बनाएं वही जो बच्चे खाएं

कभी-कभी कुछ ऐसा खाने का मन करता है, जो बाजार की तरह चपटपट लगे और आसानी से बन जाए। आज जानें ऐसे ही दो नए व्यंजन के बारे में

Jansatta Cuisine
मोमोज और पालक काठी रोटी।

मानस मनोहर

खानेपीने के मामले में बच्चे बहुत नखरीले होते हैं। खासकर सब्जियों के मामले में तो उनकी पसंद समझना मुश्किल है। वही सब्जियां अगर बाजार की बनी चीजों में डली हों तो खा लेंगे, पर घर में नहीं खाएंगे। तो क्यों न घर में ही कुछ ऐसा बनाएं, जो उन्हें बाजार जैसा भी लगे और सब्जियों से मिलने वाले पोषक तत्त्व भी उन्हें मिल सकें।

मजेदार मोमो
मोमो यानी एक तरह का भाप में पका हुआ समोसा। फर्क यह है कि समोसे में आमतौर पर आलू डाला जाता है और मोमो में सब्जियां। इसके अलावा इसके साथ परोसी जाने वाली लाल मिर्च की चटनी कुछ अधिक आकर्षण पैदा करती है। तो क्यों न घर पर मोमो बनाएं। इसे बनाना कोई खास कलाकारी का काम नहीं है। बस इसका भरावन तैयार करना समझ जाएं, तो झटपट कभी भी बना सकते हैं।

सबसे पहले मोमो के भरावन की बात। आमतौर पर इसमें पत्तागोभी का इस्तेमाल होता है, मगर हम इसमें उसका इस्तेमाल बिल्कुल नहीं करेंगे। इसका भरावन तैयार करने के लिए एक गाजर, कुछ बीन्स, लाल और हरी शिमला मिर्च, एक हरा प्याज और छोटी-सी ब्रोकली लें। इन सबको अच्छी तरह धोकर साफ करने के बाद बहुत बारीक टुकड़ों में काट लें, कद्दूकस भी कर सकते हैं या फिर चॉपर में डाल कर महीन काट सकते हैं।

अब एक कड़ाही में दो-तीन चम्मच तेल गरम करें। उसमें लहसुन और अदरक का पेस्ट और बारीक कटी हरी मिर्च को हल्का भूनें और फिर कटी सब्जियों को डाल कर तेज आंच पर चलाते हुए तीन से चार मिनट तक भूनें। जरूरत भर का नमक, आधा छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर और एक ढक्कन सफेद सिरका यानी वेनेगर डालें और आंच बंद करके सारी चीजों को अच्छी तरह मिला लें। अब सब्जियों को ठंडा होने दें।

अब इसके लिए आटा तैयार करें। बाजार वाले मोमो के लिए मैदे का उपयोग करते हैं, मगर आप आधा मैदा और आधा गेंहू का रोजाना रोटी के लिए इस्तेमाल होने वाला आटा लें। आधा चम्मच नमक डालें और थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए हल्का कड़ा आटा गूंथ लें।

इसमें से छोटी-छोटी लोइयां लेकर पतली रोटी बेलें, उसे दो हिस्सों में काटें और हर हिस्से में सब्जी का भरावन डाल कर चाहें तो मोमो के आकार में बंद करें या फिर गुझिया के सांचे में दबा कर बंद कर लें। इसी तरह सारे मोमो बना कर तैयार कर लें।

अब एक स्टीमर या इडली मेकर में पानी गरम होने रखें। जालीदार ट्रे या किसी अन्य बर्तन में सारे मोमो रख कर भाप में पकने के लिए रख दें। करीब पंद्रह मिनट में मोमो पक कर तैयार हो जाएंगे। उसके बाद आंच बंद कर दें।

स्टीमर का ढक्कन बंद रहने दें। तब तक इसके साथ परोसी जाने वाली चटनी तैयार कर लें। इसके साथ आमतौर पर लाल मिर्च की चटनी और हरा प्याज, लहसुन, अदरक और वेनेगर डाल कर उबले हुए पानी का स्टू परोसा जाता है। लाल मिर्च की चटनी बनाना बेहद आसान है।

