ताज़ा खबर
 

दाना-पानीः सेहत और स्वाद का खजाना

आजकल लोग चर्बी बढ़ाने वाले भोजन के बजाय ऐसा कुछ खाना पसंद करते हैं, जो पोषण तो भरपूर दे, पर उसमें मोटापा बढ़ाने या शरीर की ऊर्जा को प्रभावित करने वाले तत्त्व कम हों।

कई लोग रक्त शर्करा यानी डाइबीटीज, कब्ज और कोलेस्ट्रॉल की समस्या से परेशान रहते हैं। ऐसे लोगों को ध्यान में रखते हुए इस बार कुछ औषधीय गुण वाले भोजन बनाते हैं।

मानस मनोहर

आजकल लोग चर्बी बढ़ाने वाले भोजन के बजाय ऐसा कुछ खाना पसंद करते हैं, जो पोषण तो भरपूर दे, पर उसमें मोटापा बढ़ाने या शरीर की ऊर्जा को प्रभावित करने वाले तत्त्व कम हों। उनमें औषधीय गुण भी हों। कई लोग रक्त शर्करा यानी डाइबीटीज, कब्ज और कोलेस्ट्रॉल की समस्या से परेशान रहते हैं। ऐसे लोगों को ध्यान में रखते हुए इस बार कुछ औषधीय गुण वाले भोजन बनाते हैं।

पापड़-मेथी दाना

मेथी दाने के औषधीय गुणों से सभी वाकिफ हैं। खासकर डाइबीटीज वाले लोगों के लिए यह बहुत गुणकारी माना जाता है। इसके अलावा कब्ज और कोलेस्ट्रॉल की समस्या को भी दूर करता है। मगर मेथी दाना चूंकि खाने में कड़वा होता है, इसलिए इसे आम भोजन की तरह खाना संभव नहीं हो पाता। इसलिए इसकी सब्जी बनाएं और खाएं, स्वाद का स्वाद और दवा की दवा होगी। पापड़ के साथ मेथी दाने की सब्जी राजस्थान में बहुत प्रचलित है। इसे पूड़ी या फिर रोटी, परांठे, चावल-दाल किसी के भी साथ खाया जाता है।

विधि

पापड़ मेथी दाने की सब्जी बनाना बहुत आसान है। इसके लिए सबसे पहले मेथी दाने को रात भर पानी में भिगो दें। अगर चाहें तो सुबह पानी निथार कर मेथी दाने को एक पतले कपड़े में लपेट कर दिन भर के लिए रख दें, उसमें अंकुर निकल आएंगे। अंकुरित दाने और फायदेमंद हो जाते हैं। अगर अंकुरित न भी करना चाहें, तो इसकी सब्जी अच्छी बनेगी। एक कड़ाही में एक चम्मच देसी घी या सरसों तेल गरम करें। उसमें जीरा, साबुत सूखी मिर्च और हींग का तड़का लगाएं। तड़का लगाते समय हमेशा हींग को सबसे बाद में डालना चाहिए।

फिर उसमें भिगोए हुए मेथी दाने डालें और ऊपर से थोड़ा नमक, हल्दी, धनिया पाउडर और थोड़ा-सा गुड़ डालें और दानों के डूबने भर का पानी डाल कर पकने के लिए ढंक दें। अगर कड़ाही में नहीं बनाना चाहते तो कुकर में भी मेथी दाने को छौंक सकते हैं। कुकर में पानी कम डालने की जरूरत पड़ती है। जब सब्जी का पानी उबल कर आधा रह जाए तो उसमें कुछ कच्चे पापड़ के छोटे-छोटे टुकड़े करके डाल दें और थोड़ी देर और पकाएं। मेथी दाने में पापड़ मूंग दाल के लें, तो अच्छा रहता है। जिन लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है उन्हें उड़द दाल के पापड़ या कोई भी चीज खाने से परहेज करना चाहिए। यह गैस बनाती है। अगर आपने कुकर में मेथी दाना पकाया है, तो दो सीटी आने के बाद भाप को सांत होने दें और फिर ढक्कन खोेल कर उसमें पापड़ के टुकड़े डालें और ढक्कन खुला रख कर सब्जी को गाढ़ा होने तक पकने दें। सब्जी पक कर गाढ़ी हो जाए तो आंच बंद कर दें। पापड़ और मेथी दाने की सब्जी तैयार है।

