scorecardresearch

ओपी राजभर से पूछा- आपकी नसीहत के बाद AC से बाहर निकलेंगे अखिलेश यादव? SBSP अध्यक्ष ने दिया कुछ ऐसा जवाब

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कुछ लोग हमसे कह रहे हैं कि आप सपा प्रमुख को सलाह दीजिए।

OP Rajbhar, Akhilesh Yadav
SBSP अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर(फोटो सोर्स: ट्विटर/@oprajbhar)।


सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने हाल में ही अपने गठबंधन साथी व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए कहा था कि उन्हें एसी से बाहर आना चाहिए। इसी को लेकर एक टीवी चैनल के रिपोर्टर ने ओपी राजभर से पूछा कि क्या आपके नसीहत के बाद अखिलेश यादव एसी से बाहर आएंगे? 

दरअसल, ओमप्रकाश राजभर आज तक न्यूज़ चैनल के साथ बातचीत कर रहे थे। इस दौरान रिपोर्टर द्वारा अखिलेश यादव पर इस तरह की टिप्पणी करने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, ‘उनके लोग हम से कह रहे हैं कि उनसे कहो। 2022 विधानसभा चुनाव जिस उम्मीद और लक्ष्य के साथ लड़ा गया था। उसमें हम सब फेल हुए हैं।’ उन्होंने आगे कहा कि इस हार के बाद हम सबको अध्ययन करके जनता के बीच जाने की जरूरत है। 

ओपी राजभर ने कहा कि अगर हम फिर से जाकर जनता के बीच में महंगाई और जाति जनगणना की बात करेंगे तो पार्टी का फायदा होगा। इस तरह के मुद्दों को जनता के बीच में जाकर बताने की जरूरत है। उन्होंने हंसते हुए कहा कि अगर अखिलेश यादव इस तरह के मुद्दे जनता के बीच में लेकर जाते तो हम उन्हें इस तरह की सलाह क्यों देते। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अखिलेश और उनके बीच में कोई तल्खी नहीं है और ना ही हमने उन दोनों को मिलाने का कोई प्रयास किया है। 

शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के बीच चल रही तनातनी के सवाल पर ओपी राजभर ने कहा कि मैंने सदन में आज शिवपाल यादव से मुलाकात की थी। उन्होंने इस बात से इंकार किया है कि वह अखिलेश यादव से नाराज हैं। इसके साथ ही ओपी राजभर ने कहा कि अगर कोई नाराज होता है तो घर छोड़कर चला जाता है। 

रिपोर्टर ने जब ओपी राजभर से पूछा कि क्या आप की नसीहत के बाद अखिलेश यादव AC के कमरों से निकलकर लोगों के बीच में जाएंगे? इसके जवाब में ओपी राजभर ने कहा, ‘ हम उनसे मिलकर जरूर कहेंगे.. इस तरह की नसीहत हमारे अलावा और लोग भी दे रहे हैं। उनसे मिलकर कहेंगे कि चलिए गांव में लोगों को समझाया जाए, बच्चों के परिवारों को शिक्षा के लिए जागरूक किया जाए।’

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट