रविवारी

दाना-पानी: मसालों की महक

अगर मसालों का सही अनुपात में और सही तरीके से उचित मौसम में व्यवहार किया जाए, तो इनके गुण बहुत हैं। इस बार बात...

शख्सियत: राजेंद्र प्रसाद

भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में उनका पदार्पण वकील के रूप में अपने करिअर की शुरुआत करते ही हो गया था। 1921 में उन्होंने कोलकाता विश्वविद्यालय...

योग दर्शन: त्रिगुणातीत और कर्म फल

प्रकृति के प्रत्येक पदार्थ में ये तीनों गुण या फिर तीनों में से दो गुण या एक गुण अवश्य होता है। जो जीव जिस...

कविताएं: बठरा गया समय

जैसे दीमक खाई लकड़ी का कोई हिस्सा... साबुत होने का भ्रम देता है...डूबे जहाज का कोई भाग, मस्तूल नजर आता है पानी में...जैसे बैक-वाटर...

प्रसंग: गांधी और रवींद्रनाथ

दूसरी तरफ गांधी भी दक्षिण अफ्रीका में फिनिक्स, टॉल्सटॉय जैसे आश्रम तो भारत में साबरमती, सेवाग्राम जैसे आश्रमों की स्थापना कर आश्रमवासी जीवन पद्धति...

कहानी: मटरमाला

पीछे आ रहे वाहन वालों ने तो लड़कों को उनके गले से जंजीर खींचते हुए भी देखा होगा। पर उनकी मदद को कोई नहीं...

आंदोलन में रोटी

नब्बे हजार से ज्यादा भारतीय सैनिकों ने भी एक गांव से दूसरे गांव में रोटियां भिजवाई थीं। 5 मार्च, 1857 तक यह चपाती अवध...

रोटी एक रूप अनेक

गुजरात में रोटियों से बना चिवड़ा और महाराष्ट्र में रोटी लड्डू भी काफी पसंद किया जाता है। मुहर्रम के दिनों में रोटी से चोंगे...

किस्सा रोटी का

रोटी का इतिहास काफी उलझा हुआ है। ये साक्ष्य बड़ी मुश्किल से मिलते हैं कि पहली बार रोटी का इस्तेमाल कहां हुआ और यह...

परिसर का परिवेश

गांधीजी द्वारा लगाया गया बुनियादी शिक्षा का बिरवा न सिर्फ गमलों तक सीमित रहा, बल्कि सुखा दिया गया। क्या युवा स्वप्न को पूरा करने...

किताबें मिलीं: प्रवास में आसपास

उनके पात्र आसपास की रोजमर्रा की जिंदगी से संबंध रखते हैं और कथानक का ताना-बाना बुनते समय उसे स्वयं जीते हैं। वे निरे अपने...

श्रेष्ठ नीति या श्रेष्ठ शिक्षा!

नई शिक्षा नीति का प्रारूप जारी हो गया है। इस पर लोगों के अलग-अलग सुझाव हैं। हालांकि यह कोई पहला मौका नहीं है, जब...

कविता: गोलू मोलू बबलू डबलू

पिघल गया दिल आंटी का पर बोलीं यूं मत खेल... पढ़ो लिखो मन से वर्ना सब हो जाओगे फेल।

कहानी: वह मुस्कुरा उठा

विशाल उसे डांटने लगा तो मम्मी ने टोकते हुए कहा, ‘मैं इसे जोड़ दूंगी। अब लड़ना बंद करो।’

पहनावे का नया अंदाज

लगभग हम सभी की मम्मियां 50 से 60 के दशक की होंगी। बहुतेरियों से बात करने पर मालूम हुआ कि उनके जमाने में सलवार-सूट...

दूर करें पसीने की बदबू

सर्दी का पसीना दिखाई नहीं देता या दिखाई भी देता है तो कभी-कभी। लेकिन इसकी दुर्गंध आती है। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे...

दाना-पानी: सर्दी में कुछ तीखा-चटपटा

चिली पोटैटो और गोभी का सूखा मंचूुरियन ऐसे ही कुछ तीखे और चटपटे व्यंजन हैं, जो घर पर बहुत आसानी से और झटपट बनाए...

शख्सियत: जगदीश चंद्र बसु

स्कूली शिक्षा के बाद जगदीश कलकत्ता चले आए और यहां उन्होंने सेंट जेवियर स्कूल में दाखिला लिया। यहां से उन्होंने भौतिक विज्ञान की पढ़ाई...

जस्‍ट नाउ
X