ताज़ा खबर
 

Facebook ने सुसाइड रोकने के लिए पेश किया नया सुसाइड प्रिवेंशन टूल

इसमें कई नई टेक्नॉलोजी का उपयोग किया गया है ताकि फेसबुक लाइव से सुसाइड करने का प्रयास करने वाले यूजर्स को रोका जा सके।

आत्महत्या को रोकने के लिए सबसे अच्छा तरीका है कि सुसाइड करने वाले लोगों को सुना और समझा जाए। (PHOTO: Reuters)

फेसबुक द्वारा पिछले साल 2016 में सुसाइड प्रिवेंशन टूल जारी किया गया था, जिसमें दुनिया भर के 70 से अधिक पार्टनर शामिल थे। शुरूआत में इसे केवल अमेरिका में पेश किया गया था। वहीं अब फेसबुक ने सुसाइड प्रिवेंशन टूल का नया अपडेट पेश किया है जो​ कि हर जगह उपलब्ध होगा। इसमें कई नई टेक्नॉलोजी का उपयोग किया गया है ताकि फेसबुक लाइव से सुसाइड करने का प्रयास करने वाले यूजर्स को रोका जा सके। फेसबुक द्वारा आॅफिशियल पेज पर दी गई जानकारी के अनुसार अगर आप किसी लाइव ब्रॉडकास्ट के माध्यम से कुछ विचाराधीन वीडियो देखतें हैं तो आपको वहां एक ऑप्शन दिखाई होगा जिसकी मदद से आप किसी संस्था से सीधे संपर्क कर सकते हैं। जिसके बाद वह संस्था आपकी मदद करेगी। इसमें क्राइसिस टेक्स्ट लाइन, नेशनल इटिंग डिसऑर्डर असोसिएशन और नेशनल सुसाइड प्रिवेंशन लाइफलाइन संस्थाएं शामिल हैं।

फेसबुक का कहना है कि दुनिया में प्रति 40 सेकेंड में आत्महत्या के माध्यम से एक मौत होती है और सुसाइड करने वालों में 15 से 29 साल की उम्र के लोग शामिल हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि आत्महत्या को रोकने के लिए सबसे अच्छा तरीका है कि उन लोगों को सुना और समझा जाए। फेसबुक के सुसाइड प्रिवेंशन टूल की मदद से ऐसे लोगों तक पंहुचने के ​लिए फेसबुक ने एक रिव्यू टीम तैयार की है। जो डिप्रेशन जैसी समस्या से जूझ रहे लोगों से जुड़ेगी और उनकी मदद करेगी। यह टीम 24/7 काम करेगी और इसमें लाइव चैट की भी सुविधा उपलब्ध होगी। फेसबुक सुसाइड प्रिवेंशन टूल का ऑप्शन लाइव स्ट्रीमिंग में जोड़ा गया है।

फेसबुक का कहना है​ कि हमारी टीम ने फेसबुक एेप के लिए एक नया टूल लॉन्च किया है। जो कि लोगों को सुसाइड करने से रोकेगा और यदि वे परिवार, दोस्तों और अन्य साथियों से बात करना चाहते हैं तो उन्हें उसी वक्त जोड़ा जा सकेगा। कंपनी के मुताबिक इन अपडेट्स को लेकर यह मेंटल हेल्थ ऑर्गनाइजेशंस फोरफ्रंट, नाउ मैटर्स नाउ, द नेशनल सुइसाइड प्रीवेंशन लाइफलाइन, सेव डॉट ओआरजी समेत कई संस्थाओं के साथ काम कर चुकी है। साथ ही आत्मघाती, आत्महत्या या खुद को चोट पहुंचाने वाले लोगों के साथ भी सलाह-मशविरा कर चुकी है। गौरतलब है कि हाल ही में सोशल साइट ट्विटर ने भी इसी प्रकार का एक नया फीचर सेफ्टी टूल पेश किया है। जो कि ट्विटर पर उत्पीड़न और दुव्यवहार से बचाने में मदद करेगा।

केबल सर्विस को कहें गुड बाय! YouTube लॉन्च करेगा टीवी सर्विस, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App