ताज़ा खबर
 

रिपोर्ट: अगले साल भारत में बिकेंगे 30 करोड़ से ज्‍यादा मोबाइल

स्मार्टफोन और स्मार्ट-फीचर फोन श्रेणी में मजबूत वृद्धि के कारण साल 2019 में 30.2 करोड़ से अधिक मोबाइल हैंडसेट की बिक्री का अनुमान है।

Author नई दिल्ली | Published on: December 19, 2018 9:48 AM
फाइल फोटो

स्मार्टफोन और स्मार्ट-फीचर फोन श्रेणी में मजबूत वृद्धि के कारण साल 2019 में 30.2 करोड़ से अधिक मोबाइल हैंडसेट की बिक्री का अनुमान है। टेक्नोलॉजी रिसर्च कंसलटिंग फर्म टेकएआरसी के अध्ययन के मुताबिक, श्याओमी के 2019 में भी स्मार्टफोन बाजार में अग्रणी रहने की उम्मीद है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 30.2 करोड़ मोबाइल हैंडसेट में 14.9 करोड़ (49.3 फीसदी) स्मार्टफोन्स, 5.5 करोड़ (18.2 फीसदी) स्मार्ट फीचर फोन्स और बाकीर 9.8 करोड़ (32.5 फीसदी) फीचर फोन शामिल होंगे।

टेकएआरसी के संस्थापक और मुख्य विश्लेषक फैसल काबूसा ने एक बयान में कहा, “साल 2019 में बड़े पैमाने पर लोग अपने पहले 4जी स्मार्टफोन्स को बदलेंगे, जो उन्होंने साल 2015-17 में खरीदे थे। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगले साल जिन ब्रांड्स की बिक्री साल 2018 की तुलना में अधिक होगी, उनमें श्याओमी, वनप्लस, गूगल, नोकिया, एसुस और रियलमी शामिल हैं। रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि अगले साल सैमसंग, ओप्पो, वीवो और ऑनर-हुआवेई की बिक्री सपाट रहेगी और उनका प्रदर्शन लगभग 2018 जैसा ही होगा।

18 दिसंबर को ही देश की प्रमुख मोबाइल विनिमार्ताओं में शुमार माइक्रोमैक्स इन्फोरमैटिक्स लिमिटेड ने मंगलवार को अपनी पहलह नॉच सीरीज का स्मार्टफोन लांच किया है। इस सीरीज में दो वैरिएंट में लांच किए गए स्मार्टफोन इनफिनिटी एन-11 और एन-12 की कीमतें क्रमश: 8,999 रुपये और 9,999 रुपये है। दोनों फोन 26 दिसंबर से देशभर के स्टोर में उपलब्ध होंगे।

इससे पहले चीन के स्मार्टफोन ब्रांड ओप्पो ने भी भारत में अपना पहला भारतीय अनुसंधान एवं विकास (आरएंडडी) केंद्र खोला। आरएंडडी केंद्र भारत में रोमांचक नवाचार और उन्नत प्रौद्योगिकियों को लाने में योगदान देगा। आरएंडडी विश्वस्तर पर चीनी कंपनी का चौथा केंद्र है और चीन के बाहर दूसरा सबसे बड़ा केंद्र है। ओप्पो ने अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी में आरएंडडी को हमेशा अधिक महत्व दिया है और कंपनी भारत में इस केंद्र के माध्यम से अपनी वैश्विक स्थिति का निर्माण करने पर ध्यान दे रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 चैट्स में इमोजी का करते हैं इस्‍तेमाल तो अनजाने में ढीली हो रही आपकी जेब, जानिए कैसे
2 ‘सिर्फ साढ़े 3 हजार रुपये में इंटरनेट पर बेची जा रही आपकी निजी जानकारी’
3 WhatsApp Chat का बैकग्राउंड बदलना है? जान लें यह ट्रिक
जस्‍ट नाउ
X