NITI Aayog CEO Amitabh Kant says, BHIM app downloaded 17 million times, it a world record - नीति आयोग के सीईओ का दावा- एक करोड़ 70 लाख लोगों ने डाउनलोड किया भीम ऐप, बना वर्ल्ड रिकॉर्ड - Jansatta
ताज़ा खबर
 

नीति आयोग के सीईओ का दावा- एक करोड़ 70 लाख लोगों ने डाउनलोड किया भीम ऐप, बना वर्ल्ड रिकॉर्ड

भीम ऐप की लॉन्चिंग की घोषणा नोटबंदी के करीब दो महीने बाद की गई थी।

भीएम ऐप को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 दिसंबर 2016 को लॉन्च किया था।

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने दावा किया है कि भीम ऐप को लॉन्च करने के दो महीने के भीतर ही इसे एक करोड़ 70 लाख लोगों ने डाउनलोड किया है। उन्होंने कहा कि ऐप सफल रहा है, डाउनलोड करने वालों की संख्या के साथ वर्ल्ड रिकॉर्ड बन गया है। उन्होंने कहा, ‘भीम ऐप अच्छा काम कर रहा है। इस ऐप को अभी तक एक करोड़ 70 लाख लोगों ने डाउनलोड किया है। यह एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है।’

भीम ऐप बाकी मोबाइल वॉलेट जैसे पेटीएम और मॉबिक्विक से अलग है। इसके जरिए उन लोगों को भी पैसा भेजा जा सकता है, जिनके पास ऐप नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस डिजिटिल पैमेंट ऐप को 30 दिसंबर 2016 को लॉन्च किया था। ऐप की लॉन्चिंग की घोषणा नोटबंदी के करीब दो महीने बाद की गई थी। भीम ऐप को डिजिटल पेमेंट और कैशलेस अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए लॉन्च किया गया था। भीम ऐप गूगल प्ले स्टार पर तीन दिन में ही मुफ्त ऐप्स में टॉप पर पहुंच गया था।

भीम ऐप को एक महीने के भीतर एंड्रॉयड पर 50 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया गया था। लॉन्चिंग के वक्त यह ऐप केवल एंड्रॉयड यूजर्स के लिए ही उपलब्ध था। इसके बाद फरवरी महीने में इसे आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध करवाया गया था। पिछले महीने आईटी मिनिस्टर रवि शंकर प्रसाद ने कहा था कि भीएम ऐप को डाउनलोड करने वालों की संख्या एक करोड़ पार कर गई है।

लॉन्चिंग के वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि एक दिन ऐसा आएगा कि पूरा कारोबार इस पर किया जा सकेगा। प्रधानमंत्री ने ये भी बताया था कि इस ऐप का भारत रत्न डॉक्टर भीमराव आंबेडकर के नाम पर रखा गया है। इस ऐप के लिए आपका उंगली का निशान काफी है। आपको इसके लिए इंटरनेट या स्मार्टफोन की जरूरत नहीं होगी। पीएम मोदी ने बताया कि भारत में 100 करोड़ से ज्यादा लोगों का आधार कार्ड बन चुका है और देश में 100 करोड़ से अधिक फोन भी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App