इसके लिए आठ-दस लाल मिर्च लें। उन्हें तोड़ या चीर कर उनका बीज निकाल लें। फिर लहसुन और अदरक के साथ उन्हें पानी में मुलायम होने तक उबाल लें। फिर इन्हें निकाल कर थोड़ा नमक डालें और पीस कर चटनी तैयार कर लें। यों धनिया, पुदीना, लहसुन, हरी मिर्च, अदरक और टमाटर की रोजाना इस्तेमाल होने वाली चटनी भी इसके साथ मजेदार लगती है। घर का बना मोमो बच्चों को खिलाइए, खुद खाइए और बाजार के बने नुकसानदेह मोमो के खतरे से बचे रहिए।

पालक काठी रोटी
काठी रोल एक एसा व्यंजन है, जो बच्चों को बहुत पसंद आता है। यों तो रोल कई तरह के होते हैं, पर सबको बनाने का तरीका एक ही है, बस उसमें भरी जाने वाली सामग्री अलग हो जाती है। शाकाहारी और मांसाहारी। सभी में रोटी एक साझा वस्तु है।

काठी रोल रोटी में सब्जियां भर कर बनाया जाता है। बाजार में मिलने वाले ज्यादातर मैदे की पहले से बनी हुई रोटी से बनते हैं। पर आप घर पर बनाएंगे, तो उसमें गेहूं के रोटी वाले आटे का उपयोग करें। इसी रोटी में थोड़ा प्रयोग भी कर लें।

मुट्ठी भर पालक का गुच्छा लें। उसे छांट कर अच्छी तरह तीन-चार बार धो लें और फिर मिक्सर में डाल कर पीस लें। इस पिसे हुए पालक को आटे में डाल कर गूंथ लें। इस तरह जो बच्चे सब्जी के रूप में खाने से नाक-भौं सिकोड़ते हैं, वे नहीं सिकोड़ेंगे और रोल का रंग भी आकर्षक हो जाएगा। पालक के पोषक तत्त्व तो मिलेंगे ही।

अब रोल में भरने के लिए सब्जियां काट कर तैयार करें। इसके लिए गाजर, बीन्स, ब्रोकली, पत्ता गोभी, फूल गोभी, शिमला मिर्च, बेबी कॉर्न और पनीर ले सकते हैं। सब्जियों को अच्छी तरह धोकर लच्छेदार काटें। फिर एक कड़ाही में दो चम्मच खाने का तेल गरम करें। उसमें जीरे का तड़का लगाएं और सारी सब्जियों को एक साथ छौंक दें।

आंच को तेज रखें। अब इसमें जरूरत भर का नमक, कुटी लाल मिर्च और तीन-चार चम्मच चिली टोमैटो सॉस डाल कर अच्छी तरह मिलाएं और फिर आंच बंद कर दें। सब्जियों को देर तक नहीं पकाना है। उनका कचकचापन बरकरार रखना है।

अब तवा गरम करें और उस पर गूंथे हुए आटे में से लोई लेकर पतली और बड़े आकार की रोटी बेलें। रोटी को एक तरफ से सेंकने के बाद पलटें और फिर उस पर पकी सब्जी में से जरूरत भर की सब्जी लेकर बीच में फैलाएं और दूसरी तरफ से रोटी को अच्छी तरह सिंक जाने दें। फिर दो तरफ से हल्का मोड़ें ताकि सब्जी के बाहर गिरने का भय न रहे। फिर बचे हुए हिस्से के एक तरफ से पकड़ कर रोटी में सब्जी को लपेटते हुए रोल बनाएं।

एक टुथपिक को बीच घुसा कर रोटी के खुले हुए हिस्से को बंद करें और गरमागरम खाने के लिए परोसें। यह बच्चे तो क्या बड़ों का भी पौष्टिक नाश्ता है। छुट्टी वाले दिन बना कर कभी-कभार जरूर खाएं।

पढें रविवारी समाचार (Sundaymagazine News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट