Airtel यूजर्स को महंगी पड़ेगी अब बात! इन पैक्स के टैरिफ में 25% की बढ़ोतरी

एयरटेल के लिए ARPU में गिरावट सिरदर्द बनी हुई है। जिसके चलते कंपनी ने अपने सभी प्रीपेड प्लान की कीमत में बढ़ोतरी का फैसला लिया है। बीते एक साल में कंपनी का ARPU 166 रुपये से घटकर 145 रुपये पर आ गया है।

Bharti Airtel, Prepaid Tariff, 25% Expensive
भारतीय एयरटेल ने अपने सभी प्रीपेड प्लान की कीमत बढ़ाई।

देश की दिग्गज टेलीकम्युनिकेशन कंपनी भारतीय एयरटेल ने अपने प्रीपेड यूजर्स को तगड़ा झटका दिया है। कंपनी ने टैरिफ वॉयस प्लान, असीमित वॉयस बंडल और डेटा टॉप अप की कीमतों में बढ़ोतरी की है। जिनको 26 नवंबर से लागू कर दिया जाएगा। ऐसे में भारतीय एयरटेल के शुरुआती प्रीपेड प्लान 25 प्रतिशत तक महंगे हो जाएंगे। जिसका सीधा मतलब है कि, जो यूजर्स पहले 79 के प्लान को 28 दिनों तक यूज करते थे। अब उसके लिए यजर्स को 99 रुपये का भुगतान करना होगा। इसमें 50 प्रतिशत अधिक टॉकटाइम (99 रुपये), 200 एमबी डेटा और एक पैसा प्रति सेंकेंड का वॉयस टैरिफ जैसे लाभ शामिल हैं।

वहीं कंपनी ने इस बढ़ोतरी पर तर्क दिया है कि, हमने यह सुनिश्चित किया है कि मोबाइल प्रति उपयोगकर्ता औसत राजस्व (ARPU) 200 रुपये और आखिरकार 300 रुपये होना चाहिए, ताकि पूंजी पर उचित प्रतिफल मिल सके। एयरटेल ने एक बयान में कहा- हम यह भी मानते हैं कि एआरपीयू के इस स्तर से नेटवर्क और स्पेक्ट्रम में जरूरी पर्याप्त निवेश किया जा सकेगा। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि इससे एयरटेल को भारत में 5जी लागू करने के लिए मदद मिलेगी।

ARPU में गिरावट बनी सिरदर्द – एयरटेल के लिए ARPU में गिरावट सिरदर्द बनी हुई है। जिसके चलते कंपनी ने अपने सभी प्रीपेड प्लान की कीमत में बढ़ोतरी का फैसला लिया है। आपको बता दें बीते कुछ दिनों पहले ही कंपनी के मालिक सुनील भारती मित्तल ने प्रीपेड टैरिफ की कीमत बढ़ाने का इशारा किया था। जिसके लिए उन्होंने कहा था कि, टैरिफ बढ़ाने का वक्त आ गया है। दरअसल, एयरटेल को मौजूदा वित्तीय वर्ष के अंत तक ARPU- एवरेज रेवेन्यू पर यूजर को 200 रुपये तक ले जाना है। पिछली तिमाही में एयरटेल का ARPU गिरा था, जिसे देखते हुए टैरिफ बढ़ाने का फैसला लिया गया।

एयरटेल का घट गया ARPU – बीते एक साल में कंपनी का ARPU 166 रुपये से घटकर 145 रुपये पर आ गया था। जिस वजह से कंपनी को रेवेन्यू में भी नुकसान हुआ हो रहा था। एयरटेल इसे बढ़ाने की कोशिश में है। आपको बता दें पिछले साल अक्टूबर-दिसंबर में एयरटेल का एआरपीयू 166 रुपये था।

यह भी पढ़ें: जीवन बीमा प्रीमियम अगले महीने से होगा महंगा! 30-40 फीसदी ज्यादा देना होगा प्रीमियम, जानिए क्या है वजह

जो इस साल मार्च तिमाही में 145 रुपये पर पहुंच गया। इसमें गिरावट इसलिए देखी गई क्योंकि ऑपरेटर्स ने इंटरकनेक्ट यूजेज चार्ज (IUC) को खत्म कर दिया था। एक आंकड़े के मुताबिक टेलीकॉम इंडस्ट्री में आईयूसी का योगदान 7-8 परसेंट था जो खत्म हो गया। इसके खत्म होने से मोबाइल कंपनियों के एवरेज रेवेन्यू पर यूजर में बड़ी गिरावट देखी गई है।

पढें टेक्नोलॉजी समाचार (Technology News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।