ताज़ा खबर
 

पत्नी का पैर दबाना पड़ता है, रोटी जल जाती है- देर से दफ्तर पहुंचने पर कर्मचारी की सफाई

इस शख्स के मुताबिक घर से दफ्तर की रोड़ भी खराब है अगर पौने दस बजे घर से निकलता है तो रास्ते में जाम मिलता है और ऑफिस पहुंचते पहुंचते देर हो जाती है। अशोक कुमार ने कहा कि वह अब थोड़ा पहले ही पत्नी की सेवा कर लिया करेगा

दफ्तर लेट आने पर कर्मचारी की सफाई मजेदार है।

दफ्तर देर पहुंचने की आदत आपको मुसीबत में डाल सकती है। इसके लिए आपसे जवाब मांगा जा सकता है और अगर आपके पास वाजिब जवाब नहीं हो तो आपकी किरकिरी हो सकती है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में आया है। यहां पर लेट आने के लिए एक स्टाफ को नोटिस जारी किया गया तो उसका जवाब बड़ा ही रोचक था। इस शख्स ने कहा कि इन दिनों उसकी पत्नी की तबियत खराब है उसे पत्नी के पैर दबाने पड़ते हैं, रोटियां बनानी पड़ती है, इन सब काम की वजह से ऑफिस आने में उसे देरी हो जाती है।

बता दें कि अशोक कुमार यूपी के चित्रकूट जिले में डिप्टी कमिश्नर वाणिज्यिक दफ्तर में आशुलिपिक हैं। 18 अगस्त को वह सुबह सवा दस बजे तक दफ्तर नहीं पहुंचे थे। इस बावत उनसे सफाई मांगी गई। डिप्टी कमिश्नर, वाणिज्य कर ने नोटिस भेजकर उनसे पूछा कि बिना सूचना के कार्यालय से गैरहाजिर रहना घोर लापरवाही का द्योतक है। इसलिए वे इस मामले में स्पष्टीकरण दें।

कर्मचारी द्वारा ऑफिस देर से आने पर सफाई में लिखी गई चिट्ठीय़

आशुलिपिक अशोक कुमार ने जवाब देते हुए लिखा, “महोदय वर्तमान में मेरी पत्नी की तबियत खराब रहती है, खाना मुझे ही बनाना पड़ता है…पत्नी का बदन दर्द करता है इसलिए हाथ पैर मुझे दबाने पड़ते हैं…।” अपने जवाब में इस शख्स ने आगे कहा कि उसे कभी कभी रोटियां भी बनानी पड़ती है, लेकिन वह इस काम में एक्सपर्ट नहीं है इस वजह से रोटियां जल भी जाती है और उसे पत्नी का डांट भी सुननी पड़ती है। अशोक कुमार ने कहा कि इस वजह से वह आजकल दलिया बनाकर खा रहा है। आशुलिपिक अशोक के मुताबिक इन कारणों की वजह से उसे दफ्तर से निकलने में देर हो जाती है। इस शख्स के मुताबिक घर से दफ्तर की रोड़ भी खराब है अगर पौने दस बजे घर से निकलता है तो रास्ते में जाम मिलता है और ऑफिस पहुंचते पहुंचते देर हो जाती है। अशोक कुमार ने कहा कि वह अब थोड़ा पहले ही पत्नी की सेवा कर लिया करेगा और तय समय पर ऑफिस पहुंचने की कोशिश करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App