ताज़ा खबर
 

Google Birthday: गूगल ने 19वें जन्‍मदिन पर यूजर्स को गिफ्ट किया सरप्राइज स्पिनर, ऐसे खेलें

Google Birthday Surprise Spinner: Google की स्‍थापना 27 सितंबर, 1998 को लैरी पेज और सर्जी बिन ने एक गैराज में की थी। Google ने इस मौके पर एक सरप्राइज स्पिनर लॉन्‍च किया है जिसे उसके होमपेज पर डूडल को क्लिक करके एक्टिवेट किया जा सकता है।

Author September 27, 2017 10:29 PM
Google Birthday Surprise Spinner: 1998 में, लैरी और सर्जी ने Google के दूसरे O के पीछे द बर्निंग मैन को खड़ा कर दिया था।

Google Birthday Surprise Spinner: दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन Google का आज 19वां जन्‍मदिन है। Google ने इस मौके पर एक सरप्राइज स्पिनर लॉन्‍च किया है जिसे उसके होमपेज पर डूडल को क्लिक करके एक्टिवेट किया जा सकता है। इसे घुमाने पर यह आपको पुराने डूडल्‍स से रूबरू कराएगा। आज से ठीक, 19 साल पहले (27 सितंबर, 1998) को लैरी पेज और सर्जी बिन ने एक गैराज में गूगल की नींव रखी थी। दोनों तब स्‍टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर रहे थे। तब दोनों संस्‍थापकों को भी अंदाजा नहीं था कि उनका यह प्रोडक्‍ट एक दिन दुनिया के बाकी प्रोडक्‍ट्स के लिए गेट-वे की तरह काम करेगा। Google अंग्रेज़ी के शब्द “Googol” की गलत वर्तनी है, जिसका मतलब है− वह नंबर जिसमें एक के बाद सौ शून्य हों। गूगल अपनी सर्च इंजन की सुविधा के लिए भारी-भरकम रकम खर्च करता है। हर वेबसाइट का ये लक्ष्‍य होता है कि यूजर उसपर ज्‍यादा से ज्‍यादा वक्‍त गुजारे, मगर गूगल चाहता है कि उसके पेज से लोग जल्‍द से जल्‍द चले जाएं। Google के वर्कस्‍पेस को दुनिया के सबसे अच्‍छे वकेप्‍लेसेज में से गिना जाता है।

1998 में, लैरी और सर्जी ने Google के दूसरे O के पीछे द बर्निंग मैन को खड़ा कर दिया था। यह इस बात का संदेश का था कि दोनों ऑफिस से बाहर हैं। इसी के साथ पहले गूगल डूडल का जन्‍म हुआ था। इसके बाद कंपनी ने फैसला किया कि सांस्‍कृतिक महत्‍व के पलों की यादगार के तौर पर उन्‍हें Google के लोगो को सजाना चाहिए। जल्‍द ही गूगल होमपेज पर किए जाने वाले परिवर्तन यूजर्स को भी भाने लगे। 1998 में ही, थैंक्‍सगिविंग के दिन Google होमपेज पर एक टर्की जोड़ी गई और हैलोवीन पर दो O की जगह दो कद्दू बनाए गए।

नई शताब्‍दी में Google ने डूडल्‍स पर और ध्‍यान देना शुरू किए। कई ग्राफिक डिजाइनर्स, एनिमेटर्स और आर्टिस्‍ट्स को साथ में लेकर गूगल ने एक ऐसी परंपरा की नींव डाली जो 19 साल से अब तक जारी है। गूगल के अमेरिका ऑफिस में काम करने वालों की मृत्‍यु के पश्‍चात उनके परिवार को उसके वेतन का 50 फीसदी हिस्‍सा अगले 10 सालों तक मिलता रहता है।

गूगल के जरिए हर दिन तीन बिलियन से ज्‍यादा सर्च होती हैं। हालांकि गूगल पूरे वर्ल्‍ड वाइड वेब को इंडेक्‍स नहीं करता, मगर अधिकतर इंटरनेट यूजर्स के लिए यह ‘इंटरनेट का प्रवेश द्वार’ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बंद होने वाली है abof.com ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट, मिल रहा अच्छा खासा डिस्काउंट
2 अब 4जी पर तीन गुना तेज डेटा स्पीड देने की तैयारी में एयरटेल