ताज़ा खबर
 

…तो बाकी देशों के साथ-साथ भारत में भी आ जाएगा 5जी

भारत में दुनिया से 25 साल बाद आया था 2 जी और 3जी मिला था अमेरिका और यूरोप से 10 साल बाद

Author September 7, 2016 6:17 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

भारत को शेष दुनिया के साथ 5जी मिलने की संभावना है। दूरसंचार सचिव जे एस दीपक ने कहा कि हम इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) में प्रवेश कर रहे हैं, ऐसे में इस बात की संभावना है कि देश को 5जी शेष दुनिया के साथ मिले। दीपक ने कहा, ‘हमें 2जी शेष दुनिया से 25 साल बाद मिला, कम से कम विकसित दुनिया से। इसी तरह हमें 3जी उस समय मिला जबकि एक दशक पहले यह अमेरिका और यूरोप पहुंच चुका है। इसी तरह 4जी उसे वैश्विक रूप से पेश किए जाने के पांच बरस बाद हमारे पास पहुंचा। 5जी के मामले में ऐसी संभावना है कि यह हमें शेष दुनिया के साथ ही मिलेगा।’

उन्होंने कहा कि 5जी की शुरुआत शेष दुनिया और भारत में साथ-साथ हो सकती है। इससे हमें पहले से चल रहे अंतर को पाटने में मदद मिलेगी। ऐसा भी संभव है कि भारत एक कदम आगे बढ़ते हुए कुछ क्षेत्रों में अग्रणी स्थान हासिल करे, क्योंकि हम कनेक्टिड उपकरणों तथा मशीनों के साथ आईओटी में प्रवेश कर रहे हैं। दीपक ने पहली आईओटी इंडिया कांग्रेस के उद्घाटन के बाद ये बातें कहीं।

उन्होंने कहा कि आईओटी से अगले पांच-छह साल में कनेक्टिड उपकरणों की संख्या 50 अरब हो जाएगी। इससे भारत को कम से कम 15 अरब डालर के कारोबारी अवसर मिलेंगे। इस सम्मेलन में केंद्रीय इलेक्ट्रानिक्स एवं आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रिकार्ड किए वीडियो संदेश में कहा कि आईओटी इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि कनेक्टिड उपकरण आज के समय की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App