Gmail, Outlook यूजर्स को आ रहे फर्जी गिफ्ट वाले ऐसे ई-मेल! आप भी रहें सावधान, जानें- क्या हैं बचने के तरीके?

इस तरह का पहला स्कैम तीन महीने पहले जून में सामने आया था, जिसमें यूजर्स को जीबीपी 90 गिफ्ट कार्ड की पेशकश की गई थी, पर बदले में उन्हें एक सर्वे में हिस्सा लेने के लिए कहा गया था।

online fraud, gmail, outlook
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः unsplash)

कोरोना काल में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़े हैं। फिर चाहे वे फोन कॉल के जरिए हों या फिर अन्य माध्यमों से। जालसाज अब फर्जीवाड़ा करने के लिए जी मेल और आउटलुक को सहारा बना रहे हैं।

हाल ही में एक ई-मेल स्कैम सामने आया है, जिसमें वे गिफ्ट कार्ड देने का झांसा देकर लोगों के पर्सनल डिटेल्स मांग उनसे पैसों की ठगी कर लेते हैं। दरअसल, वे लोगों से कुछ अज्ञात लिंक्स/यूआरएल पर क्लिक करने के लिए कहते हैं।

रोचक बात यह है कि लोग इनके इरादों पर शक न कर पाएं, इसलिए ये अपने ई-मेल्स को बिल्कुल प्रोफेश्नल अंदाज में लिखते हैं। उनमें टिप-टॉप ब्रांडिंग लगाते हैं, ताकि लोग उनके मेल पर यकीन कर सकें।

ऐसे बनाते हैं शिकार: जीमेल और आउटलुक सरीखी जानी-मानी ई-मेल सेवाओं पर लोगों को इन मेल्स में गिफ्ट कार्ड्स के रूप में आकर्षक ऑफर दिए जाते हैं। पर असल में यह एक किस्म का छल/झांसा होता है। इन गिफ्ट कार्ड्स को क्लेम करने के लिए वे यूजर्स से एक छोटे से सर्वे में हिस्सा लेने को कहते हैं। जो भी लोग गलती से दिए गए संदिग्ध लिंक पर क्लिक करते हैं वे एक ऐसी साइट पर पहुंच जाते हैं, जो असल में फर्जी होती है। साथ ही इसके बदले (हिस्सा लेने) उन्हें कोई भी गिफ्ट नहीं मिलता है।

एक्सप्रेस यूके के मुताबिक, इस तरह का पहला स्कैम तीन महीने पहले जून में सामने आया था, जिसमें यूजर्स को जीबीपी 90 गिफ्ट कार्ड की पेशकश की गई थी, पर बदले में उन्हें एक सर्वे में हिस्सा लेने के लिए कहा गया था। जैसे ही ये जालसाज मेल में अपनी चिकनी चुपड़ी बातों से लोगों का यकीन जीत लेते हैं, ये मौका पाते ही उनके लॉगइन आईडी और पासवर्ड चुरा लेते हैं।

कैसे बचें ऐसे स्कैम्स से?: सारी सुरक्षा यूजर्स के हाथ और बुद्धि-विवेक पर निर्भर करती है। चूंकि, लोगों के पास सही जानकारी नहीं होती है, इसलिए वे इस के स्कैम्स का शिकार हो जाते हैं। आइए जानते हैं कि आप कैसे बच सकते हैं इनसे-

1- किसी भी तरह के अनजान लिंक को न खोलें।

2- अज्ञात अटैचमेंट भी न तो डाउनलोड करें और न ही ओपन करें।

3- अटपटे लिंक से खुलने वाले गूगल फॉर्म्स या फिर साइट्स पर अपने पर्सनल इन्फॉर्मेशन को न भरें। खासकर जब आपसे आधार नंबर, पैन नंबर, बैंक खाता संख्या, पिन, ओटीपी, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड नंबर या फिर सीवीवी नंबर मांगा जाए।

4- सर्वे में हिस्सा लेने के लिए जब कहा जाए, तब भूल से भी अपना ई-मेल और पासवर्ड न बताएं और न ही किसी अनजान साइट पर भरें।

जीमेल पर कैसे फिशिंग की करें शिकायत?: आपको अपने जीमेल अकाउंट पर जाना होगा। फिर उस स्कैम वाले मैसेज को खेलें। उस पर नीचे “रिप्लाई” का ऑप्शन मिलेगा, जिस पर क्लिक कर के “रिपोर्ट फिशिंग” कर के सेंड कर दें।

पढें टेक्नोलॉजी समाचार (Technology News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट