Postpaid Users पर पड़ सकती है मार! टेलीकॉम कंपनियां महंगे कर सकती हैं प्लान; Prepaid Tariffs के पहले ही बढ़ चुके हैं दाम

कपूर के मुताबिक, उन्हें उम्मीद है कि वीआई और एयरटेल प्रीपेड के साथ पोस्टपेड में कीमतों में वृद्धि करेंगे क्योंकि पोस्टपेड आधार अच्छी तरह से मजबूत है और यह रिलायंस जियो (Reliance Jio) की ताकत नहीं है।

mobile towers, postpaid connection, tech news
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

प्रीपेड टैरिफ (Prepaid Tariffs) के दाम बढ़ाने के बाद टेलीकॉम ऑपरेटर्स अब पोस्टपेड (Postpaid) यूजर्स को भी झटका दे सकती है। कहा जा रहा है कि वे इस सेगमेंट में दरें बढ़ाने पर विचार कर सकते हैं। सूत्रों के हवाले से कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि भारती एयरटेल (Bharti Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) के पोस्टपेड प्लान महंगे किए जा सकते हैं।

एक्सपर्ट्स की मानें तो टेलीकॉम कंपनियां प्लान महंगे करने में जितनी भी देर करेंगी, उनका नुकसान उतना ही बढ़ता जाएगा। “मुझे लगता है कि अगर पोस्टपेड दरों में वृद्धि नहीं की गई तो मुझे आश्चर्य होगा, इस तरह के टैरिफ में बढ़ोतरी होगी। वे इसमें बहुत देर क्यों करेंगे? इसमें ज्यादा देर करना उनके हित में नहीं है। यदि वे इसमें अधिक देरी करते हैं, तो वे केवल खुद को नुकसान पहुंचाते हैं, ”

प्रौद्योगिकी, मीडिया और दूरसंचार (टीएमटी) सलाहकार संजय कपूर ने हमारी सहयोगी वेबसाइट ‘दि फाइनैंशियल एक्सप्रेस’ को बताया, “मुझे लगता है कि अगर पोस्टपेड दरों में वृद्धि नहीं की गई तो मुझे आश्चर्य होगा, इस तरह के टैरिफ में बढ़ोतरी होगी। वे (कंपनियां) इसमें बहुत देर क्यों करेंगे? इसमें ज्यादा देर करना उनके हित में नहीं है। अगर वे इसमें अधिक देरी करते हैं, तो वे केवल खुद को नुकसान पहुंचाते हैं।”

कपूर के मुताबिक, उन्हें उम्मीद है कि वीआई और एयरटेल प्रीपेड के साथ पोस्टपेड में कीमतों में वृद्धि करेंगे क्योंकि पोस्टपेड आधार अच्छी तरह से मजबूत है और यह रिलायंस जियो (Reliance Jio) की ताकत नहीं है। एयरटेल के पूर्व सीईओ रह चुके कपूर ने आगे बताया, “अगर एयरटेल पोस्टपेड में कीमतें बढ़ाता है और वोडाफोन आइडिया भी ऐसा करता है, तो वे ग्राहक किसी के पास माइग्रेट नहीं करने जा रहे हैं क्योंकि वे वैसे भी बाजार के प्रीमियम-एंड पर हैं और मूल्य निर्धारण के प्रति संवेदनशील नहीं हैं क्योंकि उन्हें बहुत अधिक बिलों का भुगतान करने की आदत है। उनके लिए ब्रांड वरीयता और बेहतर ग्राहक अनुभव के लिए अधिक कीमत चुकाना, मुझे नहीं लगता कि यह एक बड़ी चुनौती है।”

वैसे, विश्लेषकों का मानना ​​है कि कुछ महीनों के बाद पोस्टपेड में बढ़ोतरी की उम्मीद की जा सकती है। इस बीच, ईवाई में इमर्जिंग मार्केट्स टेक्नोलॉजी, मीडिया एंड एंटरटेनमेंट एंड टेलीकम्युनिकेशंस (टीएमटी) लीडर प्रशांत सिंघल ने बताया, वृद्धि अपरिहार्य है क्योंकि भारत अभी भी दुनिया में सबसे कम टैरिफ वाला देश है और प्रीपेड में वृद्धि के साथ पोस्टपेड में भी वैसा होने की संभावना है।

बता दें कि एयरटेल और वीआई दोनों ने बाजार में टिकाऊ बने रहने के लिए आने वाले भविष्य में 300 रुपये के Arpu (प्रति उपयोगकर्ता औसत प्राप्ति) तक पहुंचने की इच्छा का संकेत दिया है। मौजूदा समय में वीआई के पास दूरसंचार कंपनियों में सबसे कम 109 रुपए का अरपू है, जबकि एयरटेल 153 रुपए के अरपू के साथ आगे है। रिलायंस जियो का अरपू 143.6 रुपए है।

पढें टेक्नोलॉजी समाचार (Technology News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।