ताज़ा खबर
 

गूगल आपको दे रहा 65 हजार रुपये कमाने का मौका, जानें क्या है तरीका

बग बाउंटी प्रोग्राम को नए स्तर पर लॉन्च किया है, जिसके जरिए अब हैकर्स और सिक्योरिटी रिसर्चर्स को गूगल प्ले स्टोर की सुरक्षा में खामी खोज कर गूगल को बताने का मौका दिया जा रहा है।

गूगल आपको दे रहा 65 हजार रुपये कमाने का मौका

गूगल लोगों को घर बैठे 65 हजार रुपए कमाने का मौका दे रहा है। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना होगा केवल एंड्रॉयड ऐप की सुरक्षा में खामी खोज कर गूगल को बताना होगा। दरअसल गूगल ने एंड्रॉयड ऐप की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए बग बाउंटी प्रोग्राम को नए स्तर पर लॉन्च किया है, जिसके जरिए अब हैकर्स और सिक्योरिटी रिसर्चर्स को गूगल प्ले स्टोर की सुरक्षा में खामी खोज कर गूगल को बताने का मौका दिया जा रहा है। अगर कोई प्ले स्टोर में खामी खोज लेता है तो उसे गूगल 65 हजार रुपए का इनाम देगा।

टेक जाइंट गूगल ने बग बाउंटी प्रोजेक्ट को नए स्तर पर ले जाते हुए हैकेरॉन (Hackerone) के सहयोग से गूगल प्ले सिक्योरिटी रिवॉर्ड प्रोग्राम चलाया है। इस नए प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य ऐप की सुरक्षा को बढ़ाना है, जिससे कि डेवलपर्स, एंड्रॉयड यूजर्स और पूरे गूगल प्ले इकोसिस्टम को फायदा होगा। गुरुवार को गूगल ने अपनी वेबसाइट में कहा कि गूगल प्ले स्टोर में मौजूद ऐप्स को और अधिक सुरक्षित करने के लिए गूगल प्ले सिक्योरिटी रिवॉर्ड प्रोग्राम बनाया गया है, इस प्रोग्राम को बनाने में कई सिक्योरिटी रिसर्चर्स ने अपना समय दिया।

बता दें कि गूगल ने इस बग बाउंटी प्रोग्राम के लिए हैकेरॉन के साथ पार्टनरशिप की है। हैकरॉन साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर्स और बिजनेस के बीच एक कड़ी है और साइबर सिक्योरिटी का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म है। इस बग बाउंटी के तहत रिसर्चर को प्ले स्टोर के ऐप्स में खामियों का पता लगाकर सीधे ऐप डेवलपर से संपर्क करके उसे बताना होगा, जिसके बाद ऐप डेवलपर रिसर्चर के साथ मिलकर खामियों को दूर करने का काम करेगा। खामियां दूर होने के बाद रिसर्चर को बोनस बाउंटी के लिए गूगल प्ले सिक्योरिटी से अपील करना होगा। गूगल के अलावा दुनिया की अन्य बड़ी टेक कंपनियां बग बाउंटी प्रोग्राम चलाती हैं। किसी भी खतरे से बचने के लिए फेसबुक जैसी बड़ी कंपनिया भी बग बाउंटी प्रोग्राम चला रही हैं, जिसके तहत सॉफ्टवेयर में खामियों का पता लगाने वाले समूह या व्यक्ति को इनाम दिया जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App