ताज़ा खबर
 

दाना-पानी: ऐसा पकाएं बच्चे भी खाएं

बच्चे खाने-पीने के मामले में बड़े नखरीले होते हैं। अक्सर उन्हें घर का बना पारंपरिक भोजन पसंद नहीं आता। दरअसल, उनकी स्वाद ग्रंथियां उस तरह विकसित नहीं होती, जैसी बड़ों की होती हैं, इसलिए खाने-पीने के मामले में वे अक्सर नाक-भौं सिकोड़ते रहते हैं। तो क्यों न रोजमर्रा उपयोग होनी वाली चीजों से कुछ ऐसा बनाएं, जो बच्चे भी पसंद करें और बड़े भी।

Author Published on: June 28, 2020 3:51 AM
पारंपरिक भोजन: भरवां सूजी की गोलियां और मूंगफली वाली तोरई।

मानस मनोहर
भरवां सूजी की गोलियां
सूजी यानी रवा से अनेक व्यंजन बनते हैं। पर सूजी के भरवां बॉल्स यानी गोलियां बहुत स्वादिष्ट और उम्दा नाश्ता है। इसे सुबह-शाम जब भी बच्चों को कुछ हल्का-फुल्का खाने का मन हो, दे सकते है। इसका चटपटा स्वाद उन्हें बहुत भाएगा। इसे बनाना बहुत आसान है पर इसकी तैयारी में थोड़ी मशक्कत करनी पड़ती है।

भोजन पकाने का पहला सूत्र है कि जब भी कुछ बनाना हो तो पहले उसकी तैयारी कर लें, ताकि भोजन पकाते समय किसी तरह की हड़बड़ी न हो। हड़बड़ी में भोजन का स्वाद बिगड़ जाता है। सो, इसमें डालने के लिए कुछ हरी मिर्च, थोड़ी सी अदरक, कुछ कढ़ी पत्ते, नमक, कुटी लाल मिर्च, एक उबला आलू, थोड़े-से पनीर और थोड़े-से मोजरेला चीज की जरूरत पड़ेगी। सूजी तो मुख्य सामग्री है ही।

सूजी की मात्रा जितनी लें उससे डेढ़ गुना पानी की मात्रा रखें। जैसे एक कप सूजी ली है, तो डेढ़ कप पानी लें। सबसे पहले एक कड़ाही या पैन में एक से डेढ़ चम्मच तेल गरम करें। उसमें चुटकी भर हींग, बारीक कटी हरी मिर्च, बारीक कटी अदरक और महीन कटे सात-आठ कढ़ी पत्ते का तड़का दें। तड़का तैयार हो जाए, तो उसमें सूजी की मात्रा के अनुपात में पानी डाल दें। उसी में एक चम्मच कुटी लाल मिर्च और नमक डाल दें। दो-तीन मिनट पकने दें। फिर सूजी डाल कर लगातार चलाते हुए अच्छी तरह मिलाएं।

जब सूजी रोटी के लिए गुंथे आटे जैसा कड़ा हो जाए तो आंच बंद कर दें और मिश्रण को एक परात में निकाल लें। थोड़ी देर इस मिश्रण को ठंडा होने दें। तब तक इसमें भरने के लिए भरावन तैयार कर लें। उबले आलू, पनीर और मोजरेला चीज को कद्दूकस कर लें। इसमें नमक, लाल मिर्च पाउडर और करीब दो चुटकी आरेगेनो डालें। आरेगेनो बहुत आसानी से बाजार में मिल जाता है। अगर यह न हो तो इसकी जगह सांभर मसाले का उपयोग करें। यह बच्चों को बहुत भाता है। इसका मिश्रण बना कर अलग रख लें।

अब सूजी का जो मिश्रण तैयार किया था वह हल्का गरम रह गया होगा। उसे हथेली से मसलते हुए नरम और मुलायम कर लें, ताकि जब आप उसकी गोलियां बनाएं तो फटे नहीं। फिर इस मिश्रण में से मनचाहे आकार में लोइयां लें और उन्हें चपटा करते हुए उसमें थोड़ा-थोड़ा आलू-पनीर-चीज का मिश्रण भरें और फिर गोलियां बना लें। अब स्टीमर या फिर किसी ऐसे भगोने में पानी गरम करें जिसमें इन गोलियों को भाप में पकाया जा सके। अगर भगोने में पका रहे हैं, तो उसके तले में एक कटोरी या कोई ऐसी चीज रखें, जो पानी के तल से ऊपर तक आ जाए।