अंकुरित-ब्राउन राइस पुलाव

ब्राउन राइस यानी बादामी रंग का चावल सेहत के लिए बहुत गुणकारी माना जाता है। खासकर जिन लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है, कोलेस्ट्राल का स्तर बढ़ा हुआ है, उनके लिए सफेद चावल के बजाय ब्राउन राइस खाना ज्यादा फायदेमंद रहता है। चूंकि ब्राउन राइस खाने में सफेद बासमती चावल की तरह मुलायम और स्वादिष्ट नहीं होता, इसलिए बहुत सारे लोगों को पसंद नहीं आता। मगर जो लोग सेहत को लेकर सचेष्ट हैं, अगर वे खाना चाहें, तो ब्राउन राइस को चटपटा और अधिक फायदेमंद रूप में खा सकते हैं। इसमें अंकुरित दालों के साथ ब्राउन राइस का पुलाव सबसे उपयुक्त व्यंजन होता है। इसे किसी बी वक्त भोजन के रूप में खाया जा सकता है।

विधि

ब्राउन राइस को पकाने में सामान्य चावल की अपेक्षा अधिक समय लगता है। इसलिए जब भी ब्राउन राइस पकाना हो, उसे आधा से एक घंटे पहले भिगो कर रख देना चाहिए। फिर कुकर में सामान्य चावल से करीब डेढ़ गुना अधिक पानी डालें और दो से तीन सीटी आने तक पका लें।

अब अंकुरित मूंग या चने लें। उन्हें उबलते पानी में नमक और हल्दी पाउडर डाल कर नरम होने तक पका लें। पानी निथार कर अंकुरित दालों को ठंडा होने दें। इसके साथ ही थोड़ी-सी पत्ता गोभी और कुछ हरे प्याज की पत्तियां भी काट कर रख लें। हरी मिर्च और धनिया की पत्तियां सजाने के लिए रखें। एक कड़ाही में एक चम्मच घी गरम करें। उसमें जीरे का तड़का लगाएं और उसमें पहले हरी सब्जियों को डाल कर चलाते हुए हल्का भून लें। फिर अंकुरित दालें डालें और उसे भी चलाते हुए हल्की आंच पर तीन से पांच मिनट तक पकाएं।

अब इसमें नमक, थोड़ा-सा सब्जी मसाला, आधा चम्मच लाल मिर्च पाउडर डाल कर मिलाएं और फिर उबले हुए ब्राउन राइस डालें और आंच को धीमी रखते हुए सब्जियों के साथ चावलों को ठीक से मिला लें और कड़ाही पर ढक्कन लगा दें। पांच से सात मिनट तक पकने दें। फिर आंच बंद कर दें। जब भाप उठनी बंद हो जाए तो ऊपर से कटी हुई हरी मिर्चें और धनिया पत्ता डाल कर एक बार फिर पुलाव को ठीक से चलाते हुए सारी चीजों को ठीक से मिला लें। स्वादिष्ट, सेहतमंद ब्राउन राइस पुलाव तैयार है। इसे दोपहर के भोजन के रूप में खाएं, हल्का और स्फूर्ति से भरपूर रखेगा।

Next Stories
1 शख्सियतः एमएस सुब्बुलक्ष्मी
2 आधी दुनियाः सुंदरता और उत्पीड़न
3 प्रसंगः आधुनिक चेतना का विकास और भारतेंदु
ये पढ़ा क्या?
X