ताज़ा खबर
 

अपने स्मार्टफोन से तुरंत अनइंस्टॉल कर दीजिए ये ऐप्स, पाकिस्तान कर रहा है इनसे अापका डेटा चोरी

सिर्फ गूगल प्ले स्टोर और iOS से ही इंस्टॉल करें एेप्स।

चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

स्मार्टफोन यूजर्स को अपने स्मार्टफोन से ये ऐप्स हटा देने चाहिए क्योंकि इनके जरिए कोई भी अापके स्मार्टफोन से अापके पर्सनल डेटा को चुरा सकता है। कुछ समय पहले सरकार ने भी हिदायत दी थी यूजर्स के फोन में Top Gun, Mpjunkie, Bdjunkie और Talking Frog नाम के ऐप्स है तो जल्दी से उन्हें हटा दें। ऐसा भी माना जा रहा है कि इन ऐप्स की मदद से पाकिस्तान जासूसी कर रहा है। इससे साइबर फ्रॉड का भी खतरा है। ये सभी ऐप्स अलग-अलग लोगों ने डिवेलप किए हैं। इनमें Top Gun गेम ऐप है। Mpjunkie म्यूजिक ऐप है। Bdjunkie वीडियो ऐप है और Talking Frog एंटरटेनमेंट ऐप है।

सरकार ने जिन ऐप्स हटाने की बात कही थी उनमें से कोई भी गूगल प्ले स्टोर या iOS पर मौजूद नहीं है। सिर्फ Talking Frog नाम से 2 ऐप प्ले स्टोर पर सर्च होते हैं। और टॉप गन नाम से सिर्फ एक एेप सर्च होता और यह वह नहीं है जिसे सरकार ने फोन से हटाने की बात कही थी। बाकी अन्य ऐप्स मोबाइल में Apk फाइल की मदद से इंस्टॉल किए जाते हैं यह ऐप्स गूगल प्ले स्टोर औऱ अाईओएस पर उपलब्ध नहीं है। ऐसे में यूजर के स्मार्टफोन का पर्सनल डाटा चोरी होने का खतरा बढ़ जाता है।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स : इन ऐप्स पर आईटी एक्सपर्ट का कहना है कि सभी थर्ड पार्टी ऐप्स हैं जिन्हें Apk फाइल की मदद से फोन में इंस्टॉल किया जाता है। थर्ड पार्टी ऐप्स पर विश्वास नहीं किया जा सकता है। जब स्मार्टफोन पर इन ऐप्स को इंस्टॉल किया जाता है तब परमिशन या सिक्युरिटी का मैसेज भी आता है। यानी यूजर इन्हें अपनी रिस्क पर इंस्टॉल करता है। ऐसे ऐप्स की मदद से हैकर्स आपके स्मार्टफोन में वायरस डाल सकते हैं। साथ ही, फोन में मौजूद आपका पर्सनल डाटा या अन्य जानकारी चोरी कर सकते हैं।

अभी सिर्फ कुछ ही ऐप्स के बारे में पता चला है। ऐसा भी हो सकता है इन ऐप्स की संख्या 10, 100 या फिर उससे कहीं ज्यादा हो। थर्ड पार्टी ऐप की मदद से हैकर्स आपके स्मार्टफोन के अंदर आसानी से घुस सकते हैं। यानी ऐसे यूजर्स जो फोन पर मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, वॉलेट ऐप्स का इस्तेमाल कर रहे हैं तो वो ये सभी डिटेल चुरा सकता है। हैकर्स आपका पासवर्ड, मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट नंबर या ऐसी ही जरूरी जानकारी चोरी करके उनका गलत इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसे में सस्पेक्टेड ऐप्स की मदद से आपकी ये डिटेल लीक हो सकती है। कई ऐप्स तो यूजर की टाइपिंग और अन्य एक्टिविटी पर भी नजर रखते हैं।

एेसे बच सकते हैं अाप : थर्ड पार्टी, Apk फाइल या फालतू के ऐप्स कभी इंस्टॉल न करें। ऐप स्टोर से ही ऐप इंस्टॉल करें। ऐप इंस्टॉल करते वक्त यदि सिक्युरिटी से जुड़ा मैसेज आ रहा है, तब सावधान हो जाएं। अपने स्मार्टफोन को हमेशा अपडेट रखें साथ ही ऐप्स को अपडेट रखें।विंजोड फोन यूजर अपने फोन में एंटीवायरस का यूज करें। ब्लूटूथ या वाईफाई पर ऐप ट्रांसफर न करें। जितना हो सके पासवर्ड कठिन बनाएं।

एक ऐसा एंडॉयड ऐप जो बताएगा, आखिरी बार किसने किया था आपके फोन का इस्तेमाल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App