ताज़ा खबर
 

बीच में रोककर पढ़ा जा सकता है आपका मैसेज? WhatsApp ने किया बड़ा खुलासा

रिपोर्ट में कहा गया कि वाट्सएप में एक सुरक्षा संबंधी चूक है जिसके कारण से फेसबुक और अन्य इसके एनक्रिप्टेड संदेशों को पढ़ सकते हैं या उसे बाधित कर सकते हैं।

Author नई दिल्ली | January 15, 2017 10:42 AM
व्हाट्सऐप ने एनक्रिप्टेड संदेशों के पकड़े जाने से किया इनकार।

व्हॉट्सऐप के जरिए भेजे गए एनक्रिप्टेड संदेशों को पढ़ा जा सकता है, ऐसी रिपोर्ट आने के बाद से यूजर्स की प्राइवेसी और सिक्योरिटी को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। इन सवालों के बीच कंपनी की ओर से बड़ा खुलासा किया गया है। व्हॉट्सऐप ने उन खबरों को खारिज किया है जिसमें बताया गया था कि उसके प्लेटफार्म पर भेजे जाने वाले एनक्रिप्टेड संदेश को बीच में रोककर पढ़ा जा सकता है या बाधित किया जा सकता है। व्हॉट्सऐप ने कहा कि साल 2016 के अप्रैल से ही व्हाट्सऐप कॉल और संदेश शुरू से अंत तक डिफॉल्ट रूप से एनक्रिप्टेड होते हैं।

द गार्जियन की शुक्रवार की रिपोर्ट में कहा गया कि वाट्सएप में एक सुरक्षा संबंधी चूक है जिसके कारण से फेसबुक और अन्य इसके एनक्रिप्टेड संदेशों को पढ़ सकते हैं या उसे बाधित कर सकते हैं। व्हाट्सऐप के सहसंस्थापक ब्रायन एक्टन ने रेडिट पर शेयर किए अपने संदेश में कहा, “द गार्जियन की व्हाट्सऐप में सुरक्षा खामी की रिपोर्ट गलत है। व्हाट्सऐप सरकार को भी अपनी प्रणाली में हस्तक्षेप या घुसपैठ की अनुमति नहीं देती। और इस संबंध में वाट्सएप सरकार द्वारा किसी भी अनुरोध को नहीं मानेगी और उसके खिलाफ लड़ेगी।” WhatsApp ने इस संबंध में एक तकनीकी श्वेतपत्र जारी किया है, जिसमें एंड टू एंड एनक्रिप्सन को लागू करने की विस्तार से जानकारी दी गई है।

क्या कहती है रिपोर्ट?
द गार्जियन में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, एक रिसर्च में सामने आया है कि व्हाट्सऐप का प्रयोग करने वालों के सारे मैसेज और अन्य डाटा को फेसबुक के कर्मचारी पढ़ सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जिस तरह की इन्क्रिप्शन पॉलिसी फेसबुक ने व्हाट्सऐप के लिए तैयार की है, उससे ऐसा हो सकता है। कैलिफोर्निया यूनिवर्सटी के सिक्युरिटी रिसर्चर टोबिस बॉएल्टर ने गार्जियन को बताया कि फेसबुक ने व्हाट्सऐप के सिगनल प्रोटोकॉल में बदलाव किया है। इस बदलाव की वजह से फेसबुक का कोई भी कर्मचारी व्हाट्सऐप पर सभी मैसेज को आसानी से पढ़ सकता है। अगर कोई सरकार इस तरह की जानकारी मांगती है, तो फेसबुक उसको आसानी से दे सकता है। इसके बाद से सवाल उठने लगे कि इस तरह तो सरकार किसी भी जासूसी कर सकती है, जो कि निजता का उल्लंघन है।

वीडियो: सरकार ने दी UPI ऐप से सेकेंड्स में पैसा मंगाने-भेजने की सुविधा, ऐसे करें इस्तेमाल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App