Police registered case against Airtel for stealing electricity from rival BSNL in Kargil of Jammu and Kashmir - करगिल में एयरटेल पर लगा BSNL की बिजली चुराने का आरोप, केस दर्ज - Jansatta
ताज़ा खबर
 

करगिल में एयरटेल पर लगा BSNL की बिजली चुराने का आरोप, केस दर्ज

पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि एयरटेल के खिलाफ करगिल पुलिस स्टेशन में इलेक्ट्रिसिटी एक्ट के सेक्शन 95 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है और छानबीन की जा रही है। इसी दौरान इस मामले में एयरटेल से ई-मेल के जरिए सवाल भी पूछे गए, लेकिन उस बारे में किसी भी तरह का जवाब अभी तक नहीं मिला।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (फोटो सोर्स- एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

टेलीकॉम जायंट कंपनी एयरटेल बड़ी मुश्किल में फंसते नजर आ रही है। दरअसल, जम्मू कश्मीर पुलिस ने एयरटेल के खिलाफ बिजली चुराने का केस दर्ज किया है। एयरटेल के ऊपर उसकी विरोधी कंपनी बीएसएनएल ने जम्मू कश्मीर के करगिल में बिजली चोरी करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने जानकारी दी कि बीएसएनएल की शिकायत के बाद एयरटेल के खिलाफ बिजली चोरी करने के आरोप में केस दर्ज किया गया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘तीन अगस्त 2018 को बीएसएनएल की तरफ से हमें लिखित शिकायत मिली थी, जिसमें कहा गया था कि करगिल में बीएसएनएल के मोबाइल टावर में लगे ट्रांसफॉर्मर से एयरटेल के टावर बिजली चुरा रहे हैं।’

पीटीआई के मुताबिक करगिल के एसएसपी टी ग्याल्पो ने इस मामले की जांच करने के लिए एक टीम का गठन किया है। यह टीम करगिल डिप्टी एसपी इश्त्याक ए काचो के नेतृत्व में छानबीन करेगी और इस काम में पीडीडी कारगिल के कार्यकारी अभियंता मोहम्मद अल्ताफ भी मदद करेंगे।

पुलिस के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि बीएसएनएल द्वारा बताए गए इलाके में जाकर टीम ने छानबीन की और देखा कि एयरटेल के टावर बीएसएनएल के टावर से अवैध रूप से जुड़े हुए हैं। प्रवक्ता ने कहा, ‘स्पॉट का दौरा करने पर हमारी टीम ने पाया कि एयरटेल के टावर बीएसएनएल के ट्रांसफॉर्मर्स से एक केबल के जरिए अवैध तरीके से जुड़े हुए हैं और एयरटेल सही में अवैध तरीके से बीएसएनएल के टावर में हो रही बिजली सप्लाई से बिजली ले रहा है।’ पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि एयरटेल के खिलाफ करगिल पुलिस स्टेशन में इलेक्ट्रिसिटी एक्ट के सेक्शन 95 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है और छानबीन की जा रही है। इसी दौरान इस मामले में एयरटेल से ई-मेल के जरिए सवाल भी पूछे गए, लेकिन उस बारे में किसी भी तरह का जवाब अभी तक नहीं मिला।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App