ताज़ा खबर
 

आप गूगल प्ले स्टोर पर ऐसे पहचान सकते हैं कि एेप फेक है या सही

Google play store पर आपने अक्सर देखा होगा कि एक ही नाम से कई सारे एेप्स होते हैं।

Author Published on: March 19, 2017 11:35 AM
फेक एेप्स आपकी डिवाइस में मौजूद पर्सनल जानकारी का गलत इस्तेमाल भी कर सकते है।

सभी स्मार्टफोन यूजर्स के लिए गूगल प्ले स्टोर एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्लेटफॉर्म है। जब भी हमें किसी एेप को डाउनलोड करने या अपडेट करने की जरूरत पड़ती है तो हम सीधे गूगल प्ले स्टोर पर जाकर करते हैं। वहीं, गूगल प्ले स्टोर पर आपने अक्सर देखा होगा कि एक ही नाम से कई सारे एेप्स होते हैं। ऐसे में यह तय करना मुश्किल होता है कि कौन सी फेक है और कौन सी ओरिजनल। फेक एेप को डाउनलोड करने से आपका समय और डाटा तो बर्बाद होता ही है, साथ ही यह आपको स्मार्टफोन के लिए भी रिस्की हो सकती है। इतना ही नहीं इनमें से कुछ एेप में वायरस भी होता है, जो आपकी डिवाइस में मौजूद पर्सनल जानकारी का गलत इस्तेमाल भी कर सकती है। अगर आप ऐसे एेप से बचना चाहते हैं तो आपको जानना होगा कि कौन सी एेप असली है और कौन सी नकली।

पब्लिशर को चेक करें: यूजर्स को एेप के पब्लिशर का ध्यान रखना चाहिए। सबसे पहले आप यह देखें कि इस एेप का पब्लिशर कौन है। कई बार फेक एेप के पब्लिशर का नाम भी ओरिजनल एेप जैसा ही होता है। कई बार हैकर्स उन्हीं नाम को हल्का सा ट्वीस्ट करके या उन्हें ही डाल देते हैं। जिससे लोग धोखा खा जाते हैं और गलत एेप डाउनलोड कर लेते है। इसलिए आपको उनका नाम सही से पढ़ना चाहिए।

कस्टमर रिव्यू पढ़ें : एेप चाहे फेक हो या रियल, हर तरह की एेप डाउनलोड करने से पहले कस्टमर्स के रिव्यू जरूर पढ़े। अगर एेप डाउनलोड करने से किसी भी तरह का नुकसान होता है तो इस बारे में रिव्यू में जरूर पढ़ने को मिल जाएगा। रिव्यू में अगर एेप के बारे में नेगेटिव बातें लिखी हैं तो समझ जाइए यह ओरिजनल एेप नहीं है।

एेप को जारी करने की तिथि : अधिकतर समय देखने में आया है कि फेक एेप की पब्लिश डेट थोड़े ही दिन पहले की होती है। अगर डेट बहुत पहले की है तो उसे डाउनलोड न करें। अगर हाल ही में एेप को जारी किया गया है तो उससे जुड़ी खबरों को टेक वेबसाइट पर पढें। अगर कोई खबर नहीं है तो उस एेप को भूल से भी डाउनलोड न करें।

स्पेलिंग में गलती : फेक एेप में स्पेलिंग की गल्तियां जरूर होती हैं। इन एेप को कॉपी करके बनाया जाता है और इस चक्कर में इनमें बहुत हल्का सा अंतर करने के लिए स्पेलिंग की गलती की जाती है जो कि यूजर की नजर में आसानी से नहीं आ पाती।

Tech से जुड़ी ज्यादा खबरों के लिए यहां क्लिक करें।

ASUS ने मार्केट में उतारा अपना नया स्मार्टफोन ZENFONE 3S MAX, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 JIO, Airtel, Idea, Vodafone और BSNL में आपके लिए सबसे अच्छा डाटा और अनलिमिटेड कॉलिंग प्लान किसका?
2 अपने खराब ईयरफोन को भी बना सकते हैं आप वायरलैस, जानें क्या हैं इसे बनाने के टिप्स
3 Jio को टक्कर देने के लिए Idea का बड़ा एेलान, 2G के रेट में ही बेचेगी 3G और 4G डेटा पैक
जस्‍ट नाउ
X