लोग भी नहीं आएंगे। इसके साथ ही मनोज कुमार ने आरोप लगाया कि उन्हें पागल घोषित करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है, जिसके लिए आगरा भेजा गया था। उन्होंने कहा कि मैंने छुट्टी नहीं मांगी है, उसके बावजूद भी 7 दिनों की छुट्टी मुझे दी गई है।

रिपोर्टर ने मनोज कुमार से किया ऐसा सवाल

बातचीत के दौरान रिपोर्टर ने मनोज कुमार से पूछा कि जिस मेस की बात आप कर रहे हैं, वहां सैकड़ों पुलिसकर्मी खाना खाते हैं। इसके साथ ही खाने की गुणवत्ता जानने के लिए बड़े अधिकारी भी कभी – कभी खाना खाते हैं। उन लोगों को कोई शिकायत नहीं है, आपको ही दिक्कत क्यों है? इसके जवाब में मनोज कुमार ने कहा, ‘जिस समय अधिकारी खाना चेक करने के लिए आते हैं, उस समय मेस में खाना ठीक दिया जाता है। मेरे कुछ साथी यहां खाना ना खा कर बल्कि कि कहीं और खाना खाने जाते हैं।’

फिरोजाबाद पुलिस ने दिया है ऐसा बयान

कांस्टेबल मनोज कुमार के वायरल वीडियो पर फिरोजाबाद पुलिस की ओर से कहा गया कि मैस के खाने की गुणवत्ता से सम्बन्धित शिकायती ट्वीट प्रकरण में खाने की गुणवत्ता सम्बन्धी जांच सीओ सिटी कर रहे है। उल्लेखनीय है कि उक्त शिकायतकर्ता आरक्षी को आदतन अनुशासनहीनता, गैरहाजिरी व लापरवाही से सम्बन्धित 15 दण्ड विगत वर्षो में दिये गये है। जानकारी के लिए बता दें कि विपक्षी दलों के नेताओं ने इसको लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार पर कई तरह के सवाल उठाए हैं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट