ताज़ा खबर
 

हैकरों ने की उबर के 5.7 करोड़ यूजर्स और ड्राइवरों के निजी डाटा की चोरी, एक साल बाद हुआ खुलासा

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दारा खोसरोवशही ने एक बयान में कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं होना चाहिए था और मैं इसके लिए कोई बहाने नहीं बनाउंगा।

Author सान फ्रांसिस्को | November 22, 2017 5:42 PM
उबर के मुताबिक चुराई गई सूचना में उपयोक्ताओं के नाम, ईमेल पते, मोबाइल नंबर शामिल हैं। (File Photo)

एप पर टैक्सी बुकिंग की सेवा देने वाली कंपनी उबर ने कहा कि हैकरों ने उसके मंच पर जुड़े 5.7 करोड़ उपयोक्ताओं और ड्राइवरों का निजी डाटा चुराया है। एक वर्ष से छुपी इस बात के लिए उबर ने हैकरों से डाटा नष्ट कराने के लिए एक लाख डॉलर का भुगतान किया है। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दारा खोसरोवशही ने एक बयान में कहा, ‘‘ऐसा कुछ भी नहीं होना चाहिए था और मैं इसके लिए कोई बहाने नहीं बनाउंगा।’’

खोसरोवशही के अनुसार, उबर सूचना सुरक्षा दल के दो सदस्य को मंगलवार को ही तत्काल प्रभाव से कंपनी से निकाल दिया है। इन दोनों ने समय पर उपयोक्ताओं को जानकारी नहीं दी कि उनका डाटा चुराया गया है। उन्होंने कहा कि उन्हें हाल ही में केवल इतना पता चला है कि किसी बाहरी व्यक्ति ने कंपनी द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले क्लाउड सर्वर की सुरक्षा में सेंध लगाकर बड़ी मात्रा में डाटा डाउनलोड कर लिया।

उबर के मुताबिक, चुराई गई सूचना में उपयोक्ताओं के नाम, ईमेल पते, मोबाइल नंबर और करीब 6,00,000 ड्राइवरों के नाम एवं उनके लाइसेंस नंबर चोरी किए गए हैं। इससे जुड़े एक सूत्र ने बताया कि हैकरों से डाटा नष्ट कराने के लिए उबर ने एक लाख डॉलर (6478500.77 रुपए) का भुगतान किया है। इस संबंध में उपयोक्ताओं और ड्राइवरों को जानकारी नहीं दी गई कि उनका डाटा जोखिम में है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App