scorecardresearch

5G In India: पीएम नरेंद्र मोदी एक अक्‍टूबर को 5जी लॉन्‍च तो कर रहे, पर आपको कब तक म‍िल सकेगी सर्व‍िस, जान‍िए

5G Launching, 5G Service Launch Date In India: Reliance Jio ने अगस्त में जानकारी दी थी कि देश के चार मेट्रो शहरों में दिवाली पर 5G नेटवर्क रोलआउट किया जाएगा।

5G In India: पीएम नरेंद्र मोदी एक अक्‍टूबर को 5जी लॉन्‍च तो कर रहे, पर आपको कब तक म‍िल सकेगी सर्व‍िस, जान‍िए
भारत में 5जी लॉन्चिंग, 5G Launching in India: PM Narendra Modi 1 अक्टूबर को देश में 5G Services लॉन्च करेंगे। (फोटो- Freepik)

Pm Narendra Modi To Launch 5g Services: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1 अक्टूबर 2022 को देश में 5G Sevices का आगाज करेंगे। शनिवार से देश के चुनिंदा शहरों में 5G नेटवर्क रोलआउट होने लगेगा। इसके अलावा पीएम मोदी India Mobile Congress 2022 के छठवें एडिशन का उद्घाटन भी करेंगे। शुक्रवार को सरकार ने आधिकारिक तौर पर इस जानकारी की पुष्टि कर दी।

मिनिस्ट्री ऑफ कम्युनिकेशन्स ने एक बयान में कहा, ‘पीएम मोदी द्वारा चुनिंदा शहरों में 5G लॉन्च किए जाने के बाद, अगले दो सालों में पूरे देश में 5G नेटवर्क उपलब्ध करा दिया जाएगा।’ बयान में आगे कहा गया कि देश में 5G आने के बाद नए आर्थिक अवसर पैदा होंगे और भारतीय समाज के लिए ट्रांसफॉर्मेशनल फोर्स (परिवर्तनकारी शक्ति) होने की क्षमता के चलते इसके बहुत सारे सामाजिक फायदे भी होंगे। 2035 तक 5G के आर्थिक प्रभाव भारत के लिए 450 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है।

यह देश को विकास की पारंपरिक बाधाओं को दूर करने, स्टार्टअप्स और व्यावसायिक उद्यमों द्वारा नवाचारों को बढ़ावा देने के साथ-साथ ‘डिजिटल इंडिया’ के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने में मदद करेगा।

Spectrum auctions (स्पेक्ट्रम नीलामी)

पिछले महीने ही देश में अब तक की सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम नीलामी हुई। सात दिन तक करीब 40 से ज्यादा राउंड में सरकार ने 1.5 लाख करोड़ के स्पेक्ट्रम की बोली लगाई। शुरुआत में उम्मीद की गई थी स्पेक्ट्रम नीलामी की प्रक्रिया तीन दिन में पूरी कर ली जाएगी।

सरकार ने 72GHz में से कुल 51.2 GHz के स्पेक्ट्रम बेचे। स्पेक्ट्रम नीलामी की प्रक्रिया पूरी होने के समय यूनियन मिनिस्टर ऑफ कम्युनिकेशन्स अश्विना वैष्णव ने कहा था कि देश में सभी सर्किल को कवर करने के लिए बेचे गए स्पेक्ट्रम ‘पर्याप्त’ हैं। अगले दो-तीन साल में 5G की ‘बढ़िया कवरेज’ होने का अनुमान भी है।

दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को 1,50,173 करोड़ रुपये के सकल राजस्व के साथ 51,236 मेगाहर्ट्ज आवंटित किया गया था। नीलामी ने एक मजबूत 5जी इको-सिस्टम तैयार करने की आवश्यकता पर जोर दिया था, ताकि आईओटी, एम2एम, एआई, एज कंप्यूटिंग, रोबोटिक्स आदि से जुड़े इसके इस्तेमाल से संबंधित जरूरतों को पूरा कर सके।

Service rollout

सरकार ने अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया है कि पीएम मोदी किन शहरों के लिए 5G सर्विस लॉन्च करेंगे। लेकिन टेलिकॉम कंपनियों ने यह खुलासा कर दिया है कि वे अपने नेटवर्क पर किस तरह 5G नेटवर्क रोलआउट करेंगी।

रिलायंस जियो, 5G स्पेक्ट्रम नीलामी में सबसे बड़ी बोली लगाने वाली कंपनी बना और इसने 88,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की बोली लगाई। अगस्त में कंपनी ने कहा थी दिवाली पर इस साल जियो अपने 5G नेटवर्क को दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता जैसे मेट्रो शहरों में रोलआउट कर देगी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज की 45वीं सालाना जनरल मीटिंग में रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने अपने संबोधन में कहा था कि 2023 तक देश के हर कसबे, हर गांव और तहसील में Jio 5G Network रोलआउट कर दिया जाएगा।

5G स्पेक्ट्रम नीलामी में दूसरी सबसे बड़ी बोली लगाने वाला एयरटेल ने भी 2023 के आखिर तक सभी शहरी इलाकों में अपने नेटवर्क पर 5G सर्विस उपलब्ध कराने का ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही कंपनी ने जानकारी दी थी कि मार्च, 2024 तक देश के सभी कसबों और ग्रामीऩ इलाकों में 5G नेटवर्क रोलआउट कर दिया जाएगा।

नीलामी में तीसरे नंबर पर रहने वाली वोडाफोन आइडिया (Vi) ने अभी तक आधिकारिक तौर पर अपने 5G लॉन्च प्लान का ऐलान नहीं किया है। वहीं नीलामी की रेस में चौथी कंपनी Adani Data Networks थी जो अडानी ग्रुप की एक कंपनी है। इसने साफ कर दिया है कि कंपनी फिलहाल आम उपभोक्ताओं के लिए 5G सर्विस जारी नहीं करेगी और अभी सिर्फ एंटरप्राइज़ पर ही फोकस किया जाएगा।

पढें टेक्नोलॉजी (Technology News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 30-09-2022 at 02:52:58 pm
अपडेट