ताज़ा खबर
 

Netflix ने भारत में दी दस्‍तक, जानें इस वीडियो स्‍ट्रीमिंग सर्विस से जुड़े हर अहम सवाल का जवाब

नेटफ्लिक्स दुनिया की टॉप इंटरनेट बेस्‍ड वीडियो स्ट्रिमिंग सर्विस है। ये अपने यूजर्स को स्मार्टफोन से लेकर स्मार्ट टीवी तक पर वीडियो देखने की सुविधा देती है।

Author नई दिल्‍ली | January 7, 2016 6:13 PM
वीडियो स्‍ट्रीमिंग सर्विस नेटफ्लिक्‍स ने भारत आने का एलान कर दिया है।

इंटरनेट बेस्‍ड वीडियो स्‍ट्रीमिंग सर्विस नेटफ्लिक्स ने भारत आने का एलान कर दिया है। कंपनी की ओर से यह घोषणा लास वेगस में चल रहे कंज्‍यूमर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स शो में किया गया। इस सर्विस की शुरुआती फीस 500 रुपए होगी। नेटफ्ल‍िक्‍स की शुरुआत कैलिफोर्निया में 1997 में बतौर डीवीडी रेंटल सर्विस के तौर पर हुई थी। फिलहाल दुनिया में इसके 6 करोड़ 90 लाख, ज‍बकि सिर्फ अमेरिका में 4 करोड़ 20 लाख यूजर्स हैं।

क्‍या है नेटफ्लिक्‍स
नेटफ्लिक्स दुनिया की टॉप इंटरनेट बेस्‍ड वीडियो स्ट्रिमिंग सर्विस है। ये अपने यूजर्स को स्मार्टफोन से लेकर स्मार्ट टीवी तक पर वीडियो देखने की सुविधा देती है। नेटफ्लिक्स प्ले स्टेशन और एपल टीवी पर भी काम करती है, जो यूजर को बड़े पर्दे पर वीडियो देखने की सहूलियत देता है। इसके साथ ही नेटफ्लिक्स स्‍पेशल वेब बेस्‍ट कंटेंट भी तैयार करता है। ये वीडियोज आज के जमाने मुताबिक लेटेस्‍ट हाई रेजोल्यूशन अल्ट्रा एचडी फॉर्मेट में होते हैं।

इंडिया में इस सर्विस की क्या है कीमत?
इंडिया में इस सर्विस की कीमत अमेरिका जितनी ही है। एक समय पर सिंगल स्क्रीन में शो या मूवी देखने के लिए यूजर्स को 500 रुपए चुकाने होंगे। 650 रुपए में यूजर्स को दो स्क्रीन एक्सेस करने की इजाजत होगी, जबकि 800 रुपए में वे एक साथ चार स्क्रीन पर मूवी या शो देख सकते हैं। इसमें अल्‍ट्रा एचडी कंटेंट भी है। पहले महीने में यूजर्स फ्री में इसका इस्तेमाल कर सकेंगे। उसके बाद पेपल और क्रेडिट कार्ड से पेमेंट कर सकते हैं। साइनअप और कार्ड का इस्तेमाल करने के लिए 70 रुपए (1 यूएस डॉलर) चार्ज किया जाएगा।

क्या इसमें कंटेंट सेंसर्ड होंगे?
साइनअप करते वक्त आपको ये मेंशन करना होगा कि आप 18 साल से ज्यादा हैं। इसका मतलब ये हुआ कि आपको बहुत ज्यादा सेंसर्ड कंटेंट नहीं मिलेंगे। वहां सब चीजों की रेटिंग होगी। हालांकि, नेटफ्लिक्स प्रोफाइल बनाते वक्त आप अगर खुद को चिल्ड्रन बताते हैं, तो एडल्ट कंटेंट नहीं देख पाएंगे।

