ताज़ा खबर
 

60 हजार में बिकने वाले iPhone 7 को बनाने में आता है 15 हजार का खर्च

एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में आईफोन 7 (32 जीबी वैरिएंट) की कीमत 60 हजार रुपए है, जोकि मैन्यूफैक्चरिंग खर्च से 4 गुना ज्यादा है।
एप्पल ने आईफोन 7 को 32 जीबी के बेस वैरिएंट में उतारा है। जिसकी कीमत 649 डॉलर ( भारत में 60 हजार रुपए में) रखी है।

7 सितंबर को लॉन्च हुए एप्पल का नए आईफोन 7 की बिक्री कई देशों में शुरू हो चुकी है। एप्पल के स्टोर्स पर इसे खरीदने के लिए लोग लंबी-लंबी लाइनों में लगे हैं। भारत में यह फोन 7 अक्टूबर से मिलना शुरू होगा। हालांकि यहां हम आईफोन को खरीदने के लिए लोगों के उतावलेपन की बात नहीं करेंगे। यहां हम आपको बताएंगे इसे बनाने में कंपनी को आने वाले खर्च के बारे में। एक रिपोर्ट के मुताबिक Apple Inc को नए आईफोन 7 की मैन्यूफैक्चरिंग में iPhone 6S के मुकाबले ज्यादा खर्च करना पड़ रहा है। मगर क्या आप जानते हैं कि असल में कितना खर्च आता है एक आईफोन 7 को बनाने में-

15 हजार में बनता है iPhone 7 :

IHS Markit Ltd की रिपोर्ट के मुताबिक आईफोन 7 को बनाने में 224.80 डॉलर (करीब 15 हजार रुपए) का खर्च आता है। यह कीमत iPhone 6S के निर्माण में आने वाले खर्च से 36.89 डॉलर ज्यादा है। भारत में आईफोन 7 (32 जीबी वैरिएंट) की कीमत 60 हजार रुपए है, जोकि मैन्यूफैक्चरिंग खर्च से 4 गुना ज्यादा है। पिछले साल लॉन्च हुआ आईफोन 6S की प्रोडक्शन लागत कीमत 13,402 थी।

आईएचएस मार्किट के कॉस्ट बेंचमार्किंग सर्विस के सीनियर डायरेक्टर एंड्रयू रेसविलर ने बताया, “आईफोन 7 का बिल ऑफ मैटिरियल (BOM) एप्पल की प्रतिद्वंदि कंपनी सैमसंग के फ्लैगशिप स्मार्टफोन BOM के बराबर ही है। लेकिन वह सैमसंग से ज्यादा मुनाफा कमा रही है।” बिल ऑफ मैटिरियल (BOM) फोन को बनाने में इस्तेमाल होने वाले रॉ मैटेरियल के खर्च को कहा जाता है।

Read Also: चीन में कुत्ते के लिए खरीद डाले आठ iPhone 7 स्मार्टफोन!

कंपनी के दूसरे स्मार्टफोन आईफोन 7 प्लस के बारे में रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। बता दें कि एप्पल ने आईफोन 7 को 32 जीबी के बेस वैरिएंट में लॉन्च किया है। कंपनी ने इसकी कीमत 649 डॉलर ( भारत में 60 हजार रुपए में) रखी है। नए आईफोन 7 और आईफोन 7 प्लस में हेडफोन जैक नहीं दिए गए हैं। इसके लिए कंपनी ने नया वायरलेस हेडफोन लॉन्च किया है, जिसे एयरपॉड नाम दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.