ताज़ा खबर
 

Uber कैब के नए सेल्फी फीचर से बढ़ेगी सुरक्षा, कैब बुक होने से पहले ड्राइवर को समय समय पर देनी होगी सेल्फी

अगर फोटो रजिस्ट्रड अकाउंट से मैच नहीं होती है तो उस ड्राइवर के अकाउंट को अस्थायी तौर पर ब्लॉक कर दिया जाएगा।

इस नए फीचर से अब ड्राइवर की जानकारी समय-समय पर सुनिश्चित होती रहेगी, जोकि हमारे पास पहले से दर्ज होगी। (Photo: digitaltrends )

अब से आपकी ऊबर राइड पहले से सुरक्षित होने वाली है, दरअसल कंपनी ने ‘रीयल टाइम ID चेक’ नाम से एक नए फीचर को पेश किया है जिससे आपको पता चलेगा कि जिस कैब को आप हायर करने वाले हैं, वो सही व्यक्ति द्वारा चलाई जा रही है या नहीं। दरअसल इस नए फीचर में ड्राइवर्स को समय-समय पर पर अपने ऊबर एेप में किसी राइड को स्वीकार करने से पहले सेल्फी देना जरूरी होगा। ये सिक्योरिटी फीचर दरअसल माइक्रोसॉफ्ट की कॉगनेटिव सर्विसेज पर आधारित है, जिससे तुरंत ही उस फोटो को ड्राइवर के अकाउंट या फाइल में दर्ज फोटो से मैच किया जाता है। मान लीजिए अगर इसमें फोटो रजिस्ट्रड अकाउंट से मैच नहीं होती है तो उस ड्राइवर के अकाउंट को अस्थायी तौर पर ब्लॉक कर दिया जाएगा। कंपनी ने इस फीचर को फिलहाल पांच शहरों में शुरू किया है, जिनमें नई दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद और कोलकाता शामिल है। वहीं कंपनी का कहना है कि आने वाले समय में वह इसे अन्य शहरों में भी जल्द ही जारी करेगी।

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 15868 MRP ₹ 29499 -46%
    ₹2300 Cashback
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

इस बारे में कंपनी का कहना है कि इस नए फीचर से अब ड्राइवर की जानकारी समय-समय पर सुनिश्चित होती रहेगी, जोकि हमारे पास पहले से दर्ज होगी। इससे किसी प्रकार की धोखाधड़ी या उनके अकाउंट का दुरूपयोग भी नहीं होगा। इसके साथ ही यूजर्स के लिए इससे सुरक्षा और भी बढ़ेगी, जिससे उन्हें पता चलेगा कि गाड़ी सही व्यक्ति द्वारा चलाई जा रही है या नहीं। हमें विश्वास है कि ये नई शुरूआत हमारे राइडर्स और ड्राइवर्स दोनों के लिए सुरक्षित व सुविधाजनक साबित होगी।

बता दें कि इस फीचर की घोषणा सबसे पहले पायलट प्रोजेक्ट के रूप में पिछले साल सितंबर में की गई थी। कंपनी का कहना है कि उनका ये पायलट प्रोजेक्ट सफल रहा है, जिसमें उन्होंने लगभग 99 प्रतिशत ड्राइवर्स की वेरिफिकेशन प्रक्रिया की है, जिसमें केवल चंद सेंकंड्स का ही समय लगता है। ऊबर पिछले कुछ समय से भारत में अपनी राइड्स को और भी सुरक्षित बनाने के लिए काम कर रही है। जिसके तहत ही अब यूजर्स को राइड से पहले ड्राइवर द्वारा राइड स्वीकार किए जाने के बाद डिस्प्ले पर ड्राइवर का नाम, फोटो, लाइसेंस प्लेट नंबर और रेटिंग आदि की जानकारी आ जाती है। इसके साथ ही कंपनी द्वारा SOS की सुविधा भी शुरू की गई है, जिससे इमेरजेंसी की स्थिति में राइडर्स सीधा पुलिस कंट्रोल रूम या ऊबर की इंटरनल रिस्पॉन्स टीम के साथ जुड़ सकते हैं।

एक ऐसा एंडॉयड ऐप जो बताएगा, आखिरी बार किसने किया था आपके फोन का इस्तेमाल, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App