ताज़ा खबर
 

मुकेश अंबानी नहीं रहे मोबाइल बाजार के किंंग, अब यह कंपनी नंबर 1

Vodafone Idea Merger: इस मर्जर के बाद वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज लिमिटेड (वीएमएसएल) और वोडाफोन इंडिया के लाइसेंस, वोडाफोन की दोनों कंपनियों की संपत्ति और देनदारियों के साथ आइडिया सेलुलर लिमिटेड में स्थानांतरित हो गए हैं।

इस मर्जर के बाद वोडाफोन आइडिया लिमिटेड देश की सबसे बड़ी मोबाइल नेटवर्क कंपनी बन गई है।

मोबाइल नेटवर्क सेक्टर में सस्ते प्लान्स का वॉर तो जारी है लेकिन अब यह कंपनी तक पहुंच गया है। अभी तक रिलायंस जियो के मालिक मुकेश अंबानी मोबाइल नेटवर्क के यूजर बेस के मामले में नंबर 1 थे लेकिन अब उनसे नंबर 1 का ताज छिन गया है। दरअसल वोडाफोन और आइडिया के मर्जर को टेलिकॉम डिपार्टमेंट ने मंजूरी दे दी है। इस मर्जर के बाद वोडाफोन आइडिया लिमिटेड देश की सबसे बड़ी मोबाइल नेटवर्क कंपनी बन गई है। इस मर्जर के बाद वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज लिमिटेड (वीएमएसएल) और वोडाफोन इंडिया के लाइसेंस, वोडाफोन की दोनों कंपनियों की संपत्ति और देनदारियों के साथ आइडिया सेलुलर लिमिटेड में स्थानांतरित हो गए हैं।

डीओटी के एक अधिकारी ने कहा, “स्थगित स्पेक्ट्रम भुगतान के लिए बैंक गारंटी देता है कि वोडाफोन को संबंधित डीओटी में संशोधन किया जाएगा, संबंधित बैंकों द्वारा संशोधित किया जाएगा, और इसे आइडिया सेल्युलर में स्थानांतरित कर दिया जाएगा, क्योंकि यह वह इकाई होगी जो लाइसेंस धारण करेगी।” अनुमोदन पत्र में हालात शामिल हैं कि विलय वाली इकाई को दूरसंचार विवाद निपटान और अपीलीय न्यायाधिकरण (टीडीएसएटी), और अन्य अदालतों में लंबित मामलों के परिणामों का पालन करना होगा। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में आइडिया का शेयर 26 जुलाई को दोपहर 2 बजकर 22 मिनट पर 0.82 फीसदी बढ़कर 55.40 रुपए हो गया था।

एक प्रक्रिया के लिए अगला कदम सभी कंपनियों के परिवर्तनों की कंपनियों के रजिस्ट्रार को सूचित करेगा, जिसके बाद वोडाफोन इंडिया और इसकी सहायक वीएमएसएल मौजूद रहेगी। आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन इंडिया ने 7268 करोड़ रुपए का भुगतान करने पर सहमति व्यक्त की। वोडाफोन इंडिया द्वारा स्पेक्ट्रम उदारीकरण शुल्क के रूप में 3 9 26.34 करोड़ रुपए (नकद में) और आइडिया सेलुलर द्वारा 3322.44 करोड़ रुपए की बैंक गारंटी और एक बार स्पेक्ट्रम शुल्क के लिए भुगतान करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App