निधन के बाद क्या-क्या हो सकता है आपके Google Data का, जानना चाहेंगे?

दरअसल, सर्च इंजन कंपनी अपने यूजर्स को खाते और उसके डेटा को किसी ऐसे व्यक्ति के साथ साझा करने का विकल्प देता है जिस पर उन्हें भरोसा है या खाता निष्क्रिय होने पर वे गूगल से इसे हटाने के लिए भी कह सकते हैं।

Google, Google Data, USA,
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः unsplash)

अंकिता गर्ग।

कभी सोचा है कि आपके न होने के बाद Google अकाउंट के डेटा का क्या होता है? अगर हां और आप इस बात से चिंतित हैं तो आपको बता दें कि दिग्गज अमेरिकी कंपनी के पास एक ऐसा फीचर है, जो आपको यह चीज तय करने का मौका देता है। अगर आप गूगल की सभी सेवाओं मसलन Gmail, Google Maps, Google Search और Google Photos का इस्तेमाल कर रहे हैं तब इसका मतलब है कि गूगल अकाउंट में आपके और आपकी आदतों के बारे में काफी जानकारी है।

हो सकता है कि कुछ लोगों ने बैंक कार्ड के डिटेल्स सहेजे हों या फिर अपने दोस्तों और परिवार के साथ यादों को संजोने के लिए गूगल फोटो का यूज कर रहे हों। आप में से कुछ लोग Google Pay का उपयोग भी कर रहे होंगे और हो सकता है कि आपने Google डिस्क पर कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज़ जुटाए हों। ऐसे में अपने गूगल अकाउंट के डेटा के लिए एक प्लान बनाना जरूरी है, क्योंकि हो सकता है कि आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ सब कुछ साझा करना चाहें जो आपके निधन के बाद इस पर ध्यान दे सके।

अपने Google डेटा को कैसे सुरक्षित करें?: जब आप अपने गूगल अकाउंट का बहुत लंबे समय तक उपयोग नहीं करते हैं या जब कंपनी को आपके खाते में कोई गतिविधि नहीं मिलती है, तो यह डिएक्टिवेट (निष्क्रिय) हो जाता है। हालांकि, कंपनी आपको यह तय करने देती है कि उसे कब आपके खाते को निष्क्रिय माना जाना चाहिए और बाद में आपके डेटा के साथ क्या होना चाहिए।

दरअसल, सर्च इंजन कंपनी अपने यूजर्स को खाते और उसके डेटा को किसी ऐसे व्यक्ति के साथ साझा करने का विकल्प देता है जिस पर उन्हें भरोसा है या खाता निष्क्रिय होने पर वे गूगल से इसे हटाने के लिए भी कह सकते हैं। गूगल के मुताबिक, “हम आपके द्वारा सेट की गई योजना को तभी ट्रिगर करेंगे जब आपने कुछ समय के लिए अपने गूगल अकाउंट का इस्तेमाल नहीं किया है। हमें बताएं कि ऐसा करने से पहले हमें कब तक इंतजार करना चाहिए।”

अच्छी बात यह है कि गूगल यूजर्स को खाते को निष्क्रिय मानने के लिए अतिरिक्त प्रतीक्षा अवधि निर्धारित करने की अनुमति भी देता है। आप अधिकतम 18 महीने तक चुन सकते हैं। यूजर्स केवल myaccount.google.com/inactive साइट पर जा सकते हैं और फेरबदल कर सकते हैं।

-आपको सबसे पहले निष्क्रियता, ईमेल आईडी, फोन नंबर और अन्य विवरणों के लिए प्रतीक्षा अवधि दर्ज करनी होगी।

-फिर गूगल आपको अधिकतम 10 लोगों को चुनने का विकल्प देगा, जिन्हें आप सूचित करना चाहते हैं कि जब आपका गूगल खाता निष्क्रिय हो जाता है और यह कि आप अब इस खाते का उपयोग नहीं कर रहे हैं। आप उन्हें अपने कुछ डेटा तक पहुंच और इसे डाउनलोड करने का विकल्प भी दे सकते हैं। आपको अपने विश्वसनीय संपर्कों की ईमेल आईडी दर्ज करने के लिए कहा जाएगा।

नोट: जो लोग जीमेल का उपयोग करते हैं वे एक ऑटो रिप्लाई भी सेट कर पाएंगे जो आपके खाते के निष्क्रिय होने के बाद भेजा जाएगा।

-अगर आप नहीं चाहते कि कोई आपके गूगल अकाउंट के डेटा तक पहुंच प्राप्त करे, तो आपको किसी की ईमेल आईडी जोड़ने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन, इसका मतलब यह होगा कि आपका डेटा हटा दिया जाएगा और आपके निष्क्रिय होने के बाद कोई भी इसे कभी भी पुनर्स्थापित नहीं कर पाएगा।

-जब आप किसी व्यक्ति की ईमेल आईडी जोड़ते हैं, तो गूगल एक बड़ी सूची प्रदर्शित करता है और आपसे यह चुनने के लिए कहता है कि आप अपने संपर्क के साथ कौन सा डेटा साझा करना चाहते हैं। सूची में गूगल पे, गूगल फोटो, गूगल चैट, स्थान इतिहास और अन्य सभी चीजें शामिल हैं जो आपने गूगल खाते का उपयोग करके की हैं। कंपनी का कहना है कि आपका गूगल खाता निष्क्रिय होने के बाद केवल तीन महीने के लिए आपके विश्वसनीय संपर्क की पहुंच होगी।

-अगर आप अपना गूगल अकाउंट हटाना चुनते हैं, तो खोज दिग्गज आपके सार्वजनिक रूप से साझा किए गए डेटा जैसे YouTube वीडियो और अन्य सामग्री सहित आपके सभी डेटा को हटा देगा। जो लोग अपने विश्वसनीय संपर्कों के साथ डेटा साझा करना चुनते हैं, ईमेल में उस डेटा की एक सूची होगी जिसे आपने साझा करने के लिए चुना है।

पढें टेक्नोलॉजी समाचार (Technology News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
Blackberry ने भारत में लॉन्च किया अब तक का सबसे महंगा स्मार्टफोनP'9983, market, smart phone BlackBerry