ताज़ा खबर
 

ये एेप्लिकेशन बताएंगे कि आपके WiFi को कौन हैक करने की कोशिश कर रहा है

इन कुछ एेप्स की सहायता से वाईफाई को हैक होने से बचाया जा सकता है।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

वाईफाई हैकिंग एक बहुत ही बड़ी समस्या है। कई लोग वाईफाई हैक करना चाहते हैं, तो वहीं दूसरे हैक होने से बचना चाहते हैं। लेकिन क्या सच में वाईफाई को हैक किया जा सकता है? बता दें कि वाईफाई को हैक किया जा सकता है और साथ ही हैक होने से बचाया भी जा सकता है। आगे हमने ऐसे ही कुछ एप्लिकेशन की जानकारी दी है जिनका उपयोग वाईफाई को हैक होने से बचाने के ​लिए किया जा सकता है।

वाईफाई किल: यह एेप दूसरों को वाईफाई से जुड़ने से रोकने में मदद करता है। अगर आप किसी पब्लिक वाईफाई का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इस एेप की मदद से आप कनेक्टिविटी को तेज करने के लिए दूसरों को इस सेवा से जुड़ने से रोक सकते हैं। इतना ही नहीं यह एेप आपके स्मार्टफोन के लिए भी काफी अच्छा है। बता दें कि पब्लिक वाईफाई नेटवर्क में सुरक्षा संबंधित कई खामियां होती हैं। साथ ही वहां से वायरस आने का खतरा भी ज्यादा होता है। ऐसे में इस ऐप की मदद से आपके आसपास जो लोग पब्लिक वाईफाई का इस्तेमाल करते हैं तो यह एप उन्हें रोकता है। वाईफाई किल सिर्फ रूट किए गए स्मार्टफोन के साथ काम करता है।

वाईफाई इंस्पेक्ट: वाईफाई इंस्पेक्ट का इस्तेमाल खास तौर पर आईटी प्रोफेशनल्स करते हैं। इस एेप की मदद से आईटी प्रोफेशनल्स नेटवर्क पर होने वाली हैकिंग एक्टिविटी को मॉनिटर करते है। इस एेप की मदद से आपको जानकारी मिलती है कि कहीं कोई आपके नेटवर्क में सेंध लगाने की कोशिश तो नहीं कर रहा है। इतना ही नहीं इसके एक समय में नटवर्क यूजर्स की संख्या को भी मैनेज करने में मदद करता है। इसको हैकिंग टूल के बदले सिक्योरिटी ऑडिट टूल कहा जाता है।

जांती पैनेट्रेशन टेस्टिंग एंड्राइड हैकिंग टूलकिट: यह एेप दोनों एंड्राइड हैकिंग टूलकिट वाईफाई की सुरक्षा और हैक के लिए है। जांती पैनेट्रेशन टेस्टिंग एंड्राइड हैकिंग टूलकिट सबसे पहले यह जानकारी देगा कि आपके वाईफाई पर किसने अटैक किया है और अटैकर की पहचान बताने में मदद करता है। इस एेप का इस्तेमाल कॉर्पोरेट मैनेजमेंट की ओर से किया जाता है। आईटी प्रोफेशनल इसकी मदद से पता कर सकते हैं कि कौन आपकी सुरक्षा में सेंध लगा रहे है।

फिंग नेटवर्क टूल: फिंग नेटवर्क टूल वाईफाई यूज करते समय इंटरफेस को तेज करता है। यह एेप आपके वाईफाई नेटवर्क को एनलाइज करने में मदद करता है। फिंग नेटवर्क टूल के साथ ही यह आपको यह भी जानकारी देता है कि आपके वाईफाई से कौन सा नेटवर्क और कौन—कौन से यूजर कनेक्टेड हैं। आईटी प्रोफेशनल फिंग नेटवर्क टूल का इस्तेमाल वाईफाई में सेंध लगाने वालों का पता करने के लिए भी करते हैं।

नेटवर्क मैपर: अगर हम वाईफाई प्रोटेक्टर एेप और हैकर की बात करे तो यहां पर एनमैप फोर एंड्रॉइड के बारे में बताना भी जरूरी है। नेटवर्क मैपर यूजर को नेटवर्क और पोर्ट को स्कैन करने में मदद करता है। शुरुआत में इसे सिर्फ यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए लॉन्च किया गया था लेकिन बाद में यह एंड्रॉइड और विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए भी उपलब्ध हो गया है।

Tech से जुड़ी ज्यादा खबरों के लिए यहां क्लिक करें।

रिलायंस जियो प्राइम ऑफर: 99 रुपए में मिलेगी मेंबरशिप, जानिए ऑफर के बारे में, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App