ताज़ा खबर
 

Online Fraud होने पर गृह मंत्रालय के बताए इस नंबर पर करें कॉल, ये है 6 अंकों का नंबर

Online Fraud: सरकार ने साइबर फ्रॉड से होने वाले आर्थिक नुकसान से लोगों को बचाने के लिए एक नेशनल हेल्पलाइन नंबर जारी किया है।

दुनिया में कई देशों द्वारा Pegasus Spyware का इस्तेमाल किया जा रहा है (फोटोः द इंडियन एक्सप्रेस)

Online Fraud: भारत में बीते एक साल के दौरान ऑनलाइन फ्रॉड के मामले में इजाफा हुआ है। सेकेंड हैंड फोन, सस्ते ऑफर और नौकरी आदि का झांसा देकर कई मासूम लोग इस फर्जीवाड़े के चक्कर में पड़ जाते हैं। इसके बाद अक्सर लोगों को एक समस्या का सामना करना पड़ता है कि कहां कॉल करें। इस सवाल का जवाब आ गया है।

दरअसल, केंद्रिय गृह मंत्रालय ने नेशनल हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, जिसकी मदद से यूजर्स कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज कर सकता है। यह हेल्पलाइन सिर्फ साइबर फ्रॉड के कारण आर्थिक नुकसान के होने पर इस्तेमाल करें। इसको लेकर ANI ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया है।

केंद्र सरकार की ओर से जारी नेशनल हेल्पलाइन नंबर 155260 है। डिजिटल फ्रॉड या साइबर क्राइम की घटना होने पर इस हेल्पलाइन नंबर पर तुरंत कॉल करना होगा और फ्रॉड से संबंधित शिकायत दर्ज करानी होगी। इस पहल के चलते डिजिटल लेनदेन ज्यादा सुरक्षित हो सकेगा।

डिजिटल फ्रॉड का शिकार होने पर इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करना होगा। इसके बाद बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय के अंतर्गत आने वाला इंडियन साइबर क्राइम को-ऑर्डिनेशन सेंटर (I4C) सेंटर सक्रिय हो जाएगा। जहां से रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) संबंधित बैंक और ऑनलाइन पेमेंट प्लेटफॉर्म के पास तत्काल सूचना पहुंचेगी। इस तरह फ्रॉड की घटना का तत्काल प्रभाव से पता लगाया जा सकेगा और पीड़ित की समस्या का समाधान जल्दी होने की संभावना रहेगी।

लाइव मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार की मानें, तो इस हेल्पलाइन की मदद से बैंक और पुलिस दोनों को कनेक्ट करने में सहयोग मिलेगा और इससे इससे रियल टाइम एक्शन भी मदद मिलती है।

सात राज्यों में शुरू हुई हेल्पलाइन

नेशनल हेल्पलाइन नंबर की शुरुआत 7 राज्यों से हुई है, जो छत्तीसगढ़, दिल्ली, मध्यप्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश हैं। आने दिनों के अंदर इस सेवा को देश के अन्य राज्यों के लिए भी जारी किया जाएगा।

बताते चलें कि इसे गृह मंत्रालय की साइबर सेल की एक टीम ने तैयार किया है। वहीं जिन राज्यों में पहले से हेल्पलाइन नंबर चालू था, वहां इस हेल्पलाइन की मदद से 1.85 करोड़ रुपये साइबर अपराधियों से रिकवर किया जा चुका है।

Next Stories
1 WhatsApp पर पर्सनल चैट छिपाने के ये हैं 2 कमाल के फीचर, कोई नहीं पढ़ सकेगा सीक्रेट चैट
2 योग दिवस पर सांसदों को संबोधित करेंगी प्रज्ञा ठाकुर, कांग्रेस ने मोदी को याद दिलाया ‘मन से माफ नहीं कर पाऊंगा’
3 प्रचार गीत में अखिलेश को बताया ‘मुरलीधर’, भाजपा प्रवक्ता बोलीं- घोर कलियुग आ गया
ये पढ़ा क्या?
X