ताज़ा खबर
 

बाबा रामदेव की पतंजलि वालों के लिए BSNL का स्‍वदेशी सिम कार्ड, सस्ते में अनलिमिटेड कॉल, रोजाना 2 GB डेटा और 100 SMS

Patanjali SIM cards: बाबा रामदेव ने कहा कि सरकारी स्वामित्व वाली बीएसएनएल एक 'स्वदेशी नेटवर्क' है और पतंजलि और बीएसएनएल दोनों का उद्देश्य देश का कल्याण है।

पतंजलि के एम्पलॉयीज को यह सिम आसानी से मिल जाएगा। साथ ही इसे एक्टिवेट कराने के लिए अपनी आईडी देनी होगी।

बाबा रामदेव ने स्वेदशी को बढ़ावा देते हुए टेलिकॉम सेक्टर में नई पहल की है। बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने देसी टेलिकॉम कंपनी BSNL के साथ करार किया है। इस करार के तहत बीएसएनएल पतंजलि को सस्ते में मोबाइल सुविधाएं उपलब्ध कराएगी। इसके तहत पतंजलि के मुख्य संगठन-भारत  स्वाभिमान न्यास, पतंजलि योग समिति, महिला प्रकोष्ठ, युवा भारत, पतंजलि किसान सेवा के कार्यकर्ताओं के साथ-साथ पतंजलि स्वदेशी समृति कार्ड धरकों को देश की पूर्ण  स्वदेशी टेलीकाॅम कम्पनी ‘बीएसएनएल’ कम शुल्क पर प्लान उपलब्ध कराएगी। उक्त प्लान के अन्तर्गत बीएसएनएल 144 रुपए के प्लान में सभी नेटवर्क  पर अनलिमिटेड काॅलिंग, रोजाना 2GB डेटा, कोई रोमिंग चार्ज  नहीं तथा 100SMS रोजाना करने की सुविधा मुहैया कराएगी। पतंजलि के एम्पलॉयीज को यह सिम आसानी से मिल जाएगा। इसे एक्टिवेट कराने के लिए उन्हें अपनी आईडी देनी होगी।

इस मौके पर बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि के 5000 से ज्यादा केन्द्रों, 600 जिलों, 5000 तहसीलों तथा 1 लाख से ज्यादा गांव में फैले हमारे कार्यकर्ताओं  के माध्यम से पतंजलि स्वदेशी कंपनी पूरी तरह से स्वदेशी नेटवर्क  बीएसएनएल को प्रचारित-प्रसारित करेगी। हमारा उद्देश्य टेलीकाॅम क्षेत्र की प्रतिस्पर्धा  में पूर्ण  स्वदेशी कम्पनी को पूरी ताकत प्रदान करना है। यही नहीं  बीएसएनएल के 5 लाख काउण्टर पर पतंजलि स्वदेशी समृति कार्ड  उपलब्ध कराए जाएंगे।

बाबा रामदेव ने बताया कि स्वदेशी समृति कार्डधारकों को स्वदेशी के शुद्ध व प्रमाणिक उत्पादों पर 10 प्रतिशत की छूट मिलेगी। साथ ही कार्ड धारक का 5 लाख रुपए का दुर्घटना मृत्यु बीमा तथा स्थाई विकलांगता पर 2.5 लाख रुपए का बीमा मिलेगा। इससे लोगों की बचत तो होगी ही साथ ही देश की सेवा भी होगी। लॉन्च हुआ यह सिम कार्ड मात्रा एक सिम कार्ड नहीं है इससे हमारी देश के प्रति जो भावना है वह भी परिलक्षित होती है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि हमारे इस प्रयास से स्वदेशी से स्वावलम्बी राष्ट्र बनाने का हमारा अभियान पूर्ण होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App