ताज़ा खबर
 

Password Leak: Google की चेतावनी! अरबों पासवर्ड हुए लीक, आपका हुआ कि नहीं ऐसे करें चेक

जब भी आप हैक किए गए "4 बिलियन से अधिक उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड" का उपयोग करके किसी वेबसाइट पर साइन इन करते हैं तो Google यह एक चेतावनी प्रदर्शित करता है। Google हैक किए गए लॉग-इन की एक विशाल सूची के साथ विभिन्न साइटों के लिए आपके लॉग-इन विवरणों को क्रॉस-रेफ़र करता है।

Author नई दिल्ली | Published on: August 17, 2019 3:49 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Cyber-experts, password league: साइबर-विशेषज्ञ अब उपयोगकर्ताओं से यह सुनिश्चित करने का आग्रह कर रहे हैं कि वे कठिन पासवर्ड का उपयोग करें जो चोरी ना हो सके। इस साल की शुरुआत में, Google ने Google Chrome वेब ब्राउज़र के लिए एक पासवर्ड चेकअप ऐड लॉन्च किया था। जब भी आप किसी भी साइट पर लोग इन करते हैं गूगल आप को स्क्रीन पर एक पॉप अप मैसेज देता है। उसमें लिखा होता है कि आपका पासवर्ड हैक हो सकता है इसे तुरंत बादल लें। जब भी आप हैक किए गए “4 बिलियन से अधिक उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड” का उपयोग करके किसी वेबसाइट पर साइन इन करते हैं तो Google यह एक चेतावनी प्रदर्शित करता है। Google हैक किए गए लॉग-इन की एक विशाल सूची के साथ विभिन्न साइटों के लिए आपके लॉग-इन विवरणों को क्रॉस-रेफ़र करता है।

ऐसे बचें हैकर्स से –  

अपने कम्प्युटर में पासवर्ड चेकअप एक्सटैन्शन डाउनलोड करें।

अपने ब्राउज़र बार में चेकअप आइकॉन दिखने लगेगा।

इसके बाद जब भी आप किसी अनसेफ साइट पर लोग इन करेंगे ये आपकी स्क्रीन पर पॉपअप मैसेज के साथ अलर्ट देगा।

इसके बाद अपना पासवर्ड बादल दें।

Google की जेनिफर पुलमैन ने समझाया “हमारे लॉन्च के बाद से, 650,000 से अधिक लोगों ने हमारे शुरुआती प्रयोग में भाग लिया है। पहले महीने में ही, हमने 21 मिलियन उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड स्कैन किए और 316,000 को असुरक्षित रूप से चिह्नित किया।” स्पष्ट रूप से किसी के लिए एक बहुत बड़ा जोखिम है जिसका उपयोगकर्ता नाम और विभिन्न साइटों से पासवर्ड हैक कर लिया गया है। सुरक्षित रहने के लिए अपने लॉग-इन विवरणों को तुरंत बदलना महत्वपूर्ण है। लेकिन संबंधित यूजर नेम के बिना ऑनलाइन अपलोड किया गया पासवर्ड भी आपको जोखिम में डाल सकता है। यदि आप एक बहुत ही सरल पासवर्ड का उपयोग करते हैं, तो यह संभव है कि कोई दूसरा व्यक्ति भी ऐसा ही करता होगा और वे स्वयं हैक हो सकते हैं। हैकर्स कई अलग-अलग साइटों से इन पासवर्डों की विशाल सूची खरीदते हैं क्योंकि लोग अक्सर उनका फिर उपयोग करते हैं। पुलमैन ने कहा, “हाइजकर्स ने नियमित रूप से वेब पर मौजूद साइटों को साइन करने का प्रयास तीसरे पक्ष के उल्लंघन से उजागर किया है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 IRCTC Indian Railways: ट्रेन स्टेटस चेक करना हुआ आसान, ऐसे इस्तेमाल करें Microsoft SMS Organizer app
2 Pwoer Bank: क्रेडिट कार्ड के साइज का पावर बैंक, शॉर्ट सर्किट या ज्यादा वोल्टज पर नहीं होगा खराब, कीमत भी है कम
3 पोर्न के शौकीन हो जाएं होशियार, देखते वक्त वीडियो बना लेता है यह VIRUS, फिर करता है ब्लैकमेल