क्या इसमें बहुत ज्यादा लोकल कंटेंट भी होगा?
नहीं। अब से नेटफ्लिक्स के पास लिमिटेड इंडियन कंटेंट है। लेकिन, ये अभी अपने नए पार्टनर्स बना रहा है। शुरुआती फेज में नेटफ्लिक्स ‘पीकू’ से लेकर ‘हम आपके हैं कौन’ जैसी बॉलीवुड फिल्‍में देखने की सुविधा देगा। आने वाले दिनों में नेटफ्लिक्स इंडिपेंडेंट सिनेमा का एक बड़ा जरिया बनने जा रहा है। ऐसा इसलिए, क्‍योंकि बॉलीवुड की कई फिल्‍मों को इंडिया में शो के लिए ज्यादा स्क्रीन नहीं मिल पाती हैं।

कंटेंट कैसे देखें?
इसे टीवी पर देखना बेहतर होगा। इसके लिए आपको स्‍मार्ट टीवी, एपल टीवी या एंड्राइड टीवी का विकल्‍प चुनना होगा। इसके अलावा, स्‍ट्रीमिंग डोंगल क्रोमकास्ट के जरिए भी यह सर्विस ली जा सकती है। आप अपने लैपटॉप, टैबलेट और स्मार्टफोन पर भी इसे देख सकते हैं या एमएचएल या एचडीएमआई केबल का इस्‍तेमाल करके टीवी से अटैच कर सकते हैं।

क्या इंडिया में बैंडविथ इश्यू है?
ये सवाल ज्यादातर यूजर्स पूछते हैं। हम इसे टेस्ट करना चाहते हैं। मैं मैकबुक प्रो पर काम करता हूं। इसके लिए मैं वन एमवीपीएस वाई-फाई कनेक्शन का इस्तेमाल करता हूं और 30 सेकंड के बाद स्ट्रीमिंग बिल्कुल स्मूद हो जाती है। पिक्चर क्वालिटी कुछ समय के लिए खराब हो सकती है, लेकिन कुछ सेकेंड बाद ये अपने आप ठीक हो जाएगी। आईफोन 6s प्लस पर एलटीई कनेक्‍शन के साथ पिक्चर क्वालिटी बहुत उम्दा है।

क्या इंडिया के लिए इसमें फुल कैटेलॉग है?
मैंने इसके कैटेलॉग को काफी लिमिटेड पाया। सर्च करने के बाद भी कुछ कंटेंट शो नहीं हो रहे थे। मसलन, मैं हाउस ऑफ कार्ड को सर्च नहीं कर पाया, जोकि नेटफ्लिक्‍स का ही प्रोडक्शन हैं। हालांकि, सारे नए टाइटल यहां उपलब्‍ध हैं।

क्‍या भारत में नेटफ्लिक्‍स जैसे दूसरे विकल्‍प मौजूद हैं?
हां। हूक और बॉक्‍सटीवी जैसी मिलती जुलती सर्विसेज हैं, जो अपेक्षाकृत सस्‍ती हैं। हालांकि, वे नेटफ्लिक्‍स के साथ मुकाबला नहीं कर सकतीं। इसकी वजह यह है कि नेटफ्लिक्‍स कई एक्‍सक्‍लूसिव कंटेंट भी तैयार करता है, जो पूरी दुनिया में मशहूर है। इसके अलावा, बाकी सर्विसेज नेटफ्लिक्‍स की तरह स्‍मार्टफोन, टैबलेट्स, लैपटॉप और टेलिविजन पर स्‍मूथ तरीके से वीडियो देखने की सुविधा नहीं दे पातीं।

क्‍या इस सर्विस को लोग पसंद करेंगे?
बिलकुल। क्‍योंकि ये उन कंटेंट तक पहुंच देता है, जो भारत में नहीं उपलब्‍ध है। कम से कम कानूनी तौर पर तो नहीं। कई ऐसे यूजर्स हैं, जिनके पास यूएचडी टीवी हैं, लेकिन इन पर देखने लायक कंटेंट अभी तक इंडिया में उपलब्‍ध नहीं थे। नेटफ्लिक्‍स ऐसे लोगों को एक विकल्‍प मुहैया कराएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App