ताज़ा खबर
 

सावधान: एक ही मोबाइल को कई लोग करते हैं इस्तेमाल तो पैदा हो सकता है ये खतरा

फग्गन सिंह कुलस्ते ने बताया, ‘‘ भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने सूचित किया है कि हाल ही में किए गए एक अध्ययन के अनुसार वर्ष 2015 में 81.8 फीसदी मोबाइल फोन और 80 फीसदी हाथों के पसीने में बैक्टीरिया पैथोजन की बढ़त पायी गयी।

Author नई दिल्ली | February 4, 2017 2:54 PM
नहाने के दौरान फोन इस्तेमाल करने पर हुई मौत। (Representative Image)

स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय ने सूचित किया है कि एक ही मोबाइल फोन का इस्तेमाल कई लोगों द्वारा किए जाने से संक्रमण फैल सकता है क्योंकि यह बैक्टीरिया पैथोजन को बढ़ावा देता है। स्वास्थ्य राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने आज लोकसभा में एक सवाल के लिखित उत्तर में यह जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने अस्पतालों में संक्रमण को रोकने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं।

फग्गन सिंह कुलस्ते ने बताया, ‘‘ भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने सूचित किया है कि हाल ही में किए गए एक अध्ययन के अनुसार वर्ष 2015 में 81.8 फीसदी मोबाइल फोन और 80 फीसदी हाथों के पसीने में बैक्टीरिया पैथोजन की बढ़त पायी गयी।’’ उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय ने सूचित किया है कि एक ही मोबाइल फोन को कई लोगों द्वारा इस्तेमाल करने से संक्रमण के फैलने का खतरा हो सकता है। उनसे सवाल किया गया था कि क्या वैज्ञानिकों ने ऐसी कोई चेतावनी दी है कि मोबाइल फोन से अस्पतालों में संक्रमण फैलता है।

गौरतलब है कि पहले भी यह बात सामने आ चुकी है कि मोबाइल फोन से होने वाले विकिरण (रेडिएशन) के कारण स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। यह बात कई स्टडी में सामने आ चुकी है हालांकि इसके पुष्टि के साक्ष्य नहीं है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को जानकारी दी थी कि आईसीएमआर ने सूचित किया है कि वैज्ञानिक रूप से ऐसा कोई पुष्टि वाला साक्ष्य नहीं है कि मोबाइल फोन के इस्तेमाल से मानसिक एवं शारीरिक रोग होते हैं। उन्होंने कहा कि इस बात के भी अभी तक कोई वैज्ञानिक साक्ष्य नहीं है कि मोबाइल फोन से निकलने वाले इलेक्ट्रोमैग्नेटिक विकिरण के चलते कैंसर, ट्यूमर या मानसिक असंतुलन जैसे रोग पैदा होते हैं।

वीडियो: आयकर विभाग ने चुनाव आयोग से आप का पार्टी का दर्जा रद्द करने को कहा; फर्जी ऑडिट रिपोर्ट फाइल करने का आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App