ताज़ा खबर
 

सिम को आधार से जोड़ने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं, एक दिसंबर से नई व्यवस्था

Link Aadhar Card with Mobile Number Online: टेलिफोन सर्विस प्रोवाइडर्स से कहा गया है कि सभी वॉइस चैनल्स पर सुरक्षा के पूरे इंतजाम रखें। यह पूरा प्रोसेस ऑटोमैटिक होना चाहिए।

यूआईडीएआई का कहना है कि आईवीआर पर भाषा इंग्लिश, हिंदी समेत दूसरी क्षेत्रीय भाषाओं में भी होगी।

सिम को अपने आधार नंबर से लिंक करना जरूरी कर दिया गया है। 6 फरवरी 2018 तक सभी मोबाइल यूजर्स को अपने नंबर को आधार से लिंक कराना है। इसके लिए अभी यूजर को टेलिफोन सर्विस प्रोवाइडर के सेंटर पर जाना पड़ता है। अब एक नई व्यवस्था लागू होने वाली है। अब सिम को आधार से जोड़ने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। एक दिसंबर से नई व्यवस्था लागू होने वाली है।

आपका नंबर जिस कंपनी का है उसकी वेबसाइट पर जाकर अपना मोबाइल नंबर डालना है। इसके बाद मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा। अब इसे वेबसाइट पर डालना है। याद रहे कि वो मोबाइल नंबर आपके पास ही होना चाहिए जो आपके आधार नंबर के साथ रजिस्टर है। इसके बाद वेबसाइट पर एक मैसेज आएगा और यहां आधार नंबर डालना होगा। इसके बाद UIDAI (आधार) की तरफ से एक ओटीपी आएगा। अब इस ओटीपी को वेबसाइट पर आ रहे ओटीपी के बॉक्स में डालना होगा। इसे डालने के बाद आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक हो जाएगा।

इसके अलावा कंपनी के आईवीआर सिस्टम के माध्यम से भी अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिकं किया जा सकता है। इसके लिए कंपनी के कस्टमर केयर पर कॉल करना होगा। यहां आपको आधार से मोबाइल नंबर को लिंक करने का ऑप्शन सिलेक्ट करना है। यहां से भी लिंक करने के लिए आधार के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। ओटीपी को आईवीआर पर डालना होगा और मोबाइल नंबर आधार से लिंक हो जाएगा। यूआईडीएआई का कहना है कि मोबाइल नेटवर्क कंपनियों आईवीआर पर इंग्लिश, हिंदी समेत दूसरी क्षेत्रीय भाषाएं भी होंगी।

टेलिफोन सर्विस प्रोवाइडर्स से कहा गया है कि सभी वॉइस चैनल्स पर सुरक्षा के पूरे इंतजाम रखें। यह पूरा प्रोसेस ऑटोमैटिक होना चाहिए। सुरक्षा बिल्कुल बैंकों के आईवीआर की तरह ही होनी चाहिए। यूआईडीएआई का कहना है कि टेलिफोन सर्विस प्रोवाइडर्स ने सुनिश्चित किया है कि आधार नबर को ऑपरेटर्स और कस्टमर रिलेशनशिप एग्जीक्यूटिव्स एक्सेस नहीं कर पाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App