Virus Detection Tips: कैसे पता करें कि आपके फोन में वायरस है या नहीं?, यहां जानें प्रोसेस

हैकर्स आज के समय में वायरस के माध्‍यम से यूजर्स के सिस्‍टम व एकाउंट तक को हैक कर लेते हैं। ये वायरस किसी छोटे ऐप के माध्‍यम से आते हैं और ये ऐप आपको बहुत छोटी सुविधाएं देते हैं। इसलिए सबसे पहले जरुरी है कि किसी ऐप को डाउनलोड करते वक्‍त ज्‍यादा सावधानी बरती जाए।

Virus Detection Tips: कैसे पता करें कि आपके फोन में वायरस है या नहीं?, यहां जानें प्रोसेस (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

अगर आपके भी फोन में वायरस है और आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है कि वायरस कहां, पर आपको अपना स्‍मार्टफोन चलाने में समस्‍या आ रही है। तो हम आपको समाधान बताने वाले हैं कि आखिर वायरस का कैसे पता लगाएं। वायरस की पहचान कर जल्‍दी हटा देना चाहिए नहीं तो ये बड़ा नुकसान कर सकते हैं। कई तो ऐसे भी वायरस होते हैं, जो आपके फोन से किसी ऐप या मैसेज से प्रवेश कर जाते हैं, पर आपको जानकारी नहीं होती है और ये चुपचाप जरुरी डाटा भी चुरा लेते हैं।

अपने स्मार्टफोन को वायरस और मैलवेयर से कैसे बचाएं?
हैकर्स आज के समय में वायरस के माध्‍यम से यूजर्स के सिस्‍टम व एकाउंट तक को हैक कर लेते हैं। ये वायरस किसी छोटे ऐप के माध्‍यम से आते हैं और ये ऐप आपको बहुत छोटी सुविधाएं देते हैं। इसलिए सबसे पहले जरुरी है कि किसी ऐप को डाउनलोड करते वक्‍त ज्‍यादा सावधानी बरती जाए। साथ ही इन ऐप को कई प्‍लेटफॉर्म पर चेक भी करना चाहिए, जब अच्‍छी तरह से इनके सत्‍यता की जांच हो जाए तभी इन्‍हे इंस्‍टॉल करना चाहिए। उपयोगकर्ता को Google Play Store या App Store जैसे प्‍लेटफॉर्म से ही ऐप डाउनलोड करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: Post Office की ये योजनाएं आपको देती हैं सबसे अधिक ब्‍याज, हर महीने निवेश कर बना सकते हैं ज्‍यादा फंड
कैसे पता करें कि आपके स्मार्टफोन में वायरस है या नहीं?
विशेष सतर्कता बरतने के बाद भी, यह संभव है कि कोई वायरस या मैलवेयर अभी भी आपके स्मार्टफोन में घुस जाए। ऐसे में यहां बताया गया है कि आप कैसे अपने फोन में वायरस की तलाश कर सकते हैं।

  • अपने स्मार्टफोन पर वायरस का पता लगाने के सबसे आसान तरीका है कि आपके अनुमति के बगैर बार- बार पैसे कमाने के लिए मैसेज आना, फोन आना साथ ही ऐसे ही ऐप का बार- बार दिखना।
  • जबर्दस्त विज्ञापन आना भी संकेत हैं कि वायरस ने आपके स्मार्टफोन को संक्रमित कर दिया है।
  • मैलवेयर और ट्रोजन स्पैम टेक्स्ट संदेश भेजने के लिए आपके स्मार्टफोन का उपयोग कर सकते हैं।
  • आपका स्‍मार्टफोन पहले जैसा नहीं चल रहा है तो भी वायरस का कारण हो सकता है।
  • वायरस और मैलवेयर आपके स्मार्टफोन में नए ऐप्स भी डाउनलोड कर सकते हैं।
  • ये ऐप्स और संदेश भारी मात्रा में डेटा की खपत कर सकते हैं।
  • साथ ही आपके स्‍मार्टफोन की बैटरी भी ज्‍यादा देर तक नहीं चल सकती है।

पढें टेक्नोलॉजी समाचार (Technology News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
शाओमी का कम कीमत में 13MP स्मार्टफोन, 5.5 इंच का है डिस्प्लेशाओमी, 13MP स्मार्टफोन, शाओमी नोट-2, Xiaomi launches MIUI, 7, Redmi Note 2, Redmi, Note 2 Prime
अपडेट