फिर एक स्टील की थाली या प्लेट में हल्का तेल चुपड़ कर सारी गोलियों को रख दें और ऊपर से ढक्कन लगा दें। सरसों का तेल कभी न चुपड़ें, नहीं तो उसकी गंध बच्चों को पसंद नहीं आएगी। मध्यम आंच पर दस से पंद्रह मिनट तक इन गोलियों को पकने दें। फिर इन्हें निकाल कर थोड़ा ठंडा हो जाने दें। अब इसे और चटपटा बनाने के लिए तैयारी कर लें। कड़ाही में एक से डेढ़ चम्मच तेल गरम करें।

उसमें राई और जीरे का तड़का दें, कुटी अदरक और कुछ कढ़ी पत्ते डाल कर पकाएं। फिर चार-पांच चम्मच टोमैटो कैचप डाल कर चलाते हुए दो-तीन मिनट पकाएं। अब ऊपर से आधा चम्मच कुटी काली मिर्च पाउडर और साथ ही सूजी की गोलियों को डाल कर अच्छी तरह मिला लें, ताकि सारा तड़का उन पर अच्छी तरह चिपक जाए। गरमा-गरम परोसें।

मूंगफली वाली तोरई
बच्चे अकसर हरी सब्जियां खाने से बचते हैं। तोरई तो देखते ही बच्चे नाक-भौं सिकोड़ना शुरू कर देते हैं। पर इसे कुछ नए ढंग से बनाएं, तो वे इसे बार-बार खाना पसंद करेंगे। यह सब्जी बनाने के लिए नरम और ताजा तोरई लें। उसे अच्छी तरह धोकर छिलका उतारें या खुरच कर अलग करें। तोरई को दो या तीन हिस्सों में काट कर बीच से चीर लें। यानी टुकड़े लंबे ही रखें। अब इसमें डालने के लिए मसाले तैयार करें।

मुट्ठी भर सिंकी हुई बिना छिलके वाली मूंगफली लें। एक मध्यम आकार के प्याज को चार-छह टुकड़ों में काट लें। चार-छह लहसुन की कलियां और एक इंच के करीब अदरक लें और थोड़ा पानी डाल कर इन सारी चीजों को ग्राइंड करके पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को कटी हुई तोरई में डालें। ऊपर से चौथाई चम्मच हल्दी, इतनी ही कुटी लाल मिर्च और नमक डालें और सारी चीजों को अच्छी तरह मिला कर ढंक कर पंद्रह-बीस मिनट के लिए रख दें। इसके बाद एक और मध्यम आकार का प्याज लें और उसे बारीक काट लें।

दो मध्यम आकार के टमाटर भी बारीक काटें। दो-तीन हरी मिर्च भी तड़के में डालने के लिए काटें। अब एक कुकर में दो-तीन चम्मच तेल गरम करें। उसमें जीरा, सौंफ और अजवाइन का तड़का दें। एक चुटकी हींग भी डालें और फिर कटी हरी मिर्च डाल कर दो मिनट के लिए भूनें। फिर पहले प्याज और फिर टमाटर डाल कर धीमी आंच पर गलने तक पकाएं। फिर इसमें एक चम्मच सब्जी मसाला, एक चम्मच धनिया पाउडर, चौथाई चम्मच हल्दी और आधा चम्मच सांभर मसाला डाल कर अच्छी तरह चलाते हुए पकाएं।

जब प्याज-टमाटर तेल छोड़ने लगें, तो उसमें तोरई डालें और चलाते हुए थोड़ी देर पकाएं। जब तोरई पानी छोड़ने लगे, तो उसमें तोरई के मसाले वाले बर्तन में थोड़ा-सा पानी लेकर डाल दें। फिर कुकर पर ढक्कन लगा दें और मध्यम आंच पर पांच से सात मिनट के लिए पकने दें। जब भाप खत्म हो जाए तो ढक्कन खोलें और फिर ऊपर से आधा चम्मच गरम मसाला डालें और अच्छी तरह मिला लें। इसे रोटी, चावल या परांठे के साथ परोसें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सेहत: घर पर काम के दौरान रहे ध्यान आंखों को भी चाहिए आराम
2 शख्सियत: भारतीयता का अक्षर पुरुष बंकिम चंद्र चटर्जी
3 शख्सियत: कला का समास-पुरुष जगदीश स्वामीनाथन