ताज़ा खबर
 

26 जनवरी को ही रैली क्यों? BJP नेता ने पूछा तो राकेश टिकैत बोले- क्यों कहा किसानों को पाकिस्तानी खालिस्तानी?

Rakesh Tikait ने कहा कि आंदोलन कर रहे किसानों को कभी खालिस्तानी, कभी पाकिस्तानी तो कभी आतंकवादी तक कहा गया। हम तिरंगे के साथ ट्रैक्टर रैली निकालकर ये दिखाना चाहते हैं कि हम इसी देश के हैं औऱ सच्चे राष्ट्रभक्त हैं।

Aaj Tak debate, Anjana Om kashyap, Rakesh Tikait networthकिसान नेता राकेश टिकैत। फोटो- एएनआई

पिछले करीब 2 महीने से किसान नए कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। दिल्ली के तमाम बॉर्डरों पर आंदोलनतारी किसान अपनी मांगों के साथ डटे हुए हैं। इसके साथ ही 26 जनवरी को किसान अपने ट्रैक्टर के साथ दिल्ली में मार्च की तैयारी भी कर रहे हैं। किसानों को दिल्ली में एंट्री की इजाजत होगी या नहीं इस पर फैसला दिल्ली पुलिस को लेना है।

देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस मामले को डील करने की पूरी ऑथरिटी दिल्ली पुलिस के पास है। इन सबके बीच एक टीवी डिबेट शो में बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी और भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत आपस में भिड़ गए। पूरा मामला हिंदी न्यूज चैनल आज तक का है। चैनल पर किसान आंदोलन को लेकर लाइव डिबेट में सुशांशु त्रिवेदी और राकेश टिकैत आमने सामने थे। शो की एंकर थीं अंजना ओम कश्यप।

शो में बीजेपी प्रवक्ता ने किसान नेता राकेश टिकैत से कहा कि ट्रैक्टर रैली निकालने से किसी को कोई परेशानी नहीं है। लेकिन ये लोग 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन ही क्यों निकाल रहे हैं। सुधांशु त्रिवेदी ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि जब देश में इमरजेंसी लगी थी औऱ लोगों के मौलिक अधिकार तक को कुचल दिया गया था तब भी किसी ने गणतंत्र दिवस की परेड को डिस्टर्ब नहीं किया था।

बीजेपी प्रवक्ता की इन बातों का जवाब देते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि ये आप क्यों सोच रहे हैं कि हम गणतंत्र दिवस के दिन विरोध करेंगे। हम तो बस रैली निकाल रहे हैं। हम अपने ट्रैक्टरों पर तिरंगे लगाकर निकलेंगे। राकेश टिकैत ने कहा कि आंदोलन कर रहे किसानों को कभी खालिस्तानी, कभी पाकिस्तानी तो कभी आतंकवादी तक कहा गया। हम तिरंगे के साथ ट्रैक्टर रैली निकालकर ये दिखाना चाहते हैं कि हम इसी देश के हैं औऱ सच्चे राष्ट्रभक्त हैं।

राकेश टिकैत ने बीजेपी प्रवक्ता से कहा कि आपकी तो सरकार है आप हमें 50 हजार तिरंगे नहीं दिलवा सकते क्या, क्योंकि हमारे पास अभी सिर्फ 5 हजार झंडे ही हैं। उन्होंने आगे कहा कि जो कोई भी ये सोच रहा है कि किसान 26 जनवरी को विरोध करेंगे वो गलत सोच रहे हैं। हमें तो बस ये दिखाना है कि हम भी इसी देश के नागरिक हैं।

Next Stories
1 ‘सोचिए अगर अर्णब गोस्वामी की जगह मैं होता..’, चैट लीक पर रवीश कुमार ने पूछा सवाल, आ रहे ऐसे रिएक्शन्स
2 ‘जवानों की शहादत पर भी जश्न मना रहे थे..’, लीक चैट पर यूं ट्रोल हो रहे रिपब्लिक टीवी चीफ अर्णब गोस्वामी
3 ‘पहले आप गद्दी छोड़ो और घर चले जाओ..’, संबित पात्रा संग लाइव डिबेट में कांग्रेस के गौरव वल्लभ ने बीजेपी पर साधा निशान
ये पढ़ा क्या?
X