ताज़ा खबर
 

हिंदी, उर्दू, मराठी, बांग्ला समेत आठ भाषाओं में बनाइए ईमेल, कंप्यूटर पर भी शुरू हुई DATAMAIL

जयपुर स्थित डाटा इंफोसिस से संबंधित और भारत की सबसे बड़ी IT सर्विस ऑर्गनाइजेशन में से एक DATA XGen टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने अक्टूबर माह में डाटामेल को लॉन्च किया था।

शुरुआत में इस सुविधा को स्मार्टफोन के लिए लाया गया था, जिसे अब डेस्कटॉप के लिए शुरू कर दिया गया है। (Photo: DATAMAIL)

अब यूजर्स दुनिया के पहले मुफ्त linguistic (भाषाई) ई-मेल एड्रेस DATAMAIL का इस्तेमाल अपने कंप्यूटर पर सभी वेब ब्राउजर के जरिए भी कर सकते हैं। इंटरनेट यूजर्स अब क्रोम, फायरफॉक्स, इंटरनेट एक्सप्लोरर, ओपेरा जैसे सभी लोकप्रिय ब्राउजरों से इस सेवा का उपयोग कर सकते हैं।  जयपुर स्थित डाटा इंफोसिस से संबंधित और भारत की सबसे बड़ी IT सर्विस ऑर्गनाइजेशन में से एक DATA XGen टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने अक्टूबर माह में डाटामेल को लॉन्च किया था। उस समय पर यह सुविधा स्मार्टफोन के लिए लाई गई थी, जिसे अब डेस्कटॉप के लिए शुरू कर दिया गया है।

भारत में बना ‘डाटामेल’ ऐप हिंदी, उर्दू, मराठी, बांग्ला समेत 8 भारतीय भाषाओं में ई-मेल आईडी बनाने की सुविधा देता है। साथ ही यह अंग्रेजी, अरबी, रूसी और चीनी भाषा में भी ई-मेल आईडी की सुविधा मुहैया कराता है। आने वाले समय में डाटा एक्सजेन टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से 22 भाषाओं में ई-मेल आईडी क्रिएट करने की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। डाटामेल एप को किसी भी एंड्रॉयड या आईओएस के जरिए उनके प्लेस्टोर से मुफ्त डाउनलोड किया जा सकता है।

डाटा एक्सजेन टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक और सीईओ डॉ. अजय डाटा का कहना है, “देश की 89 प्रतिशत गैर अंग्रेजी भाषी आबादी को साथ लिए बिना डिजिटल इंडिया का कोई मतलब नहीं है। इसलिए यह जरूरी है कि प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया के मिशन को पूरा करने के लिए सरकारी और निजी क्षेत्र साथ मिलकर प्रयास करे, ताकि देश के अर्धशहरी और ग्रामीण इलाकों के लोगों तक उनके लिए अनुकूल टेक्नोलॉजी पहुंचाई जा सके।” आकड़ों के मुताबिक, भारत में 10 करोड़ से भी ज्यादा लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं करते लेकिन साइबर कैफे या पब्लिक इंटरनेट के जरिए इंटरनेट की दुनिया से जुड़े हुए हैं।

आमिर खान को स्नैपडील से हटाने के पीछे भाजपा के IT सेल का हाथ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App