scorecardresearch

Delhi की पहली Electric Bus: पैनिक बटन से लेकर CCTV से हैं लैस, जानें- रेंज, चार्जिंग टाइम और रूट

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दावा किया ये ई-बसें शहर में वायु प्रदूषण से लड़ने में कारगर साबित होंगी।

Delhi E-Bus, New Delhi, Utility News
Delhi की ये E-Buses बिल्कुल भी धुआं नहीं छोड़ेंगी। यानी वायु प्रदूषण के खिलाफ जंग में यह मददगार साबित होंगी। (फोटोः टि्वटर/@AamAadmiParty)

दिल्ली के मुख्यंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सोमवार (18 जनवरी, 2022) को दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की पहली इलेक्ट्रिक बस को रवाना किया। उन्होंने इस दौरान कहा कि शहर में 300 ऐसी और बसें जल्द ही सार्वजनिक परिवहन से जुडेंगी। उद्घाटन को राष्ट्रीय राजधानी में पर्यावरण अनुकूल सार्वजनिक परिवहन प्रणाली की शुरुआत करार देते हुए सीएम बोले कि आने वाले सालों में 2000 इलेक्ट्रिक बसें सरकार द्वारा खरीदी जाएंगी।

उन्होंने इंद्रपस्थ डिपो में इस कार्यक्रम में कहा कि 2011 से दिल्ली परिवहन द्वारा एक भी नयी बस नहीं खरीदी गई है। बकौल दिल्ली सीएम, ‘‘अब हम एक क्रांति देखेंगे क्योंकि जब पुरानी बसें सेवा से हटायी जाएंगी तो नयी इलेक्ट्रिक बसें बेडे़ में शामिल की जाएंगी। पहली ई-बस आज सड़क पर भेजी जा रही है। अप्रैल तक हम दिल्ली की सड़कों 300 ऐसी और बसें दौड़ते हुए देखेंगे।’’

वह आगे बोले, “यह 2011 के बाद पहली बार है कि एक नई बस डीटीसी के लिए खरीदी गई है, जिसके बारे में लोग कहा करते थे कि उसे उसकी बदकिस्मती पर छोड़ दिया गया है, लेकिन अब उसे उबारा गया है।” मुख्यमंत्री ने कहा कि ई-बस किसी फास्ट चार्जर पर डेढ घंटे में चार्ज की जा सकती है एवं वह एक बार चार्ज होने पर न्यूनतम 120 किलोमीटर तक का सफर कर सकती है जिसके लिए डिपो में चार्जिंग स्टेशन लगाये जा रहे हैं।

दिल्ली के इंद्रप्रस्थ बस डिपो में Delhi Transport Corporation’s (DTC) की पहली इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी दिखाने के दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल और परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत। (पीटीआई फोटो)

दिल्ली में यह पहली इलेक्ट्रिक बसें हैं। सीएम के मुताबिक, यह जीरो एमिशन वाली बसें डेढ़ घंटे में चार्ज हो सकती हैं और 120 किमी तक की रेंज दे सकती हैं। कुल मिलाकर हमारे पास ऐसी 2000 बसे हैं। इनमें से 300 अप्रैल तक मिल जाएंगी।

क्यों खास हैं यह बसें?:

  • 100% इलेक्ट्रिक और जीरो एमिशन वाली हैं बसें हैं
  • ये बिल्कुल भी धुआं नहीं छोड़ेंगी
  • 12 मीटर लो फ्लोर के साथ एसी है
  • दिव्यागों के लिए मैनुअल व्हीलचेयर रैंप है
  • मूवी कैमरा सीसीटीवी
  • पैनिक बटन भी हैं, जो आपातकालीन स्थिति में काम आएंगे
  • सैटेलाइट जीपीएस भी है
  • डेढ़ घंटे में चार्ज होगी और 120 किमी तक की रेंज
  • महिलाओं के लिए पिंक (गुलाबी रंग की) सीटें

डीटीसी बेड़े में पहली ई-बस शून्य टेलपाइप उत्सर्जन (Zero Tailpipe Emissions) के साथ आती है। यह 300 इलेक्ट्रिक बसों का पहला बैच है, जिसे डीटीसी के तहत शामिल किया जाएगा। 300 ई-बसों का बेड़ा मुंडेला कलां (100 बसें), राजघाट (50) और रोहिणी सेक्टर 37 (150 बसें) बस डिपो से चलेगा।

इलेक्ट्रिक बस डीटीसी के इंद्रप्रस्थ (आईपी) डिपो से आईटीओ, एजीसीआर, तिलक मार्ग, मंडी हाउस, बाराखंभा रोड, कनॉट प्लेस, जनपथ, राजेश पायलट मार्ग, पृथ्वी राज रोड, अरबिंदो मार्ग से रूट नंबर ई-44 पर चलेगी। एम्स, रिंग रोड, साउथ एक्सटेंशन, आश्रम, भोगल, जंगपुरा, इंडिया गेट, उच्च न्यायालय, प्रगति मैदान और आईपी डिपो में समाप्त हो जाएगा।

दिल्ली के परिवहन मंत्री के मुताबिक, सभी बसें गूगल मैप्स पर उपलब्ध रहेंगी, जिससे यात्री अपनी यात्रा की योजना बना सकते हैं और किसी भी समय बसों को ट्रैक कर सकते हैं। एक मिनट से भी कम समय में टिकट बुक करने के लिए दिल्ली सरकार के वन डेल्ही ऐप (One Delhi app) का इस्तेमाल किया जा सकता है।

पढें टेक्नोलॉजी (Technology News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट